Breaking News

मंदसौर में 4 घंटे में डेढ़ इंच बारिश, फसलों को राहत

शहर में शुक्रवार सुबह 11.30 बजे से दोपहर 3.30 बजे तक शहर में तेज बारिश हुई। निचले क्षेत्रों में सड़कों पर पानी भर गया। इस दौरान डेढ़ इंच से अधिक बारिश दर्ज की गई। जिले में चौबीस घंटे में सबसे ज्यादा 2.3 इंच बारिश सुवासरा और 2.2 इंच बारिश गरोठ में हुई। हालांकि जिलेभर में भादौ की बारिश से खरीफ फसल को बड़ी राहत मिली है।

बादलों की आवाजाही के बीच शुक्रवार को मंदसौर में तेज बारिश ने शहर को तरबतर किया। दोपहर 11.30 बजे छाए बादल ने बरसकर अच्छी बारिश की उम्मीद को पूरा कर दिया। रामघाट प्लांट प्रभारी आलम हुसैन ने बताया कि शहर में 32 मिमी यानी डेढ़ इंच के करीब बारिश दर्ज की गई। तेज बारिश होने से नालियों में उफान आया तो चौराहाें पर जलजमाव की स्थिति बनी। गांधी चौराहा, नेहरू बस स्टैंड, भारतमाता चौराहा, कैलाश मार्ग, शुक्ला चौक, नयापुरा, संजीत रोड, रामटेकरी सहित कई क्षेत्रों में सड़कों पर पानी जमा हो गया। शाम 4 बजे बाद कभी रिमझिम तो कभी धीमी बारिश का दौरा शुरू हुआ तो शाम तक चला।

औसत बारिश के लिए अभी भी 11 इंच बारिश की जरूरत

जिले में अब तक 22.5 इंच बारिश होने के बाद भी औसत बारिश के लिए लंबा रास्ता पार करना है। जिले में औसत बारिश 33.5 इंच होती है। इसके लिए अभी 11 इंच बारिश की और जरूरत है। पिछले साल 34 इंच से ज्यादा बारिश जिले में हो चुकी थी। पिछले साल की तुलना में जिले में अब तक जिला 11.5 इंच तक पिछड़ा हुआ है।

शुक्रवार दोपहर मंदसौर के बीपीएल चौराहे पर तेज बारिश के दौरान निकलते वाहन।

मौसम वैज्ञानिक डॉ. एस.एन. मिश्रा ने बताया कि मंदसौर सहित मालवा अंचल में बादल एक बार फिर सक्रिय हो गए हैं। करीब 20 दिन की गेप के बाद 20 अगस्त से लोकल दबाव का क्षेत्र बनाने वाले बादल अब मालवा में सक्रिय हैं। अगले पूरे सप्ताह बारिश का दौर बना रहेगा। ऐसे में उम्मीद है कि तेज बारिश होने से लंबे अंतराल से हुई गेप के औसत की पूर्ति हो जाएगी।

तेजी से ग्रोथ- कृषि उपसंचालक अजीतसिंह राठौर ने बताया बारिश सोयाबीन की जड़ों को पर्याप्त नमी मिलने से ग्राेथ तेजी से होगी। तपन से फसल प्रभावित होने वाली आशंका खत्म हो गई है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts