Breaking News

माँ ने किया मानवता को शर्मशार : जन्म देने के 3 घंटे बाद ही झाडिय़ों में छोड़ गई नवजात को…

मंदसौर। मंदसौर जिले की सीतामऊ तहसील में फिर हुई मानवता शर्मसार! बेटी है तो कल है यह केवल किताबों में लिखा व किसी को कहना ही अच्छा लगता है यह फिर साबित हो गया है ! जिस प्रकार रोजाना बेटियों की गर्भ में या बाद में हत्याए हो रही है जिस पर कानून केवल किताबी कार्यवाही करके छोड़ देता है जिससे यह घटनाएं दिन ब दिन बढ़ती जा रही है! सीतामऊ थानाक्षेत्र के ग्राम पिपलिया जागीर के हनुमान मंदिर के पास शनिवार सुबह करीब साढ़े आठ बजे झाडिय़ों में पड़ी एक नवजात बच्ची के मिलने की सूचना मिलने 100 डायल वाहन से पुलिस मौके पर पहुंची। यहां पुलिस ने 108 एंबूलेंस के फोन नंबर पर कॉल किया। कई बार कॉल करने के बाद नंबर व्यस्त मिला। इस पर पुलिस अधिकारी 100 डायल वाहन से सीतामऊ अस्पताल लेगए। यहां पर डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार कर नवजात को जिला अस्पताल रैफर कर दिया। पुलिस उसे लेकर जिला अस्पताल लाई। यहां डॉक्टरों ने उसे एसएनसीयू वार्ड में भर्ती किया। डॉक्टर के मुताबिक बच्ची का जन्म समय पूर्व हुआ है। उसको सांस लेने में परेशानी आ रही है। उसे ऑक्सीजन पर रखा गया है। हालात गंभीर है।

सातखेड़ी चौकी प्रभारी जितेंद्र बघेल ने बताया कि सूचना मिली थी कि पिपलियाजागीर के हनुमान मंदिर के पास रघुनंदन के खेेत के पास झाडिय़ों एक नवजात पड़ा है। जो प्लास्टिक के बारे पर साड़ी में लिपटा हुआ है। सूचना मिलते ही 100 डायल वाहन से मौके पर पहुंचे। वहां से नवजात को सीतामऊ सामुदायिक स्वास्थ्य लेकर आए। यहां पर डॉ एसजी सूर्यवंशी ने नवजात के हालत गंभीर होने पर प्राथमिक उपचार कर उसे रैफर किया। नवजात को जिला अस्पताल लेकर आए। जहां उसे एसएनसीयू में भर्ती किया गया। गांव में इस संबंध में जानकारी ली है। लेकिन अभी तक इसकी मां का कोई पता नहीं चला है। जानकारी निकाली जा रही है।

तीन घंटे पहले हुआ जन्म 
जिला अस्पताल के एसएनसीयू के डॉक्टर आशीष मांदलिया ने बताया कि नवजात का जन्म समय से पूर्व हुआ है। उसका जन्म 30 से 32 हफ्ते की अवधि में हुआ है। नवजात तीन घंटे का जन्म तीन घंटे पहले हुआ है। उसका वजन १ किलो २०३ ग्राम है। उसको ऑक्सीजन लेने में समस्या आ रही है। वह गंभीर अवस्था में है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts