Breaking News

मध्य प्रदेश में जबरन घुसे राहुल गांधी समेत 7 बड़े कांग्रेस नेता हिरासत में

मंदसौर। मध्यप्रदेश के मंदसौर में 6 किसानों की मौत के बाद राजनीति गर्माई हुई है। गुरुवार को दोपहर में भारी जद्दोजहद के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मध्यप्रदेश की सीमा में प्रवेश करते ही हिरासत में ले लिया। वे पुलिस बल के साथ झड़पों के बाद आगे बढ़ते जा रहे थे। वे मोटरसाइकिल से नीमच के रास्ते मंदसौर की तरफ बढ़ रहे थे, इसी बीच रास्ते में उनके काफिले को रोक कर हिरासत में लिया गया। राहुल गांधी को 7 बड़े नेताओं को भी हिरासत में लिया गया। इन नेताओं को जिस फैक्ट्री के सर्किट हाउस में रखा गया है उसे अस्थाई जेल बना दिया गया है।
हालांकि बाद में शाम के समयराहुल गांधी और सभी बड़े नेताओं को रिहा कर दिया गया है। रिहा होने के बादये सभी लोग नयागांव की तरफ वापस जा रहे हैं।नयागांव में ही ये मृत किसानों के परिजनों से मुलाकात करेंगे।कांग्रेस नेताओं के आगमन को देखते हुए नयागांव टोल को दोनों तरफ से बंद कर दिया गया है।टोल बंद होने से दोनों तरफ वाहनों की लम्बी कतारें लग गईं हैँ।नयागांव में किसानों से मुलाकात के बाद राहुल गांधी उदयपुर की ओर रवाना हो सकते हैं।
इससे पहले प्रशासन ने उन्हें कर्फ्यू के चलते मंदसौर तक आने की परमिशन नहीं दी थी, जिसके बाद वे राजस्थान के उदयपुर के रास्ते मध्यप्रदेश की सीमा में मोटरसाइकिल पर बैठकर आए थे। उनके साथ कांग्रेस नेता कमलनाथ, सचिन पायलट और मध्यप्रदेश के कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी भी थे। जीतू पटवारी बाइक चला रहे थे और राहुल गांधी पीछे बैठे थे। वहीं सचिन पायलट भी बाइक पर सवार थे। कांग्रेस उपाध्यक्ष का काफिला टोल नाके पर ही रोक देने के बाद वे बाइक से प्रशासन को चकमा देते हुए आगे बढ़ गए थे। लेकिन, नीमच पहुंचने से पहले ही पुलिस बल ने उन्हें हिरासत में ले लिया।
राहुल समेत कांग्रेस के 7 बड़े नेता हिरासत में
राहुल गांधी समेत 7 कांग्रेस के बड़े नेताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया गया है। उन्हें नया गांव स्थित विक्रम सीमेंट के सर्किट हाउस में ले जाया गया है। वहां उनके साथ चर्चा का दौर जारी है।
सचिन पायलट, कमल नाथ, मध्यप्रदेश के कांग्रेस प्रभारी मोहन प्रकाश, दिग्विजय सिंह, जीतू पटवारी हिरासत में लिए गए हैं। बार्डर पर पहुंचने वालों में मध्यप्रदेश विधानसभा में कांग्रेस के नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव, राउ विधायक जीतू पटवारी, शोभा ओझा भी शामिल थे। सभी ने मध्यप्रदेश सरकार पर आरोप लगाया है कि सरकार ने अलोकतांत्रिक कार्य किया है।
फैक्ट्री को बनाया अस्थाई जेल
सभी नेताओं को जिस सर्किट हाउस में रखा गया है, उसे अस्थायी जेल बना दिया है। यहां से नीमच जिले के गांव नया खेड़ा जाने पर चर्चा की जा रही है। यह वहीं गांव है जहां एक एक किसान की मौत गोली कांड में हुई है। इसलिए अब कांग्रेस नेता उस गांव की तरफ जाने की कोशिश करें। इसे देखते हुए नयाखेडा़ गांव में भी भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts