Breaking News

मामला – अभिभाषक से मारपीट का एसपी ने नहीं मानी मांगे, वकीलों का धरना शुरू, पुलिस प्रशासन व वकील आमने सामने

 

मंदसौर। विगत् दिनों एक जमीन विवाद को लेकर अभिभाषक नवीन ओझा के साथ हुई मारपीट के मामले में हड़ताल पर चल रहे अभिभाषकों ने अपनी मांगें नहीं माने जाने पर शनिवार से कोर्ट परिसर में ही टेन्ट लगाकर धरना प्रदर्शन चालू कर दिया है।

मामले में पुलिस प्रशासन और अभिभाषक संघ आमने सामने है। मंदसौर में वकिलों की हड़ताल पिछले एक सप्ताह से चल रही है। जिसके कारण लगभग सभी न्यायालयीन कार्य प्रभावित हो रहे है। आमजन जिनकों न्यायालयीन कार्य है हड़ताल के कारण वे भी परेशान हो रहे है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस मामले को लेकर एक सुलह की वार्ता की गई थी लेकिन उसमें बातचीत अंजाम तक नहीं पहंुच सकी थी। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अभिभाषक चाहते थे कि दूसरे पक्ष पर भी एफआईआर हो और वो कर भी दी गई। वहीं अभिभाषकों का कहना था कि सामने वाले पक्ष ने झूठी रिपोर्ट लिखाकर अभिभाषक नवीन ओझा के पुत्र को नाम लिखवाया है जिसे निकाला जाये। अभिभाषकों की लगभग सभी मांगे पुलिस अधीक्षक हितेश चौधरी द्वारा मान ली गई थी। लेकिन अभिभाषक संघ का कहना था कि पिपलियामंडी के टीआई और एसआई को भी निलंबित किया जाए। इस पर पुलिस अधीक्षक नहीं माने और मामला खटाई में पड़ गया।

मांगे नहीं माने जाने के कारण अभिभाषक संघ ने शनिवार से हड़ताल के साथ साथ धरना प्रदर्शन भी प्रारंभ कर दिया। वहीं यह भी जानकारी मिल रही हैं कि कुछ अभिभाषक सोमवार से काम पर लौटना चाहते है।

सीतामउ से आए वकिलों से हुई बहस, लौटे

शनिवार को एक मामले की पैरवी के लिए सीतामउ के कुछ वकिल मंदसौर आए थे। लेकिन यहां पर अभिभाषकों की हड़ताल होने के कारण स्थानीय अभिभाषकों ने उन्हें पैरवी नहीं करने को कहा। इस बात को लेकर स्थानीय अभिभाषकों व सीतामउ के अभिभाषकों में बहस भी हुई। बाद में सीतामउ के अभिभाषक बिना पैरवी के लौट गए।

मॉनटरिंग कमेटी की बैठक हुई लेकिन मामले को लेकर कोई चर्चा नहीं

शनिवार को ही जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री तारकेश्वरसिंह जी के साथ कलेक्टर मनोज पुष्प व एसपी हितेश चौधरी की मॉनटरिंग कमेटी की बैठक हुई। लेकिन इस बैठक में मामले कोई चर्चा नहीं हुई। वहीं दूसरी ओेर एसपी हितेश चौधरी का कहना हैं कि अभिभाषक संघ की सभी जायज मांगे मान ली गई है लेकिन टीआई और एसआई को हटाने की मांग नहीं मानी जायेगी वो गलत है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts