Breaking News

मिड इंडिया अण्डर ब्रिज निर्माण के पूर्व उसका नक्शा सार्वजनिक किया जाये

मन्दसौर। दिगम्बर जैन समाज ने जिला कलेक्टर एवं मुख्य नगरपालिका अधिकारी मंदसौर को ज्ञापन देकर मांग की है कि प्रस्तावित मिड इंडिया ब्रिज के नक्शे को सार्वजनिक किया जावे जिससे ज्ञात हो सके कि उस क्षेत्र के रहवासियों, संस्थाओं व व्यवसायियों को अण्डर ब्रिज से किसी प्रकार की क्षति न हो।

श्री मूर्ति महावीर स्वामी दिगम्बर जैन मंदिर के अध्यक्ष शांतिलाल बड़जात्या एवं सचिव सुरेश पाटनी ने बताया कि मिड इंडिया ब्रिज निर्माण से पूर्व सार्वजनिक हित को देखते हुए उसका नक्शा सार्वजनिक किया जाना अति आवश्यक है। ब्रिज के आसपास रहवासी, व्यवसायिक एवं संस्थाओं के भवन विद्यमान है। उन लोगों के हितों पर कुठाराघात कर ब्रिज का निर्माण नहीं किया जाना चाहिए । आपने कहा कि पूर्व में ब्रिज निर्माण के नक्शे में व वर्तमान के नक्शे में कुछ लोगों के हितों के लिये फेरबदल किया गया तथा ब्रिज की गहराई भी अधिक कर दी गई है जिससे उस क्षेत्र के रहवासियों के हितों पर बुरा प्रभाव पड़ेगा।

दिगम्बर जैन समाज ने दिये ज्ञापन में कहा कि अण्डर ब्रिज बनाने की चाल में कुछ लोग व्यक्तिगत आवासीय मकानों व संस्थाओं के मकानों को क्षति पहुंचाने की भावनाओं से अण्डरब्रिज बनाने का दबाव बना रहे है। किसी भी व्यक्ति की सम्पत्ति को क्षति न पहुंचे इस हेतु अण्डरब्रिज प्रस्ताव के नक्षे को सार्वजनिक किया जाना आवश्यक होकर उन रहवासियों व सम्पत्ति मालिकों व उनके व्यवसाय पर कोई विपरित प्रभाव नहीं पड़े इसके लिये उनको विश्वास में लेकर ही अण्डरब्रिज का निर्माण किया जाये।

समाज की ओर से नरेन्द्रकुमार गांधी एड., सुन्दरलाल कोठारी, शांतिलाल बड़जात्या हमीरगढ़ वाले, डॉ. संजय गांधी, राजकुमार गोधा, महावीर पाटनी, अरविन्द जैन, अजीतकुमार कोठारी, निर्मल झांझरी, पवन कुमार अजमेरा, प्रकाशचन्द्र पहाडि़या, नरेन्द्र छाजेड़ एड., नवीन कुमार कोठारी एड., डॉ. महेन्द्र पाटनी, अभय अजमेरा, प्रदीप पहाडि़या, संजय गोधा, कुसुम पोरवाल, किरण जैन, सुरेश कुमार मिण्डा, राकेश छाजेड़ आदि ने कलेक्टर एवं सीएमओ से प्रस्तावित मिड अण्डरब्रिज निर्माण में संस्था की भूमि को नुकसान नहीं पहुंचे इसके संबंध में मांग की है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts