Breaking News

मंदसौर : 30 जून तक चलेगा “रोजगार की पढ़ाई-चलें आईटीआई” अभियान का हुआ शुभारंभ

मध्यप्रदेश के सभी 51 जिलों में 11 मई से “रोजगार की पढ़ाई-चलें आईटीआई” अभियान का शुभारम्भ हुआ। यह अभियान 30 जून तक चलेगा। इस अभियान में सामाजिक संस्थाओं को जोडकऱ प्रधानमंत्री कौशल विकास केन्द्र के बच्चों को भी शामिल किया जायेगा। यह अभियान स्कूल में पढ़ रहे/ड्राप आउट विद्यार्थियों को क्राफ्ट्समेन ट्रेनिंग स्कीम, प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना, प्रस्तावित मुख्यमंत्री कौशल संवर्धन योजना एवं कौशल्या योजना से लाभांवित करने के लिये चलाया जा रहा है। अभियान में विद्यार्थियों को आईटीआई में प्रवेश करने के लिये प्रेरित किया जायेगा। अभियान में 11 से 26 मई तक 9वीं एवं 10वीं के बच्चों के लिये आईटीआई में 3 दिन का ग्रीष्मकालीन कैम्प किया जायेगा। कैम्प में प्रदेशस्तरीय उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थियों का 30 मई को भोपाल में सम्मान किया जायेगा। एक से 15 जून तक स्कूल में पढ़ रहे और ड्राप आउट विद्यार्थियों का जिला मुख्यालय की आईटीआई में भ्रमण कराया जायेगा। इसके बाद 15 से 30 जून तक अभियान का विद्यालयों में प्रचार-प्रसार किया जायेगा। कैम्प में आईटीआई के बाद स्वरोजगार स्थापित करने वाले युवाओं का लेक्चर जरूर रखेंगे। अभियान के लिये जिलास्तरीय आईटीआई के नोडल प्राचार्य एवं जिला शिक्षा अधिकारी को मुख्य समन्वयक का दायित्व सौंपा गया है।

नयाखेडा बायपास स्थित नवीन आईटीआई भवन मन्दसौर में हुआ अभियान का विधिवत शुभारम्भ

“रोजगार की पढ़ाई-चलें आईटीआई” अभियान का शुभारम्भ 11 मई को मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान एवं केन्द्रीय कौशल विकास राज्यमंत्री श्री राजीव प्रताप सिंह रूढी एवं प्रदेश के तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास (स्वतंत्र प्रभार), स्कूल शिक्षा एवं श्रम राज्यमंत्री श्री दीपक जोशी द्वारा भोपाल जिले की गोविन्दपुरा आईटीआई में आयोजित एक भव्य समारोह में किया गया। इसी कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा मुख्यमंत्री कौशल संवर्धन योजना एवं मुख्यमंत्री कौशल्या योजना का शुभारंभ भी किया गया। मुख्यमंत्री कौशल संवर्धन योजना एवं मुख्यमत्री कौशल्या योजना में 15 वर्ष से अधिक उम्र का कोई भी पुरूष/महिला भाग ले सकेगा। यह 15 दिवस से लेकर 9 महीने तक का प्रशिक्षण कार्यक्रम रहेगा। जिसको उत्तीर्ण करने पर प्रशिक्षणार्थी को राष्ट्रीय मानकों पर आधारित एक प्रशिक्षण प्रमाण पत्र दिया जायेगा। यह प्रशिक्षण निशुल्क होगा। साथ ही प्रशिक्षण सफलतापूर्वक पूर्ण करने पर प्रशिक्षणार्थी को रोजगार व स्वरोजगार भी उपलब्ध कराया जायेगा।
मंदसौर जिला मुख्यालय पर निपानिया मेघराज, नयाखेडा बायपास स्थित नवीन आईटीआई भवन मन्दसौर में मंदसौर-नीमच-जावरा संसदीय क्षेत्र के लोकसभा सांसद श्री सुधीर गुप्ता, जिला पंचायत अध्यक्षा श्रीमती प्रियंका डॉ. मुकेश गिरी गोस्वामी, मंदसौर विधायक श्री यशपालसिंह सिसौदिया, कलेक्टर श्री स्वतंत्रकुमार सिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री ए.पी.सिंह, अन्य जनप्रतिनिधियों एवं जिलाधिकारियों की मौजूदगी में इस अभियान इस अभियान का शुभारम्भ किया गया। इस मौके पर बडी संख्या में नगर के हाईस्कूल और हायर सेकण्डरी स्कूल के 10वीं और 1वीं उत्तीर्ण विद्यार्थी व महिलाएं मौजूद थीं।
कार्यक्रम को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित करते हुए लोकसभा सांसद श्री गुप्ता ने कहा कि हमारा देश अब बदल रहा है। रोजगारोन्मुखी शिक्षा और कुशल मानव संसाधन आज की महती जरूरत है। कौशल विकास से हमारी उद्यमशीलता को एक नई दिशा मिलती है। उन्होने जिले के युवाओं से आव्हान किया कि वे किसी भी एक कला में हुनरमंद बनें, स्वयं का रोजगार स्थापित करें और दूसरों को भी रोजगार दें। श्री गुप्ता ने भारत सरकार द्वारा चलाये जा रहे स्किल इंडिया स्कीम का जिक्र करते हुए जिले के युवाओं से स्वयं को कुशल और प्रशिक्षित बन कर अपने सपनों को साकार करने की हिदायत दी। उन्होने कहा कि केन्द्र व राज्य सरकार उनके सपनों को साकार करने में मददगार बनेगी।
जिला पंचायत अध्यक्षा श्रीमती गोस्वामी ने कहा कि हमें अपनी उद्यमशीलता को संवारने और निखारने की जरूरत है। राज्य सरकार ने आईटीआई में प्रवेश के लिये आयु का बंधन लगभग समाप्त कर दिया है। अब 10वीं पास कोई भी युवा या युवती आईटीआई में अपने मनपसन्द ट्रेड में प्रवेश के लिए ऑनलाईन आवेदन कर सकता है। उन्होंने कहा कि युवा आईटीआई में प्रशिक्षण और प्रमाण पत्र लेकर राष्ट्रीय और अर्न्तराष्ट्रीय कम्पनियों में रोजगार पायें।
मंदसौर विधायक श्री सिसौदिया ने इस मौके पर कहा कि मध्यप्रदेश सरकार प्रदेश की प्रतिभाओं को निखारने और उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिये समर्पित प्रयास कर रही है। हमें अपने कौशल को और अधिक विकसित कर नई तकनीकों को बेहतर तरीके से फैक्टरी और फील्ड में क्रियान्वित करना सीखना होगा। हमारी सरकार बडे, मध्यम व छोटे उद्यमों के साथ-साथ लघु व कुटीर उद्योगों के विकास और उन्हें स्थायी स्वरूप देने के लिये कृतसंकल्पित है। हमें अपने उपलब्ध सीमित संसाधनों का अधिकतम उपयोग कर स्वरोजगार से जुडना चाहिये। उन्होंने आशा व्यक्त की कि 11 मई से प्रारंभ हुई मुख्यमंत्री कौशल संवर्धन योजना एवं मुख्यमत्री कौशल्या योजना प्रदेश की आर्थिक समृद्वि में मील का पत्थर साबित होंगी।
कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि “रोजगार की पढ़ाई-चलें आईटीआई” और मुख्यमंत्री कौशल संवर्धन योजना एवं मुख्यमत्री कौशल्या योजना के तहत जो हितग्राही अपना पंजीयन करायेंगे, उनकी प्रोफाईल नेशनल पोर्टल पर दिखाई देगी। हितग्राही का प्राफाईल देखकर राष्ट्रीय और अर्न्तराष्ट्रीय कम्पनियां अपनी जरूरत के मुताबिक युवाओं को रोजगार देने के लिए सीधे सम्पर्क करेंगीं। उन्होंने बताया कि मंदसौर जिले के बेरोजगार युवाओं को रोजगार देने के लिए चार उद्योगों से एमओयू हो चुका है। हम ऐसे उद्योगों की संख्या 40 तक पहुंचाना चाहतें हैं, जो मंदसौर जिले के बेरोजगार युवाओं को रोजगार दे सके।
कार्यक्रम के प्रारम्भ में आईटीआई के प्राचार्य श्री आर के श्रीवास्तव, उप प्राचार्य श्री पीटर एवं व्याख्यामा श्री मुकेश मौर्य द्वारा “रोजगार की पढ़ाई-चलें आईटीआई” अभियान और 11 मई से प्रारंभ हुई मुख्यमंत्री कौशल संवर्धन योजना एवं मुख्यमत्री कौशल्या योजना की विस्तार से जानकारी दी गई। बताया गया कि इस अभियान में प्रथम चरण में ग्रीष्म कालीन तीन दिवसीय कैंप लगाये जायेंगे, जिसमे, आठवी से बारहवी तक के छात्र/छात्राएं सम्मिलित हो पायेंगे। उन्हे इलेक्ट्रिक डोमेस्टिक एवं इनफोरमेशन टेक्नोलॉजी से संबंधित बेसिक जानकारी दी जायेगी। दूसरे चरण में समर कैम्प मे सम्मिलित उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले छात्र/छात्राओं को प्रदेश स्तर पर सम्मानित किया जायेगा। तीसरे चरण में स्कूल में प्रवेशित छात्र/छात्राओं को आईटीआई का भ्रमण कराया जायेगा तथा अभियान के चौथे एवं अंतिम चरण में आईटीआई के अधिकारियों द्वारा जिले की सभी शालाओं में भ्रमण कर आईटीआई में संचालित पाठ्यक्रमों व ट्रेड्स से संबंधित जानकारियां दी जायेंगी। कार्यक्रम का संचालन व आभार प्रभारी जिला योजना अधिकारी डॉ. जेके जैन ने किया।
कार्यक्रम के दौरान भोपाल में हो रहे राज्यस्तरीय कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा दिये गये संबोधन का दो बडी प्लाज्मा टीवी के जरिये सीधा प्रसारण दिखाया गया। कार्यक्रम में मौजूदजनों द्वारा सीएम संबोधन का श्रवण किया गया।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts