Breaking News

मिड इंडिया फाटक 22 को बंद होगी

मंदसौर। पटरी पार के लगभग 25 हजार लोगों के लिए शहर के मुख्य बाजारों में आने-जाने के लिए सबसे ज्यादा उपयोग में आने वाली मिड इंडिया रेलवे फाटक अब 22 फरवरी की सुबह से बंद हो जाएगी। पहले इसे 19 फरवरी से बंद किया जाना था पर 21 फरवरी को महाशिवरात्रि होने से श्री नीलकंठ महादेव जाने वाले श्रद्घालुओं ने कलेक्टर मनोज पुष्प से मिलकर इसे दो दिन आगे बढ़ाने की मांग की थी। कलेक्टर ने रेलवे अधिकारियों से चर्चा कर इसे आगे बढ़ा दिया गया। अब महाशिवरात्रि पर श्री नीलकंठेश्वर जाने वाले श्रद्घालुओं को परेशानी नहीं होगी।

दो दिन पहले ही मिड इंडिया रेलवे फाटक को 19 फरवरी से बंद करने का बोर्ड लगाया गया था। रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म दो के पीछे स्थित रेलवे कॉलोनी के पास ही श्री नीलकंठेश्वर महादेव मंदिर है। जहां पहुंचने का एकमात्र रास्ता मिड इंडिया फाटक से ही हैं। महाशिवरात्रि 21 फरवरी को है और इस दिन श्री नीलकंठेश्वर महादेव मंदिर में सुबह से लेकर रात तक हजारों श्रद्घालु पहुंचते हैं। इसके चलते ही श्रद्घालु कलेक्टर मनोज पुष्प से जाकर मिले थे और फाटक बंद करने की अवधि दो दिन बढ़ाने की मांग की थी। तब कलेक्टर ने भी रेलवे के अधिकारियों से चर्चा की। सोमवार को मिड इंडिया फाटक पर लगे बंद करने के बोर्ड में तारीख बदलकर 22 फरवरी कर दी गई।

17 साल से हो रही है अंडरब्रिज या ओवरब्रिज की मांग

मंदसौर में 17 साल से मिड इंडिया रेलवे फाटक पर अंडरब्रिज या ओवरब्रिज की पुरानी मांग अब जाकर पूरी हो रही है। मिड इंडिया रेलवे फाटक पर 7.65 करोड़ की लागत से अंडरब्रिज बनेगा। रेलवे ने इसकी पूरी तैयारियां कर ली है और अब 22 फरवरी से फाटक को बंद कर अंडरब्रिज के कार्य की शुरुआत हो जाएगी। रेलवे व नपा के इंजीनियरों के साथ ही ठेकेदार ने भी आवश्यक तैयारियां कर ली है।

पूरा दबाव रहेगा गीता भवन अंडरब्रिज पर

पटरी पार स्थित लगभग 15-20 कॉलोनियों में रह रहे लगभग 25 हजार लोग शहर में आवागमन के लिए संजीत रोड रेलवे फाटक, गीता भवन अंडरब्रिज और मिड इंडिया रेलवे फाटक का इस्तेमाल करते हैं। संजीत रोड रेलवे फाटक पर ओवरब्रिज का काम शुरु हो गया है और वह फाटक भी कभी भी बंद हो सकती है। 22 फरवरी से मिड इंडिया रेलवे फाटक बंद की जा रही है। तो पटरी पार से आने वाले यातायात का पूरा दबाव गीता भवन अंडरब्रिज पर ही रहेगा। ऐसे में यहां पर जाम की स्थिति भी बनेगी। क्योंकि गीता भवन रोड पर्याप्त चौड़ा नहीं है और लालघाटी मार्ग पर भी अतिक्रमण बहुत होने से वाहन नहीं निकल पाएंगे।

Hello MDS Android App

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts