Breaking News

मकान मालिक ने किरायेदार को दिखाई आंख तो किरायेदार पहुंचा थाने पर

सागर मार्केट में कन्हैयालाल पिता लक्ष्मणदास लधानी की मनपंसद शूज कलेक्शन, आशा पति स्व. निर्मल माली की विकास वैरायटी एवं गणेश पिता सत्यपाल वर्मा की नमस्ते जी होटल है, विगत दो वर्षो से प्रताडि़त होते उक्त किरायेदारों ने बताया कि पिछले २५ – ३० वर्षो से किराये की दुकान लेकर वे शांतिपूर्वक व्यापार व्यवसाय कर रहे है प्रतिमाह विधि सम्वत् किराया भी अदा किया जा रहा है लेकिन मकान मालिक ने इस मार्केट का विद्युत कनेक्शन विच्छेद करवा दिया, पानी की सपलाई बंद कर दी, स्नान गृह और शौचालय में भी ताले लगावा दिये। शूज व्यवसाई के एक शटर पर अलमारी और दूसरे असबाब रख दिये, इसी तरह निर्मल गिफ्ट को विडो आशा माली की दुकान के आगे मार्ग अवरूद्ध कर देते है, शनिवार को मार्केट में जबरन रेत आदि उतवाकर कर दुकानदारों को टार्चर करने का नया हथकण्डा अपना गया चर्चा करने पर निम्न तरह की भाषा का इस्तेमाल कर झगड़े पर आमदा होता सागर मार्केट का मालिक अपने उंचे रसूख का बखान करते हुए पुलिस भी कुछ नही करेगी की धमकी देने लगा। किरायेदारों ने बताया कि अर्मगल बातों के अलावा अनाप शनाप किराया बढ़ाने की शर्ते रखता है ऐसी हरकतो से हमारा व्यापार – व्यवसाय तो प्रभावित हो ही रहा है हम मानसिक प्रताडऩा का शिकार भी हो रहे है।

– इनका कहना
मेरी दो मुखी दुकान है, जबकि होटल मालिक ने मेंरे एक शटर के पास लकड़ी की अलमारी आदि सामान रख दिया, जिससे मेंरी दुकान का उक्त शटर नहीं खुल पा रहा है, जिससे मेंरी दुकान की इनकम प्रभावित हो रही है। कुछ कहने पर दुकान मालिक अनाप-शनाप किराया बढ़ाने की बात कहते हुए गाली-गलोज करता है।
– कन्हैया लधानी, संचालक मनपंसद

मेरी दुकान के सामने आये दिन फालतु का अटाला सामान मकान मालिक द्वारा रख दिया जाता है, जिससे ग्राहकों को परेशानी पड़ती है, कुछ कहने पर १०-१५ गुना किराया बढ़ाने की बात कहते हुए अप शब्दो का प्रयोग करता है। पहले मार्केट का विद्युत कनेक्शन विच्छेद करवा दिया गया, फिर बाथरूम पर ताले लगा दिये गए।
– आशा पति स्व.निर्मल माली, संचालिका विकास वेरायटी

तमाम ज्यादतियों के बाद शनिवार को किरायेदारों को परेशान करने के लिये मकान मालिक ने मार्केट में रेती डलवा दी, बात करने पर अपनी ऊची पहुंच कि दुहाई देते हुए झगड़े एवं मारपीट आमादा हो गया। मकान मालिक कि ज्यादती व मनमानी के चलते किरायेदारों के साथ कोई बड़ा हादसा हो सकता है।
– गणेश पिता सत्यपाल वर्मा, संचालक होटल नमस्तेजी

आवेदन आये है, मामला जांच में है, इस संबंध में किरायादारों एवं मकान मालिक से बात कर के बयान लिये जावेगे, उसके बाद ही उचित कार्रवाहीं की जावेगी।
– विनोदसिंह कुशवाह, टीआई कोतवाली

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts