Breaking News

 मिड इंडिया रेलवे फाटक अंडरब्रिज नहीं तो वोट नहीं…

मंदसौर. मिड इंडिया रेलवे फाटक पर अंडरब्रिज के मामले में लोगों का लगातार विरोध बढ़ता जा रहा है। मंगलवार को रहवासियों ने फाटक के समीप पहुंचकर वहां फ्लैक्स लगा दिया। इसमें लिखा कि ब्रिज नहीं तो वोट नहीं। फाटक के बार-बार बंद होने के कारण डेढ़ दर्जन कॉलोनियों के अलावा इस क्षेत्र से गुजरी २५ हजार से अधिक लोग हर दिन प्रभावित हो रहे है। अंडरब्रिज रेलवे के बजट में स्वीकृत हो गया है। तमाम प्रक्रिया पूरी भी हो गई है। यहां तक की राज्य सरकार की और से दी जाने वाली आधी राशि नपा को मिल भी चुकी है। नपा ने रेलवे को राशि भेजी तो रेलवे ने दोहरीकरण के नाम पर इसे टालते हुए राशि भी लौटा दी। पत्रिका ने इसे २१ सितबंर के अंक में प्रकाशित किया। इसके बाद मामले में लोगों को आक्रोश भडक़ा और उन्होंने जनप्रतिनिधियों के साथ रेलवे के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। २२ सितबंर को यहां सद्बुद्धि दीप जलाते हुए प्रदर्शन किया। २३ को फिर यहां रहवासियों ने डीआरएम का पुतला फूंका और स्टेशन मास्टर को रेल मंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। शाम को ही विधायक यशपालसिंह सिसौदिया के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल कलेक्टर के पास पहुंचा था। यहां कलेक्टर ने डीआरएम से मिलकर आगे प्रक्रिया बढ़ाने का आश्वासन दिया था। २९ सितबंर को कलेक्टर का डीआरएम से मिलना भी तय हुआ था। इधर मंगलवार को रहवासी फिर से सडक़ों पर उतरे और महिला-पुरुषों ने यहां पहले खूब नारेबाजी की और बाद में ब्रिज नहीं तो वोट नहीं का फ्लैक्स लगा दिया। रहवासियों का कहना था कि यदि ब्रिज नहीं बनता है तो वह विधानसभा चुनाव में मतदान का बहिष्कार कर मतदान से दूर रहेंगे।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts