Breaking News

मतगणना के हर राउंड में प्रमाण-पत्र लेगी कांग्रेस

मंदसौर. 11 दिसंबर को होने वाली मतगणना से पहले जहां कांग्रेस ने ईवीएम में गड़बड़ी की आशंका जताते हुए स्ट्रांग रुम के बाहर पहरा लगातार पहरा दिया जा रहा है। तो वहीं अब मतगणना के दौरान भी कांग्रेस वोटों की गिनती में गड़बड़ी न हो। इसके लिए जिले की चारों सीटों का हर राउंड में आयोग से प्रमाण पत्र लेगी। इसमें आने वाले वोटों की गिनती वह स्वयं भी करेगी। इसके पीछे कांग्रेस यह मत दे रही है कि वोटों की गिनती में कोई भूल न हो और हर राउंड की गिनती पर पूरा फोकस करते हुए आयोग से प्रमाण पत्र लिया जाएगा। प्रदेश में पूर्व में हुए उपचुनाव के दौरान कांग्रेस ने जिन सीटों पर यह फॉर्मूला अपनाया वहां कांग्रेस को सफलता मिली थी। इसी को ध्यान में रखते हुए कांग्रेस जिले में भी यह फॉर्मूला अपनाने जा रही है।

मतगणना की तैयारियों अंतिम दौर में
पीजी कॉलेज में 11 दिसबंर को मतगणना होना है। ऐसे में प्रशासनिक अमला यहां की तैयारियों का अंतिम रुप देने में जुटा हुआ है। विधानसभा वार यहां तैयार किए जा रहे कक्षों में टेबल लगाने के साथ ही यहां लोहे के एंगल और जाली लगाकर इसे सुरक्षित किया जा रहा था। एक विधानसभा के लिए 7 कक्ष और इनमें 14 टेबल लगाई जा रही है। इसी के तहत इन कमरों में लोहे के एंगल, जाली और टेबलें लगाई जा रही है तो इन कमरों के बाहर खुले परिसर में भी जगह रिर्जव रखी जा रही है। मतगणना को लेकर चली रही तैयारियों पर भी अफसर अपनी निगाह बनाए हुए है।

टेंट लगाकर स्ट्रांग रुम पर लगातार दे रहे पहरा
जिले की चारों सीटों की ईवीएम यहां कड़े पहरे और राजपत्रित अधिकारियों की निगरानी में सुरक्षा के लिए रखी गई है। लेकिन फिर भी कांग्रेस द्वारा ईवीएम में गड़बड़ी की आशंका जाहिर करते हुए यहां पहरा दिया जा रहा है। गरोठ, मल्हारगढ़, मंदसौर व सुवासरा से कांग्रेस प्रत्याशियों ने जिला निर्वाचन अधिकारी से स्ट्रांग रुम के बाहर टेंट लगाकर यहां बैठकर ईवीएम पर निगरानी की अनुमति लेकर यहां अपने समर्थको को बिठाया है। जो २९ नवंबर से लगातार २४ घंटे का पहरा दे रहे है।

उपचुनाव में कांग्रेस अपना चुकी है यह प्रयोग
प्रदेश में पूर्व में हुए उपचुनाव के दौरान कांग्रेस इस प्रयोग को अपना चुके है। जहां-जहां कांग्रेस ने मतगणना में इसे अपनाया। वहां कांग्रेस को सफलता मिली। इसी कारण इस बार मतगणन में कांग्रेस इसे जिले में भी अपनाने जा रहे है। मुंगावली, कोलारस व अटेर में हुए उपचुनाव में कांग्रेस ने इस फार्मूले को अपनाया था और यहां जीत मिली थी। कांग्रेस के इस फॉर्मूले को चुनाव अभियान समिति के चेयअरमैन ज्योतिरादित्य सिधिंया का फॉर्मूला बताया जा रहा था।

आयोग को देंगे पत्र
मतगणना में कांग्रेस पूर्व में प्रदेश में हुए उपचुनाव की मतगणना के दौरान किए गए प्रयोग को यहां भी अपनाएगी। इसके लिए निर्वाचन आयोग को पत्र देंगे। जिले की चारों सीटों पर मतगणना के दौरान हर राउंड के परिणाम को लेकर प्रमाण पत्र लिया जाएगा। ईवीएम पर निगरानी के लिए स्ट्रांग रुम के बाहर हमारे चारें प्रत्याशियों के समर्थक अनुमति लेकर पहरा दे रहे है। – प्रकाश रातडिय़ा, जिलाध्यक्ष, कांग्रेस

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts