Breaking News

मुख्यमंत्री के समक्ष मेडिकल कॉलेज आंदोलन को गलत दिशा से प्रस्तुत कर तोड़ने का प्रयास किया गया है – श्री बंधवार

मिशन मंदसौर का 62 दिनों तक चला धरना आंदोलन स्थगित

शीघ्र ही नये व तीखे स्वरूप में किया जाएगा आंदोलन

मन्दसौर। मुख्यमंत्री द्वारा मंदसौर में मेडिकल कॉलेज नहीं खोलने की बात कहने से हम न निराश है न हताश। यह आंदोलन अब और अधिक तीव्रता से चलाया जाएगा, गणतंत्र दिवस राष्ट्रीय पर्व आने से मिशन मंदसौर का अनिश्चितकालीन धरना फिलहाल स्थगित किया जा रहा है, जिला जन अभियान समिति और मिशन मंदसौर मिलकर शिघ्र ही मेडिकल कॉलेज के लिये आंदोलन के नये स्वरूप को घोषित करेंगे।

यह घोषणा मिशन मेंदसौर के धरना आंदोलन के 62वें दिन धरना स्थल पर श्री सुनील बंसल ने की, उन्होंने कहा कि हम नेताजी सुभाषचन्द्र बोस और वीर शिवाजी को अपना आदर्श मानते है जब तक लक्ष्य हांसिल नहीं होगा हमारा संघर्ष जारी रहेगा। गणतंत्र दिवस के बाद आंदोलन के नये स्वरूप की रूपरेखा तैयार की जावेगी।

इस अवसर पर जिला जन अभियान समिति के अध्यक्ष सुरेन्द्र लोढ़ा ने कहा कि मेडिकल कॉलेज की मांग के लिये किया जा रहा आंदोलन तब तक चलेगा जब तक मुख्यमंत्री इसकी घोषणा नहीं कर देते। दलौदा दौरे के दौरान मुख्यमंत्री के समक्ष मेडिकल कॉलेज की मांग को सही ढंग से नहीं रखा गया।

नपाध्यक्ष प्रहलाद बंधवार ने कहा कि मुख्यमंत्री के समक्ष दलौदा में हमारे इस आंदोलन को गलत दिशा से प्रस्तुत कर तोड़ने का प्रयास किया गया है जो ठीक नहीं है। मेडिकल कॉलेज की मांग 50 सालों से की जा रही है।

वरिष्ठ पत्रकार ब्रजेश जोशी ने कहा कि मंदसौर में मेडिकल कॉलेज जन-जन की माग है, जन भावनाओं को यों अनदेखा करना दुर्भाग्यपूर्ण है। डॉ. देवेन्द्र पुराणिक, राजाराम तंवर, बंशीलाल टांक, आदि ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर रमेशचन्द्र चन्द्रे, अजीजुल्लाह खान, सलभ बंसल, यु.एल. बागड़ी, सुरेश देवड़ा, दुर्गाप्रसाद माथुर, किशोर कुमार पाण्डे,आदि उपस्थित थे। अंत में मिशन मंदसौर के सूत्रधार सुनिल बंसल ने 62 दिनों तक आंदोलन को सफल बनाने व सहयोग करने के लिये सभी के प्रति आभार व्यक्त किया। संचालन राजाराम तंवर ने किया।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts