Breaking News

मामला – नपा के नये सभापतियों का : भाजपा की कोर कमेटी की बैठक ने संभागीय संगठन मंत्री ने कि सदस्यों से पृथक पृथक चर्चा

मंदसौर। नगर पालिका अध्यक्ष ने विगत् दिनों अपनी नई पीआईसी का गठन कर सदस्यों को विभिन्न समितियों के सभापति का दायित्व सौंपा था। नए सभापतियों ने अपने कार्यभार की ग्रहण कर लिए। लेकिन नई पीआईसी को लेकर नपा के नौ पार्षदों में आक्रोश उत्पन्न हो गया था और विरोध स्वरूप उन्होने अपने त्याग पत्र नपाध्यक्ष को सौंप दिए थे। असंतुष्ट पार्षदों ने नई पीआईसी के गठन को लेकर पक्षपात का आरोप लगाते हुए विगत् दिनों उर्ज्जैन में भाजपा के नये प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह से मुलाकात कर अपना आक्रोश व्यक्त किया था। प्रदेशाध्यक्ष ने भी असंतुष्ट पार्षदों को आश्वासन देते हुए कहा था कि नई पीआईसी को लेकर संगठन में पुर्नविचार कर सार्थक परिणामों से आपको अवगत करा दिया जाएगा।

हालांकि इसके पूर्व 26 – 27 अप्रैल को संभागीय संगठन मंत्री प्रदीप जोशी के मंदसौर प्रवास के दौरान असंतुष्ट पार्षदों को भी उन्होने आश्वासन दिया था कि नई पीआईसी गठन को लेकर उपजे आक्रोश पर सकारात्मक परिणाम आवेंगे। लेकिन अभी तक किसी भी सकारात्मक परिणाम से असंतुष्ट पार्षद दूर ही है। 2 मई को संभागीय संगठन मंत्री श्री जोशी की उपस्थिति में संपन्न हुई कोर कमेटी की बैठक में भी इस गंभीर मुद्दे पर श्री जोशी ने कोर कमेटी के सदस्यों से पृथक पृथक चर्चा करी। लेकिन चर्चा के परिणाम सामने नहीं आ सके। भरोसेमंद सूत्रों का कहना है कि श्री जोशी कमेटी के सदस्यों से हुई चर्चा से वे प्रदेश भाजपा संगठन को अवगत करावेगे।

असंतुष्ट पार्षदों की संख्या व उनकी वाजीब मांग को देखते हुए नई पीआर्इ्रसी में बदलाव के संकेत दिख रहे है। असंतुष्ट पार्षदों का विरोध उन तीन पुराने सदस्यों को लेकर है जिनको पुनः नई पीआईसी में स्थान मिला है।

असंतुष्ट पार्षद एकत्र होने का अवसर नहीं छोड़ते
नपा के नौ पार्षद जो असंतुष्ट हैं वे एकत्र होने का अवसर नहीं छोड़ते है। क्योेंकि उन्हें तो ऐसा स्थान चाहिए जहॉ वे अपनी एकता का प्रदर्शन कर सकें। ऐसा ही अवसर विगत् दिनों खानपुरा में पूर्णिमा के दिन हुए धार्मिक समारोह में देखने को मिला। हालांकि यहॉ पर नपाध्यक्ष भी मौजूद थे लेकिन धार्मिक कार्यक्रम में भी कही न कहीं नई पीआईसी की चर्चा हो ही गई।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts