Breaking News

मजदूर युवक को डोडाचूरा प्रकरण में फर्जी फंसाने का आरोप

ग्रामीण पहंुचे एसपी कार्यालय, सौंपा ज्ञापन

मंदसौर। नाहरगढ़ पुलिस द्वारा 22 किलो डोडाचूरा प्रकरण में चार युवकों पर दर्ज किए गए मामले में एक निर्दोष मजदूर युवक को फंसाने का आरोप पुलिस पर ग्रामीणों ने लगाया है। शनिवार को प्रदेश कांग्रेस महामंत्री श्यामलाल जोकचन्द्र व महासचिव कमलेश पटेल सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण जिला पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहंुचे व निर्दोष युवक के खिलाफ दर्ज प्रकरण वापस लेने की मांग की साथ ही झंूठी कार्रवाई करने वाले नाहरगढ़ टीआई प्रतीक राय को निलंबित करने की मांग की।

यह था मामला – जानकारी के अनुसार नाहरगढ़ पुलिस ने बिल्लौद गिट्टी मशीन पर 24 अक्टूबर की रात्रि 22 किलो डोडाचूरा बरामद कर दो आरोपियों को गिरफ्तार कर दो को फरार बताने का प्रेस नोट जारी किया था। जिसमें खंडेरिया मारु के कारुदास पिता दशरथ बैरागी को भी आरोपियों बताया था।

कारुदास को ग्रामीणों ने बताया निर्दोष – शनिवार को पुलिस की इस कार्रवाई को गलत बताते हुए ग्रामीणजन प्रदेश कांग्रेस महामंत्री जोकचन्द्र व महासचिव पटेल के साथ जिला पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहंुचे, यहां अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनकामनाप्रसाद को सौंपे ज्ञापन में बताया कारुदास निर्दोष है, वह तो सड़क दुर्घटना में घायल होने से 10 दिन से घर पर था लेकिन 23 अक्टूबर को गिट्टी मशीन संचालक विनोदसिंह का मोबाइल पर कॉल आया कि काम पर आना पड़ेगा, नही तो मजदूरी पर नही रखंूगा। इस कारण कारुदास मजदूर पर चला गया और रात्रि में ही गिट्टी मशीन से नाहरगढ़ टीआई प्रतीक राय उसे पकड़कर ले गए और दूसरे दिन डोडाचूरा प्रकरण में उसे गिरफ्तार कर लिया।

लकावाग्रस्त है मजदूर की मां रोने लगी – कारुदास पर ही परिवार की जवाबदारी है, मां पुष्पाबाई लकवाग्रस्त है, पिता अन्यत्र है। कारु गिट्टी मशीन पर मजदूर कर परिवार का पालन पोषण के साथ ही लकवाग्रस्त मां का इलाज भी करवा रहा था। शनिवार को एसपी कार्यालय पहंुची मजदूर की मां पुष्पाबाई पुलिस द्वारा की गई इस फर्जी कार्रवाई की व्यथा मीडिया को बताते हुए फफक-फफककर रोने लगी।

24 घंटे बाद की कार्रवाई – उल्लेखनीय है कि उक्त डोडाचूरा नाहरगढ़ पुलिस ने बुधवार रात्रि को ही पकड़ लिया था, लेकिन कार्रवाई को दबाया जा रहा था। गुरुवार को सोशल मीडिया पर डोडाचूरा पकड़ने की खबर वायरल होने के बाद देर रात्रि पुलिस को प्रकरण दर्ज करना पड़ा। इसमें भी मात्र 22 किलो डोडाचूरा में चार आरोपियों को गिरफ्तार करना शंका के घेरे में है।

एएसपी ने कहा कराएंगे जांच – ज्ञापन लेने के बाद एडिशनल एसपी मनकामनाप्रसाद ने आश्वासन दिया सात दिवस में मामले की जांच कराई जाएगी, अगर कोई दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

कार्रवाई सहीरू- नाहरगढ़ टीआई प्रतीक राय का कहना है एनडीपीएस एक्ट के नियमों के तहत कार्रवाई की गई है, जितना डोडाचूरा जब्त हुआ उतनी ही बरामदगी दर्शाई है। पुलिस कभी फर्जी कार्रवाई नही करती।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply