Breaking News

मंदसौर में निर्माणाधीन ओव्हरब्रीज के प्रति उदासीन हैं जिम्मेदार, निर्माण कार्य के दौरान बिना रोक टोक निकल रहें है वाहन चालक

मामला – वाराणसी में हुए हादसे का

मंदसौर। मंगलवार को हुए वाराणसी के दर्दनाक हादसे के बाद मंदसौर के भी जिम्मेदारों को जागने की जरूरत है। नगर में भी सीतामऊ फाटक पर ओव्हर ब्रीज का निर्माण कार्य चल रहा है। जहॉ पर वाहनों का आना जाना चालू है और कभी भी कोई हादसा घटित सकता है। वाराणसी में हुआ हादसा भी वाहनों के आने जाने पर रोक नहीं लगाने की वजह से इतना गंभीर हो गया। यदि निर्माणाधीन ब्रीज के आस पास वाहनों की आवा जावी बंद होती तो निश्चित रूप से हादसा इतना भयावह नहीं होता और कई लोगों की जान बच जाती। नगर में भी विगत् दो वर्षो से सीतामऊ फाटक पर ओव्हरब्रीज के निर्माण का कार्य रतलाम जाने वाले मार्ग और सीतामऊ जाने वाले मार्ग दोनों पर चल रहा है। लेकिन जिम्मेदारों द्वारा यहॉ सख्ती से यातायात को बंद नहीं किया गया है। जबकि मार्ग को बंद करने के निर्देश पूर्व में निकाले जा चुके है।

पहले भी हो चुका है हादसा
निर्माणाधीन ओव्हरब्रीज के यहॉ लगभग 6 माह पूर्व एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया। जब एक लोहे का बड़ा पाइप जो निर्माण में उपयोग किया जा रहा था संतुलन बिगड़ने से एक बस से टकराकर एक व्यक्ति के उपर गिर गया था जिससे व्यक्ति की गंभीर रूप से घायल होकर उदयपुर में उपचाररत था।

कलेक्टर के निर्देशों का नहीं हो रहा सख्ती से पालन
निर्माणाधीन ब्रीज को लेकर कलेक्टर ओ पी श्रीवास्तव ने पूर्व में ही आदेश निकाल दिया था जिसके तहत् रतलाम जाने वाले वाहनों को कोर्ट मार्ग से होकर पशुपतिनाथ मंदिर पुलिया से चन्दपुरा होते हुए निकलना था और रतलाम की ओर से मंदसौर के अंदर आने वाले वाहनों को बायपास होते हुए कृषि उपज मंडी वाले मार्ग से अंदर प्रवेश के निर्देश दिए गए थे उसी तरह सीतामऊ की ओर आने जाने वाले वाहनों के लिए मुक्तिधाम के आगे नया मार्ग बनाया गया है। लेकिन निर्देशों का सख्ती से पालन नहीं होने की वजह से ओर निर्माणाधीन ब्रीज का मार्ग चालू होने ़़से वाहनों की आवाजावी इस मार्ग से हो रही है। जिससे जल्द सख्ती से बंद नहीं किया गया तो कभी भी बड़ा हादसा घटित हो सकता है।

सीतामाउ रोड़ के बायपास में भी है त्रुटि
निर्माणाधीन ओव्हरब्रीज के कारण मुक्तिधाम से लेकर लाभमुनि चिकित्सालय तक एक नवीन बायपास बनाया गया है। जिसमें भी अनेक त्रुटियॉ होने के कारण हादसों की संभावना बनी रहती है। हाल ही में मुक्तिधाम के सामने बायपास के टर्न पर 45 टन वजनी कैप्सूल ट्रक पलट गया था। जिसके कारण छोटी पुलिया पर दो दिन तक यातयात बाधित रहा। वहीं विगत् रविवार को भी इसी मार्ग पर मानकों के अनुसार स्पीड ब्रेकर नहीं बने होने से दो मोटर साइकिलंें आपस में भीड़ गई थी जिसमें एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया था।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts