म.प्र. कांग्रेस कमेटी अजा विभाग ने विधायक, नपाध्यक्ष व भाजपा जिला महामंत्री के विरूद्ध राज्यपाल को दिया ज्ञापन

Story Highlights

  • सफाई कामगारों के सम्मान के बहाने कार्य के आधार पर वर्गवाद को बढ़ावा देने का किया विरोध
Hello MDS Android App

मन्दसौर। म.प्र. कांग्रेस कमेटी अनुसूचित जाति विभाग ने महामहिम राज्यपाल के नाम एक ज्ञापन जिला प्रशासन के अपर कलेक्टर श्री श्रवण भण्डारी को देकर विगत दिनों नगरपालिका द्वारा सफाई कर्मियों के सम्मान समारोह में विधायक यशपालसिंह सिसौदिया, नपाध्यक्ष प्रहलाद बंधवार एवं भाजपा जिला महामंत्री महेन्द्र चैरड़िया के द्वारा किये गये अशोभनीय भाषणों का विरोध किया तथा वाल्मिकी समाज के अपमान करने हेतु तीनों के विरूद्ध प्रकरण दर्ज करने की मांग की।
ज्ञापन का वाचन करते हुए म.प्र. कांग्रेस कमेटी अ.जा विभाग के प्रदेश संयोजक संदीप सलोद ने कहा कि नगरपालिका परिषद् मंदसौर द्वारा पिछले दिनों स्वच्छता सर्वेक्षण में 74वें नम्बर आने पर विधि महाविद्यालय में सम्मान समारोह का आयोजित किया गया। इस सम्मान समारोह में क्षेत्र के विधायक श्री यशपालसिंह सिसौदिया, नपाध्यक्ष श्री प्रहलाद बंधवार एवं भाजपा जिला महामंत्री श्री महेन्द्र चैरड़िया द्वारा समारोह में नगरपालिका में कार्यरत सफाई कामगारों के परिश्रम का सम्मान देने की बजाय पुश्तैनी कार्य का जिक्र कर उनकी भावी पीढ़ी को भी सफाई कर्मचारी बनने का हवाला दे डाला। समारोह में जनप्रतिनिधिगण और गणमान्य नागरिकों को कुर्सियों पर बिठाया गया जबकि जिनका सम्मान नपा कर रही थी उन्हें नीचे बिठाकर प्रत्यक्ष रूप से उन्हें नीचा दिखाने का कार्य नपा परिषद् द्वारा किया गया है। मन्दसौर के विधायक श्री सिसौदिया द्वारा समारोह में प्रमुखता से इस बात का उल्लेख किया कि ‘‘नेता का बेटा नेता, कलेक्टर का बेटा कलेक्टर और वाल्मिकी समाज का बेटा सफाई कर्मचारी बनेगा’’। विधायक का उक्त कथन समाज की पुरातन वर्ण व्यवस्था जो कार्य आधारित थी उसे बढ़ावा देकर वाल्मिकी समाज जो कि दलित है उसे अपमानित किया गया। इसी तरह समारोह में सफाई कर्मचारी महिलाओं को नीचे स्थान देने के मामले में अनेक गणमान्य नागरिकों ने इस ओर नपाध्यक्ष श्री बंधवार का ध्यान आकृष्ट किया लेकिन उन्होंने इस भूल को सुधारने की बजाय अनदेखा किया। समारोह में न केवल भाजपा दल से निर्वाचित जनप्रतिनिधि बार-बार वाल्मिकी समाज को अपमानित करते रहे बल्कि संगठन से जुड़े जिला भाजपा महामंत्री श्री महेन्द्र चैरड़िया द्वारा दलित समाज के लिये असंवैधानिक शब्द ‘‘हरिजन’’ का उपयोग अपने उद्बोधन में बार-बार किया जो अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार अधिनियम के अंतर्गत आता है। समारोह के दौरान मंदसौर विधायक श्री सिसौदिया, नपाध्यक्ष श्री बंधवार व भाजपा जिला महामंत्री श्री चैरड़िया द्वारा सफाई कर्मचारियों के सम्मान के नाम पर बार-बार अपमानित करने से समुचे वाल्मिकी एवं दलित वर्ग में गहरा आक्रोश हैं।
ज्ञापन में महामहिम राज्यपाल से मांग की गई कि वाल्मिकी समाज को अपमानित करने के मामले में विधायक श्री यशपालसिंह सिसौदिया, नपाध्यक्ष श्री प्रहलाद बंधवार व भाजपा जिला महामंत्री श्री महेन्द्र चैरड़िया के विरूद्ध प्रकरण दर्ज करने का आदेश देवे या उन्हें वाल्मिकी समाज से सार्वजनिक रूप से क्षमा मांगने हेतु बाध्य किया जाये।
इस अवसर पर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री प्रकाश रातड़िया, पूर्व प्रदेश प्रवक्ता राजेश रघुवंशी, युवक कांग्रेस लोकसभा अध्यक्ष सोमिल नाहटा, विधि प्रकोष्ठ अध्यक्ष कांतिलाल राठौर, सेवादल अध्यक्ष जगदीपसिंह राजपूत, अभिभाषक संघ अध्यक्ष राजकुमारसिंह देवड़ा, पार्षद जितेन्द्र सौंपरा, पूर्व पार्षद लियाकत निलगर, पार्षद प्रतिनिधि युसुफ खेड़ीवाला, नीलम वीरवार, अजा विभाग ग्रामीण अध्यक्ष नानालाल चैहान, पंकज जोशी एड., विश्वनाथ सोनी, जिला संयोजक अ.जा. विभाग सत्तु चैहान, जिला प्रवक्ता विजेश राठौर, दशरथ राठौर (डियर), रमेश सिंगार, सुभाष जैन एड., आई.टी.सेल जिलाध्यक्ष शैलेन्द्र जोशी, शिवरमनसिंह पंवार, अनिल बसेर, विनोद रांगोठा, बबलू चिपलाना सहित सैकड़ों कार्यकर्ता उपसिथत था। अंत में आभार ग्रामीण अध्यक्ष नानालाल चैहान ने माना। उक्त जानकारी अ.जा. विभाग जिला प्रवक्ता विजेश राठौर (इण्डियन) ने दी।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *