Breaking News

मामा के साले कांग्रेस के पाले में : मुख्यमंत्री शिवराज के साले संजय सिंह कांग्रेस में शामिल, टिकट न मिलने से खफा थे

  • संजय वारासिवनी से टिकट मांग कर रहे थे, भाजपा ने यहां से मौजूदा विधायक को टिकट दिया
  • भाजपा ने शुक्रवार को जारी की थी 176 प्रत्याशियों की सूची, इनमें संजय का नाम नहीं था
  • कांग्रेस में शामिल होने के बाद संजय ने कहा- भाजपा सिर्फ नामदारों को पूछती है

भोपाल. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साले संजय सिंह शनिवार को कांग्रेस में शामिल हो गए। दिल्ली में कांग्रेस की प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसका ऐलान किया गया। उम्मीद है कि कांग्रेस शनिवार को प्रत्याशियों की पहली सूची जारी कर देगी। संजय का कांग्रेस में जाना मध्यप्रदेश भाजपा के लिए तगड़ा झटका माना जा रहा है। बताया जा रहा है कि सिंह टिकट न मिलने से नाराज थे।

 

दिग्विजय-सिंधिया के बीच भी नहीं बन पा रही थी सहमति : पार्टी की ओर से पहले 31 अक्टूबर को सूची जारी करने की संभावना जताई गई थी, लेकिन कुछ नामों को लेकर दिग्विजय और सिंधिया के बीच सहमति नहीं बनी। इसके अलावा दोनों नेता कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के सामने भिड़ गए थे। ऐसे में पहली सूची की घोषणा टाल दी गई। शुक्रवार को फिर सूची जारी हाेने की उम्मीद थी, लेकिन देर रात पीसीसी चीफ कमलनाथ ने बयान दिया कि आज सूची नहीं आएगी।

 

भाजपा ने शुक्रवार को जारी की सूची : दूसरी ओर भाजपा ने शुक्रवार को अपनी पहली सूची जारी कर दी। इसमें 176 प्रत्याशियों के नाम हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह पुरानी सीट बुधनी से ही चुनाव लड़ेंगे। इसके अलावा तीन मंत्रियों और 33 विधायकों के टिकट काट दिए गए हैं। दो सांसदों को भी भाजपा ने मैदान में उतारा है।

 

कौन हैं संजय सिंह : संजय सिंह मुख्यमंत्री की पत्नी साधना के सगे भाई हैं। सिंह नीलाक्ष इंफ्रास्ट्रक्चर नाम की कंपनी के कर्ताधर्ता हैं। मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र में इस कंपनी के कई प्रोजेक्ट चल रहे हैं। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने उन पर फर्जी दस्तावेजों के सहारे ठेकेदार के रूप में पंजीयन कराने का आरोप लगाया था। कांग्रेस में शामिल होने के बाद सिंह ने भाजपा पर परिवारवाद का आरोप लगाते हुए कहा कि नामदारों को नवाजा जा रहा है और कामदारों को किनारे कर दिया गया है।

 

बालाघाट की वारासिवनी सीट से मांग रहे थे टिकट : बताया जा रहा है कि संजय वारासिवनी से टिकट मांग रहे थे। वे राजनीतिक रूप से यहीं सक्रिय हैं। भाजपा की पहली सूची में वारासिवनी से वर्तमान विधायक योगेन्द्र निर्मल को प्रत्याशी घोषित किया गया है। सिंह के कांग्रेस में शामिल होने पर भाजपा नेता डॉ. हितेश वाजपेयी ने कहा, ”इस समय जो कांग्रेस में जा रहा है, उसकी मति मारी गई है। भाजपा परिवारवाद पर नहीं जनता के सहयोग से चलने वाली पार्टी है।”

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts