Breaking News

म्यूजिक डायरेक्टर उस्मान खान मंदसौर की सुगंधदेवी की आवाज में गाना लांच करेंगे

मंदसौर। पोते द्वारा डाले गए वीडियो से देशभर के संगीतकारों व गीतकारों की नजर में आई 60 वर्षीय सुगंधदेवी की शुक्रवार रात मेघनगर में दलेर मेहंदी से मुलाकात हुई। यहां दलेर मेहंदी ने सुगंधदेवी के पैर छूकर आशीर्वाद भी लिया और उनकी आवाज और सुर ताल की समझ को अद्भुत बताया। मेहंदी के साथ आए म्यूजिक डायरेक्टर उस्मान खान ने जल्द ही सुगंधदेवी का एक गाना लांच करने को भी कहा है। मेहंदी ने सुगंधदेवी से ठुमरी भी सुनी।

एक वीडियो में ठुमरी गाते हुए प्रसिद्घ हुई सुगंधदेवी पति स्व. भगवतीलाल गंधर्व शुक्रवार रात मेघनगर में प्रसिद्घ गायक दलेर मेहंदी से मिली। नरेंद्र गंधर्व ने बताया कि दलेर मेहंदी ने उनके पुत्र उमेश गंधर्व को फोन कर के बुलाया था। सुगंधदेवी के मेघनगर स्थित होटल पर पहुंचने पर दलेर मेहंदी ने पैर छूकर उनका सम्मान किया। सुगंधदेवी गंधर्व से ठुमरी व अन्य रचनाएं भी सुनी। बाद में मेहंदी ने कहा कि गंधर्व लोगों का स्थान देवताओं के पास होता है। गंधर्व का शास्त्रों में भी वर्णन है। देश में जो भी शास्त्रीय संगीतप्रेमी संगीत सीखना चाहते हैं, उन्हें सुगंधदेवी को अपना गुऱᆬ बनाना चाहिए। मेहंदी ने इनकी सुरों व ताल की समझ को अद्भुत बताया। साथ ही कहा कि मैं देश के सभी म्यूजिक डाइरेक्टर से बात कर आपकी रेकॉर्डिंग करने को कहूंगा। दलेर मेहंदी के साथ मौजूद जाने माने म्यूजिक डायरेक्टर उस्मान खान ने भी जल्द ही सुगंधदेवी गंधर्व की आवाज में गाना लांच करने की बात कही है। सुगंधदेवी के पुत्र उमेश ने ढोलक बजाई और पौत्र आर्यन ने तबला बजाया। इस पर सुगंधदेवी ने ठुमरी प्रस्तुत की। वहीं पर मौजूद नेशनल कल्चर फाउंडेशन के सदस्य डॉ. भरत शर्मा ने भी सुगंधदेवी का दिल्ली में सम्मान करने की बात कही है।

यहां आए थे मेघनगर में दलेर मेहंदी

मेघनगर स्थित वनेश्वर मंदिर फूट तालाब पर चल रहे प्रदेश के प्रसिद्घ धार्मिक आयोजन में हनुमान जन्मोत्सव पर प्रस्तुति देने दलेर मेहंदी पहुंचे थे। इस मौके पर सुगंधदेवी से सपरिवार मुलाकात की। मेहंदी ने अपने परिवार से भी सुगंधदेवी गंधर्व को मिलवाया था।

 

एक वीडियो में आवाज के दीवाने हो गए थे दिग्गज

सामान्य गृहिणी के रूप में अपना जीवन जी रही सुगंधदेवी के पति स्व. भगवतीलाल गंधर्व प्रसिद्घ तबला वादक रहे हैं। साथ ही गंधर्व परिवार भी शास्त्रीय संगीत से जुड़ा हुआ है इसके चलते उन्हें परिवार में गायकी का माहौल मिला पर वह सामान्यतः घर पर ही गुनगुनाकर अपना शौक पूरा कर रही थी। पांच अप्रैल को ही सुगंधदेवी के पौत्र त्रिलोक ने अपनी दादी द्वारा गाए जा रहे एक गीत को मोबाइल पर रिकॉर्ड कर फेसबुक पर वायरल किया। 60 वर्षीय सुगंधदेवी का गीत जिसने भी फेसबुक पर सुना, वह मंत्रमुग्ध हो गया। इसके बाद तो प्रसिद्घ गायक शंकर महादेवन, दलेर मेहंदी, सोनू निगम सहित हजारों लोगों ने इस वीडियो को शेयर भी किया और आवाज की प्रशंसा भी की।

युवाओं के समक्ष मेहंदी ने सुगंधबाई का रखा उदाहरण

वहीं ख्यात गायक दलेर मेहंदी ने शुक्रवार को इंदौर की एक होटल में आयोजित कार्यक्रम में शिरकत की। उन्होंने बताया कि कुछ समय पहले मंदसौर के एक ग्रुप ने मुझसे एक महिला का गीत ‘बरसन लागी सावन बुंदिया’ शेयर किया था। मुझे गायिका की आवाज ने बहुत इम्प्रेस किया। मैंने सोशल मीडिया पर उसके बारे में तफ्तीश की तो पत्रकार रजत शर्मा ने बताया कि वो महिला मंदसौर की ही हैं। मेरे साथ उसे देश के कई दूसरे गायकों और संगीतकारों ने भी सुना और आज वो सेलिब्रिटी बन चुकी हैं। इसलिए मैं खासतौर पर युवाओं से कहना चाहता हूं कि अपना पूरा फोकस सिर्फ रियाज पर रखें। अगर आप खुद को किसी काबिल बना लेते हैं तो तय जानिए कि देरसबेर आपकी काबिलियत लोगों तक जरूर पहुंचेगी।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts