Breaking News

महिला एंव बालक की हत्या के आरोप में आरोपी को दोहरे आजीवन कारावास एवं दस हजार का अर्थदण्ड दण्डित किया गया

Hello MDS Android App

मंदसौर निप्र। न्यायालय श्रीमान विषेश न्यायाधीष महोदय(एट्रोसिटी) एक्ट मंदसौर श्री आर.एल.यादव सा. ने एक महत्वपूर्ण निर्णय में आरोपी जगदीष धाकड़ पिता देवीलाल धाकड़ निवासी धाकड़खेड़ी तह सुवासरा जिला-मन्दसौर को धारा 302,201 में दोहरा आजन्म कारावास 10,000 रू. अर्थदण्ड की सजा से दण्डित किया गया।
घटना इस प्रकार है कि दिनांक 05.04.2012 को रात्रि 8 बजे राकेष खटीक ग्राम-बुघानिया थाना -षामगढ़ में आरोपीगण जगदीष धाकड़ एंव ष्यामसिंह नि. रामनगर थाना-सुवासरा के द्वारा किरण एंव संदीप निवासी -रूनीजा थाना सुवासरा की महिला एंव बालक की कू्ररता पूर्वक एंव नृषंसता पूर्वक हत्या की गई एंव लाष को राकेष के कुआ मे फेका दिया गया इसके बाद थाना षामगढ़ के थाना प्रभारी उमेष त्रिवेदी एंव जितेन्द्र गढ़वाल उप निरी. ने दिनांक 06/04/2012मौके पर जाकर लाष को निकालना एंव मौके पर देहाती नालसी लिखने के बाद असल अपराध थाना षामगढ़ अपराध क्रमांक 96/12 धारा 302,201,34 भादस एवं धारा 3(2)(5) अजा/जजा अत्याचारा निवारण अधिनियम, 1989 के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया गया। पुलिस ने अग्रिम विवेचना एस.डी.ओ.पी. श्री बी.एस.मालवीय द्वारा की गई पर आरोपीगण जगदीष धाकड़पिता देवीलाल धाकड़ निवासी धाकड़खेडी एंव ष्याम सिंह पिता गोरधन सिंह सौ.राज नि. रामनगर थाना -सुवासरा ने गांव-रूनीजा थाना सुवासरा की किरणखटीक पति किषन एंव संदीप पिता किषन खटीक को राकेष कुआ पर बुलाया था विवेचना के द्वारा पुलिस के द्वारा मौके कुछ महत्वपूर्ण साक्ष्य सग्रहित की गई थी एंव पुलिस के द्वारा मृतका एंव आरोपीगण काल डिटेल निकाली गई । विवेचना के द्वारा यह तथ्या यह कि मृतिका किरणबाई के साथ अवैध संबंधो को बनाए रखने के लिए दबाव बनाया जाने और न मानने पर ष्यामसिंह के साथ मिलकर हत्या कर दी ब्लेड सेम्पल निकाला गया इसकी जाचं कराई गई । । विषेश लोक अभियोजक भगवानसिंह चैहान ने न्यायालय में कुल 33गवाहो के कथन कराया गए असा09 भावना के द्वारा बताया कि मेरी मम्मी मृतक किरण को जगदीष राकेष मामा के खेत पर बुलाया था। घटना कें पूर्व जगदीष धाकड़ ने मृतका किरण को मोबाईल करके बुलाया था । फिर मम्मी एंव भाई की हत्या कर दी गई एंव अभियोजन के द्वारा कुल 74 दस्तावेज केा प्रदषी किया गए बचाव पक्ष ने एक गवाह के कथन कराया गए ।न्यायालय ने माना कि जगदीष की दोशसिद्वी पूर्ण रूप से परिस्थितिजन्य साक्ष्य पर आधारित है । विषेश लोक अभियोजक भगवानसिंह चैहान का तर्क है कि अभियोजन में आई साक्ष्य केे सहमत होते हुऐं आरोप आरोपी जगदीष धाकड़ पिता देवीलाल धाकड़ निवासी धाकड़खेड़ी तह सुवासरा जिला-मन्दसौर को धारा 302,201 में दोहरा आजन्म कारावास 10,000 रू. अर्थदण्ड की सजा से दण्डित किया गया। एंव ष्याम सिंह को दोशमुक्त किया गया ।जमा राषि अपील अवधि के पष्चात 9000/भावना की नानी सज्जन बाई रूनीजा की दी जावेगी ।
अभियोजन पक्ष की ओर से प्रकरण की पैरवी भगवानसिंह चैहान विषेश लोक अभियोजक मंदसौर द्वारा की गई।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *