Breaking News

मेरे काफिले पर हमला बीजेपी और संघ के लोगों ने किया: राहुल

Hello MDS Android App
कांग्रेस ने गुजरात में राहुल गांधी पर हुए ‘‘कातिलाना हमले’’ के पीछे भाजपा एवं आरएसएस का हाथ होने का आज आरोप लगाया और कहा कि एक सुनियोजित षड्यंत्र के तहत ऐसा किया गया। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल ने कहा कि उनके काफिले पर भाजपा एवं आरएसएस के कार्यकर्ताओं ने हमला किया तथा यह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं भाजपा की काम करने की शैली है। राहुल को शुक्रवार को बाढ़ प्रभावित गुजरात की उनकी यात्रा के दौरान विरोध प्रदर्शन का सामना करना पड़ा जहां कुछ लोगों ने उनकी कार पर पत्थर से हमला किया जिससे उनकी कार के शीशे टूट गये। उन्हें काले झण्डे भी दिखाये गये जिसकी वजह से उनके बनासकांठा के धनेरा कस्बे में अपने संबोधन को बीच में ही रोकना पड़ा और वह जल्दबाजी में उस स्थल से निकल लिये।
राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने कहा कि भाजपा एवं आरएसएस ने यह ‘‘कातिलाना हमला’’ करवाया और इसे एक सुनियोजित षड्यंत्र के तहत अंजाम दिया गया। उन्होंने कहा कि वह इस हमले की निंदा करते हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री विजय रूपानी की अगुवाई वाली गुजरात की भाजपा सरकार पर राहुल गांधी को सुरक्षा प्रदान करने में विफल रहने का आरोप लगाया जो एसपीजी सुरक्षा प्राप्त एक विशिष्ट व्यक्ति हैं।
राहुल ने कहा, ‘‘भाजपा कार्यकर्ताओं ने कल की घटना में मेरे ऊपर एक बड़ा पत्थर फेंका जो मेरे पीएसओ (निजी सुरक्षा अधिकारी) को लगा। यह मोदीजी और आरएसएस की राजनीति करने का ढंग है। इसके अलावा हम क्या कह सकते हैं।’’ यह पूछे जाने पर कि न तो प्रधानमंत्री और न ही भाजपा ने अभी तक इसकी भर्त्सना की है, राहुल ने कहा, ‘‘जब उन्होंने स्वयं इस तरह की चीजें की हों तो वे इसकी भर्त्सना कैसे कर सकते हैं। यह काम उनके लोगों ने किया है तो वे इसकी भर्त्सना कैसे करेंगे।’’
कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता आजाद ने लोकसभा में पार्टी नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, राज्यसभा में कांग्रेस के उप नेता आनंद शर्मा, कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला की उपस्थिति में राहुल के ऊपर हुए हमले की कड़ी आलोचना की। आजाद ने कहा कि इस तरह की चीजें कांग्रेस और उनके उपाध्यक्ष को लोगों से मिलने और उनकी परेशानियां सुनने से रोक नहीं सकेंगी।
आजाद ने कहा, ‘‘राहुल गांधी पर भाजपा, आरएसएस के लोगों ने एक सुनियोजित षड्यंत्र के तहत हमला किया। यह भाजपा एवं आरएसएस द्वारा कांग्रेस उपाध्यक्ष पर किया गया कातिलाना हमला था। हम इसकी कड़ी भर्त्सना करते हैं क्योंकि इससे भाजपा का वास्तविक चेहरा सामने आ गया है जो कि आजादी के बाद से ही इस तरह के काम करती आ रही है।’’ उन्होंने कहा कि डेढ़ किलोग्राम वजन का पत्थर गांधी को निशाना बनाकर फेंका गया जो आगे की सीट पर बैठे थे और उनकी तरफ की खिड़की का शीशा खुला हुआ था। उन्होंने कहा कि यदि यह उनके सिर पर लगा होता तो यह घातक साबित हो सकता था।
आजाद ने कहा कि चुनाव नजदीक हैं तथा केन्द्र एवं राज्य सरकार की यह पूर्ण जिम्मेदारी है कि वे एसपीजी सुरक्षा पाये लोगों को पूर्ण सुरक्षा दें क्योंकि वे संसद द्वारा पारित कानून के अनुसार सर्वाधिक सुरक्षा पाने वाले लोग हैं। उन्होंने कहा, ‘‘यदि ऐसा फिर होता है तो मुझे लगता है कि देश के लोग इसे बर्दाश्त नहीं कर पायेंगे।’’ यह पूछे जाने पर कि राहुल ने राज्य सरकार द्वारा मुहैया करायी गयी बुलेट प्रूफ कार को स्वीकार क्यों नहीं किया, आजाद ने कहा कि कई बार जनता के प्रति संवेदनशील होने के कारण व्यक्ति को गैर बुलेट प्रूफ कार लेनी पड़ती है।
खड़गे ने कहा, ‘‘जो कुछ हो रहा है वह लोकतंत्र एवं देश के लिए अच्छा नहीं है। यदि लोग परेशानी में हैं तो उनसे मिलना कोई गुनाह नहीं है। लोगों से मिलने वाले लोगों के साथ इस तरह का बर्ताव सही नहीं है।’’
आनंद शर्मा ने कहा कि गुजरात में जो हुआ वह किसी भी सभ्य समाज एवं लोकतंत्र में स्वीकार्य नहीं है। शर्मा ने कहा, ‘‘इससे भाजपा एवं आरएसएस का चाल, चरित्र एवं चेहरा पता चलता है जो अपने राजनीतिक विरोधियों एवं नेताओं के खिलाफ हिंसा, धमकाने एवं शारीरिक रूप से हमले में विश्वास करते हैं।’’ सुरजेवाला ने कहा कि पार्टी ने मांग की है कि शिकायत में जिन चार लोगों को नामजद किया गया है उनकी पहचान कर उनके खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया जाए।
उन्होंने कहा, ‘‘किन्तु कठपुतली पुलिस ने कोई मामला दर्ज नहीं किया है जबकि हमारे लोग पिछली रात से पुलिस थाने के बाहर धरना दिये बैठे हैं। मुख्यमंत्री विजय रूपानी एवं उनकी सरकार की ओर से यह पूरी तरह से विफलता है।’’ सुरजेवाला ने कहा, ‘‘क्या गोडसे वाद को मोदी वाद में तब्दील कर दिया गया है…दोनों ही समान हैं क्योंकि वे हिंसा एवं भय को प्रोत्साहन दे रहे हैं तथा 1948 में भी शारीरिक हिंसा थी जो 2017 में भी जारी है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘किन्तु 1948 में भी गोडसे वाद सफल नहीं हुआ था और मोदी वाद भी नहीं होगा….न तो गांधी और न ही कांग्रेस उनके दबाव में झुकेगी।’’

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *