Breaking News

मन्दसौर बंद का आह्वान किया हिन्दू जागरण मंच ने

हिन्दू समाज के सम्मानीय लोगों पर असत्य व झूठे आपराधिक प्रकरण दर्ज करने पर हिन्दू जागरण मंच ने निकाली रैली, सौंपा ज्ञापन

मंदसौर। सीतामउ में 9 सितम्बर को हिन्दू समाज द्वारा शांति से अपने आराध्य देव गणपति जी की पूजा की जा रही थी कि कुछ असामाजिक तत्वों ने एक झुण्ड बनाकर हाथों में हथियार लहरा कर हिन्दू समाज पर हमला करने के इरादे से आगे बढ़ा। मौके पर तैनात एसएफ के जवानों को देखकर झुण्ड ने उन्हें मौके से हटाने के उद्देश्य से पत्थरबाजी करने लगा तथा हिन्दू समाज के खिलाफ भड़ाउ व हिंसात्मक नारे लगाते हुए भय का का वातावरण बनाने लगा। सोशल मीडिया के माध्यम से मिले फुटेज के आधार पर एक समुदाय विशेष की महिलाओं व पुरूषों द्वारा पुलिस विभाग के व्यक्तियों के उपर पत्थर फैंकते हुए भी दिखा दिया।

इस बात की शिकायत लेकर सकल हिन्दू समाज जब सीतामउ थाने पर गया तो पुलिस द्वारा शिकायतकर्ता को रात्रि दो बजे तक थाने में बैठाय रखा व अभद्र भाषा का प्रयोग भी किया गया। जिससे हिन्दू समाज में पुलिस प्रशासन के खिलाफ रोष था। प्रशासन के दबाव के कारण भगवान गणेश की प्रतिमाओं का विसर्जन अन्नत चतुर्दशी के दिन किया जाना था उसे निर्धारित अवधि के पूर्व ही विसर्जित कर दिया गया उसके बावजूद भी सीतामउ पुलिस द्वारा आरोपियों से मिलकर हिन्दू समाज के शांतिप्रिय व्यक्तियों के विरूद्ध झूठा व असत्य प्रकरण दर्ज कर उन्हें बल प्रयोग कर हिरासत में लिया गया।

सीतामउ पुलिस की इस कार्यवाही के विरोध में जिले भर के हिन्दूसमाज में काफी रोष है। इसको लेकर रविवार 22 सितम्बर को हिन्दू जागरण मंच ने रैली निकालकर राज्यपाल महोदय के नाम जिला पुलिस प्रशासन को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में मांग की गई हैं कि शांतिप्रिय हिन्दू समाज के सम्मानित व्यक्तियों के खिलाफ की गई कार्यवाही को तुरंत निरस्त किया जाए। अन्यथा 23 सितम्बर सोमवार को मंदसौर जिला बंद का आव्ह्ान किया गया। इसके विरोध में धर्म जागरण मंच द्वारा कंट्रोल रूम के सामने लगभग दो घंटे तक चक्काजाम कर पुलिस प्रशासन के विरूद्ध नारेबाजी की गई। प्रशासन ने कार्यवाही की निष्पक्ष जांच करने का आश्वासन भी धर्ममंच के पदाधिकारियों को दिया है।

सीतामऊ में भी सौंपा गया ज्ञापन

रविवार को हिन्दू जागरण मंच के सदस्यों राज्यपाल के नाम पुलिस अनुविभागीय अधिकारी ओपी शर्मा को ज्ञापन भेट किया गया। जिसमे पुलिस द्वारा हिन्दू समाज के लोगो पर असत्य व् झूठे प्रकरण दर्ज करने का विरोध करते हुए प्रकरण का खात्मे की मांग की गई है। ज्ञापन में कहा गया कि पुलिस की झूठी व असत्य कार्यवाही के खिलाफ हिन्दू समाज में काफी रोष है जिसके लिए हिन्दू मंच ने सोमवार 23 सितम्बर को नगर बन्द का भी आव्हान किया है वही ज्ञापन में हिन्दू समाज के व्यक्तियों पर झूठे प्रकरण निरस्त नही किये गए तो हिन्दू समाज उग्र आंदोलन करने की बात भी कही गई है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply