Breaking News

मानसून पूर्व आंधी तूफान से हुआ नुकसान, कई घरों के चद्दर उडे़, जनहानि नहीं, किन्तु मवेशियों को पहुंचा नुकसान

सीतामऊ। मानसून पूर्व की तूफानी आंधी ने नगर सहित अंचल में भारी कहर बरपाया है विद्युत वितरण कंपनी के 24 पोल क्षतिग्रस्त हो गया जिसमें 11 केवी के तार टूट गए कहीं पर गिर गए एवं मकान हुआ प्रतिष्ठानों के चद्दर उड़ गए मवेशियों के भी चपेट में आने की जानकारी मिली है जनहानि तो नहीं हुई मगर हजारों रुपए का नुकसान हुआ है इस आंधी ने विद्युत वितरण कंपनी के अधिकारियों द्वारा मानसून पूर्व किए गए लाइनों के मेंटेनेंस की पोल खोल दी है।

शनिवार की रात्रि 8.00 बजे चलिए इस तूफानी आंधी की तीव्रता इतनी भयानक थी कि चारों और धूल छा गए विद्युत तारों के आपस में टकरा जाने से विद्युत आपूर्ति ठप हो गई नगर में 14 घंटे तक अंधेरा छाया रहा रात्रि 10रू30 बजे उपरांत विद्युत आपूर्ति बहाल हो पाई ग्रामीण अंचलों में रात भर अंधेरा छाया रहा इस तूफानी आंधी का कहार आबादी वाले क्षेत्र में तो कम बरपा लेकिन खुले स्थानों पर भारी कहर बरपाया। मंदसौर रोड व सुरखेड़ा रोड पर कई पेड़ धराशाही हो गए। मिली जानकारी के अनुसार विद्युत वितरण कंपनी के 24 पोल आंधी की चपेट में आकर क्षतिग्रस्त हो गए जिससे 11केवी लाइट के तार टूट गए जिससे विद्युत आपूर्ति ठप हो गई । बिलात्री के पास बने आवास ग्रह को विद्युत सप्लाई देने हेतु नवीन विद्युत लाइन बिछाई गई थी उसके भी तार लटक गए लगभग 10 से 20 मिनट तक चलिए इस तूफानी आंधी ने विद्युत वितरण कंपनी के अधिकारियों द्वारा मानसून पूर्व किए गए विद्युत लाइनों के मेंटेनेंस कार्यों की पोल खोल डाली है कंपनी को हजारों रुपए का नुकसान हुआ है सूचना मिलने पर कंपनी के अधिकारी कर्मचारी रात में ही विद्युत लाइनों को जोड़ने में जुट गए थे रविवार को दिनभर यह कार्य चलता रहा।

कुएंे पर बने आवास के चद्दर उड़े- स्थानीय कृषक कन्हैयालाल शिवदासिया, अरविंद भम्भोरिया, रमेश जामलिया आदि ने बताया कि सुरखेड़ा रोड उनके खेतों में कुवे के समीप बने आवास के चद्दर उड़ गए जिससे हजारों रुपए का नुकसान हुआ आवास की दीवाली भी गिरी पड़ी आसपास कहीं पेड़ धराशाई हो गए ग्रामीण अंचलों में भी इस आंधी ने भारी कहर बरपाया है चद्दर उड़ जाने से मवेशियों के चपेट में आने कभी समाचार मिले हैं।

आंधी की तीव्रता पर जोर नहीं- विद्युत वितरण कंपनी के सहायक यंत्री पीयुष पवार ने बताया कि मानसून पूर्वक किए गए मेंटनेंस कार्यों में पूरी तरह सतर्कता बरती गई किंतु आंधी तूफान के आने पर किसी का जोर नहीं चलता है इस आंधी की तीव्रता काफी भयानक थी हमारे कई विद्युत पोल क्षतिग्रस्त हो गए हैं।
ओले गिरे- आंधी के साथ कुछ स्थानों पर बारिश भी हुई इस दौरान गांव महुआ महुवी में मक्के के आकार के ओले भी गिरे है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts