Breaking News

मध्यप्रदेश विकास यात्रा का शंखनाद

Hello MDS Android App

सतत विकास की नई मिसाल बनेगा हमारा मध्यप्रदेश – मुख्यमंत्री श्री चौहानविकास की रफ्तार किसी भी सूरत में रूकने नहीं देंगे

शामगढ, सुवासरा सिंचाई परियोजना के लिये आठ सौ करोड़ रूपये मंजूर करनें की घोषणा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने भानपुरा नहर परियोजना यूनिट-2 के लोकार्पण सहित करीब पांच सौ करोड़ रूपये की सिंचाई परियोजना का लोकार्पण एवं भूमिपूजन कियाअन्त्योदय मेले के जरिये 17892 हितग्राहियों को 24.17 करोड़ रूपये का हितलाभ वितरित किये

मंदसौर निप्र।  हमारा मध्यप्रदेश अब सतत विकास की नई मिसाल बनेगा। विकास का कांरवा अब नहीं रूकेगा। हमने तय किया हैं कि प्रदेश में विकास की तेज रफ्तार को अब किसी भी सूरत में रूकने नहीं देंगे। म.प्र. में हो रहा विकास अब राष्ट्रीय एवं अन्तराष्ट्रीय स्तर पर जाना, पहचाना और सराहा जा रहा है। पिछले 5 सालों में म.प्र. की विकास दर 20 प्रतिशत से अधिक रहना यह साबित करता हैं कि हमारे प्रदेश का किसान मेहनती है और अपनी मेहनत से अन्नदाता होने की जिम्मेदारी पूरी शिद्वत से निभा रहा है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को मंदसौर जिले के भानपुरा में इस आशय के उद्गार व्यक्त किये। भानपुरा से म.प्र. विकास यात्रा का आगाज करते हुए मुख्यमंत्री ने भानपुरा नहर परियोजना यूनिट-2 के लोकार्पण एवं करीब 500 करोड रूपये की सिंचाई जल परियोजनाओं/जल संरचनाओं का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया। बता दें कि इन पांच सिंचाई जल परियोजनाओं से मंदसौर जिले के 130 गांव के किसानों की 37 हजार 700 हैक्टयर भूमि सिंचित होगी।

इस अवसर पर आयोजित सभा में करीब 50 हजार लोगों को संबोधित करते हुये मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मख्यप्रदेश अब बीमारू राज्य नहीं है। हमारी विकास दर 10 प्रतिशत से उपर है। कृषि विकास दर पिछले 5 सालों से 20 प्रतिशत से अधिक बनी हुई है। पहले प्रदेश के केवल 7.50 लाख हैक्टेयर में ही सिंचाई होती थी। पिछले 10 सालों में हमारी सरकार के समर्पित प्रयासों से सिंचित भूमि का यह रकबा बढकर अब 40 लाख हैक्टेयर तक पहंुच गया है। उन्होंने गरोठ-भानपुरा क्षेत्र के किसानों को बधाई देते हुए कहा कि ऐसा पहली बार हुआ हैं कि अन्दरूनी नहर बनाकर उसमें पाईपलाईन डालकर गांधीसागर का पानी भानपुरा और गरोठ तहसील के हर गांव, हर खेत तक पहंुचाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गांधीसागर बांध बनाने में यहां के किसानों ने अपनी जमीन दी हैं तो गांधीसागर बांध के पानी पर पहला हक भी इन्हीं का है। गांधीसागर का पानी इस क्षेत्र के किसानों की तकदीर बदल देगा। यह क्षेत्र अब बारह माह फसलों से लहलहायेगा।

भावान्तर भुगतान योजना लगातार जारी रहेगी : मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना के बारे में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि यह योजना लगातार जारी रहेगी। इस योजना में यदि किसान की फसल समर्थन मूल्य से कम मूल्य पर बिक रही हो, तो समर्थन मूल्य और मॉडल मूल्य (जो सरकार तय करेगी) के अन्तर की राशि संबंधित किसान के खाते में हस्तांतरित कर दी जायेगी। उन्होंनेे कहा कि सोयाबीन में वर्तमान भावांतर की राशि 470 रू प्रति क्विंटल, उडद में वर्तमान भावांतर की राशि 2400 रू प्रति क्विंटल, मूंगफली में वर्तमान भावांतर की राशि 730 रू प्रति क्विंटल, मूंग में वर्तमान भावांतर की राशि 1455 रू प्रति क्विंटल तथा मक्का में वर्तमान भावांतर की राशि 235 रू प्रति क्विंटल व अन्य अधिसूचित फसलों में समर्थन मूल्य व मॉडल मूल्य के अन्तर की राशि किसानों के खातों में हस्तानांतरित कर देने की बात कही।

 

शामगढ-सुवासरा सिंचाई परियोजना के लिये 800 करोड रूपये मंजूर करने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अपने जनसम्बोधन के दौरान जिले की शामगढ-सुवासरा सिंचाई परियोजना के लिये 800 करोड रूपये मंजूर करने की घोषणा की। इस परियोजना के पूरा होने पर करीब 179 गांवों की करीब 40 हजार हैक्टेयर भूमि को सिंचाई जल की स्थायी सुविधा मिलेगी।मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नीमच जिले के मनासा क्षेत्र के गांवों में भी सिंचाई जल पहंुचाने के लिए सर्वे करने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश में इस वर्ष कम वर्षा की स्थिति के मद्देनजर किसानों को 02 माह के लिये अस्थायी विद्युत कनेक्शन दिये जाने की घोषणा की।

उन्होंने कहा कि प्रदेश मे रहने वाले हर गरीब व्यक्ति को उसके वर्तमान निवास की जमीन का पट्टा दिया जायेगा। सरकार उसे घर बनाकर भी देगी। अगले तीन साल में सरकार प्रदेश के हर गरीब व्यक्ति को पक्का मकान बनाकर देगी।

उन्होंने कहा कि महिलाओं को त्रि-स्तरीय पंचायती राज और अन्य जनप्रतिनिधित्व में 50 प्रतिशत तथा बेटियों को सरकारी नौकरी में 33 प्रतिशत आरक्षण दिया जायेगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में यदि कोई व्यक्ति किसी बेटी के साथ व्यभिचार (लज्जाभंग) करता है तो उसे फांसी की सजा दी जायेगी। हम विधानसभा के अगले ही शीतकालीन सत्र में इस बारे में कानून बनायेंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मंदसौर जिले विशेषकर गरोठ विधानसभा क्षेत्र में जिन सिंचाई परियोजनाओं की मंजूरी की मांग की गई हैं, हम उन सभी का परीक्षण करायेंगे और साध्यता प्रतिवेदन के आधार पर मंजूरी दी जायेगी।

दुधाखेडी माताजी के मंदिर में जनता की मांग के अनुसार सभी प्रकार के नवनिर्माण कार्य कराये जायेंगे।

गरोठ में 100 बिस्तरीय अस्पताल के लिये जरूरत के अनुसार सकारात्मक कदम उठाये जायेंगे।

दलोदा में फूडपार्क की सभी बाधाएं दूर की जायेंगी।

गरोेठ विधानसभा क्षेत्र के 113 टोलों मजरों को राजस्व ग्राम बनाया जायेगा। अगले दो साल में बिजली से वंचित प्रदेश के सभी परिवारों तक हम बिजली पहुंचायेंगे।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मंदसौर-नीमच लोकसभा क्षेत्र के सांसद सुधीर गुप्ता ने मुख्यमंत्री श्री चौहान का मंदसौर संसदीय क्षेत्र से मध्यप्रदेश विकास यात्रा का शुभारम्भ करने के लिये आत्मीय आभार व्यक्त करते हुये कहा कि किसान के बेटे ने किसान की पीडा समझी। चंबल को रेवा से जोडा और खेत-खेत तक पानी पहुंचाया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्रीजी के प्रयासों से मंदसौर जिले को पर्यटन नक्शे में जगह मिली। उन्होंने मुख्यमंत्री से मंदसौर में मसाला बोर्ड का स्थायी कार्यालय स्थापित करने की मांग की। उन्होंने मंदसौर के दलौदा में बनने वाले मेगा फुडपार्क की स्थापना की बाधाएं दूर करने की और मंदसौर में मेडिकल कॉलेज खोलने की भी मांग की।

गरोठ विधायक श्री सिसौदिया ने अपने सम्बोधन में मध्यप्रदेश विकास यात्रा का आगाज गरोठ विधानसभा क्षे़त्र से करने के लिये मुख्यमंत्री श्री चौहान को साधुवाद देते हुये कहा कि भानपुरा नहर सिंचाई जल परियोजना में जो गांव छूट गये हैं, उन्हें भी इस परियोजना से जोडा जाएं। उन्होंने मुख्यमंत्री श्री चौहान से दूधाखेडी माता मंदिर निर्माण के लिये राशि की मांग की। उन्होंने गरोठ विधानसभा क्षेत्र में इंजीनियरिंग कॉलेज खोलने और इस क्षेत्र में अधिकाधिक सडकों के निर्माण के लिये राशि मंजूर करने की मांग भी रखी।

कार्यक्रम में विशेष अतिथि के रूप में लोकसभा सांसद श्री सुधीर गुप्ता, जिला पंचायत अध्यक्षा श्रीमती प्रियंका डॉ. मुकेशगिरी गोस्वामी, मल्हारगढ विधायक श्री जगदीश देवडा, मदंसौर विधायक श्री यशपालसिंह सिसौदिया, मनासा विधायक श्री कैलाश चावला, जावद विधायक श्री ओमप्रकाश सकलेचा, नीमच विधायक श्री दिलीपसिंह परिहार, मध्यप्रदेश कल्याण आयोग के अध्यक्ष श्री ईश्वरलाल पाटीदार, प्रदेश महामंत्री श्री बंशीलाल गुर्जर, भाजपा जिलाध्यक्ष श्री देवीलाल धाकड, जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष श्री मदनलाल राठौर, जिले की सभी जनपद पंचायतों के अध्यक्ष, सभी नगर परिषदों के अध्यक्ष, सभी मंडी समितियों के अध्यक्ष सहित कमिश्नर उज्जैन श्री मधुरेश बाबू ओझा, एडीजी श्री व्ही मधुकुमार, कलेक्टर श्री ओमप्रकाश श्रीवास्तव, पुलिस अधीक्षक श्री मनोज सिंह के अलावा अन्य स्थानीय जनप्रतिनिधिगण, जिलाधिकारीगण, पत्रकारगण और बडी संख्या में नागरिकगण मौजूद थे।

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने लोकार्पण व भूमिपूजन शिलालेखों का अनावरण, नौ कन्याओं का पादपूजन, कलश पूजन किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान को साफा पहनाकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के पश्चात मुख्यमंत्री श्री चौहान पंडाल में बने हर सेक्टर में पहुंचे, जनसंवाद किया, आवेदन ज्ञापन लिए और सभी का अभिवादन किया।

इन जल परियोजनाओं/संरचनाओं का हुआ लोकार्पण व भूमिपूजन : मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने बुधवार को मध्यप्रदेश विकास यात्रा के तहत मंदसौर जिले के भानपुरा मंे आयोजित कार्यक्रम में करीब 500 करोड रूपये की लागत की पांच जल परियोजनाओं का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया। इन परियोजनाओं से क्षेत्र में हरियाली एवं खुशहाली आयेगी और क्षैत्र का किसान समृद्ध होगा। भानपुरा में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने 81.83 करोड की लागत से नवनिर्मित गरोठ-भानपुरा सिंचाई परियोजना यूनिट-2 का लोकार्पण किया। जल संसाधन (गांधीसागर संभाग) द्वारा कुल 81 करोड 83 लाख रूपये की लागत से निर्मित इस परियोजना से भानपुरा ब्लॉक के 36 गांवो के करीब 11 हजार से अधिक किसानों को 13 हजार 350 हैक्टेयर भूमि में सिंचाई के लिए जल उपलब्ध होगा। मालूम हो कि यह भारतवर्ष के नदी जोडो अभियान की प्रथम साकार परियोजना है।
इस मौके पर मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने 11.19 करोड रूपये की लागत से नवनिर्मित अडमालिया सॉलिडवियर का लोकार्पण भी किया। जल संसाधन (मंदसौर संभाग) द्वारा निर्मित इस सॉलिडवियर से जिले कीे मल्हारगढ तहसील क्षेत्र के 7 गांवो के करीब एक हजार किसानों की एक हजार 101 हैक्टेयर भूमि में सिंचाई की स्थायी सुविधा मिलेगी। उन्होने 12 करोड 79 लाख की लागत से  नवनिर्मित वांकली तालाब का भी लोकार्पण  किया। इस तालाब से जिले की सीतामऊ तहसील क्षेत्र के 2 गांवो के करीब 320 किसानों की 435 हैक्टेयर भूमि में सिंचाई की सुविधा मिलेगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने गरोठ दबावयुक्त सूक्ष्म सिंचाई योजना का भूमिपूजन भी किया। जल संसाधन (गांधीसागर संभाग) के अधीन कुल 3 अरब 60 करोड 20 लाख रूपये की लागत से बनने वाली इस योजना का निर्माण पूरा होने पर भानपुरा ब्लॉक के 60 गांवों एवं गरोठ ब्लॉक के 18 गांवो के करीब 41 हजार से अधिक किसानों की 21 हजार 400 हैक्टेयर भूमि में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। मुख्यमंत्री ने इस योजना के एक मुख्य घटक रूपा सिस्टम का भूमिपूजन किया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने झांगरिया तालाब का भूमिपूजन भी किया। जल संसाधन (मंदसौर संभाग) कुल 15 करोड 92 लाख रूपये की लागत से बनने वाले इस तालाब का निर्माण पूरा होने पर सीतामऊ तहसील क्षेत्र के ही 3 गांवो के करीब 450 किसानों की 520 हैक्टेयर भूमि में सिंचाई होगी।
अंत्योदय मेले के जरिये 17892 हितग्राहियों को मिला 24.17 करोड रूपये का हितलाभइस मौके पर आयोजित अंत्योदय मेले के माध्यम से क्षेत्र के कुल 17 हजार 892 हितग्राहियों को राज्य सरकार की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं, विकास कार्यक्रम व स्वरोजगार ऋणानुदान योजनाओं के कुल 24 करोड 17 लाख 80 हजार रूपये का हितलाभ वितरित किये गये। मुख्यमंत्री श्री चौहान मंच से प्रतीकात्मक रूप से 25 हितग्राहियों को अपने हाथों से हितलाभ वितरित किये।

      जनप्रतिनिधियों  एवं वरिष्ठ अधिकारियों ने अगवानी कर स्वागत किया
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान का भानपुरा आगमन पर हेलीपेड पर सांसद श्री सुधीर गुप्ता सहित वरिष्ठ अधिकारियों ने आगवानी कर आत्मीय स्वागत किया। हेलीपेड पर मुख्यमंत्री श्री चौहान का स्वागत विधायक श्री चन्द्रभानसिंह सिसौदिया, श्री कैलाश चावला, श्री जगदीश देवड़ा, श्री हरदीपसिंह डंग एवं श्री ओमप्रकाश सकलेचा ने किया। इस अवसर, यूडीए के अध्यक्ष श्री जगदीश अग्रवाल, संभागायुक्त श्री एमबी ओझा, एडीजीपी श्री व्ही.मधुकुमार, डीआईजी श्री धर्मेन्द्र चौधरी भी मौजूद थे।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *