Breaking News

म.प्र. शिक्षक संघ ने कहा जिला स्तर पर हो युक्तियुक्तकरण

मन्दसौर। शिक्षकों की आपत्तियों को दरकिनार कर की जा रही युक्तियुक्तकरण की कार्यवाही उचित नहीं है और म.प्र. शिक्षक संघ इस का पुरजोर विरोध करेगा।
उक्त जानकारी देते हुए म.प्र. शिक्षक संघ के संभागीय संघर्ष प्रमुख श्यामसुन्दर देशमुख, जिलाध्यक्ष भारतसिंह मंगोलिया, जिला सचिव अखिलेश मेहता, जिला कोषाध्यक्ष नवीन त्रिवेदी, जिला संगठन मंत्री मदनलाल मालवीय ने बताया कि एजुकेशन पोर्टल पर अनेक विसंगतियां है और त्रुटियों की भरमार है। ई सेवा पुस्तिका में सुधार का विभाग द्वारा बहुत ही कम समय दिया गया है तथा उसमें भी सुधार के नाम मात्र विकल्प दिए गए है। पोर्टल काफी धीमा चला तथा कई प्रभावित शिक्षक अपनी आपत्ति दर्ज नहीं करा पाये है। अतिशेष की पोर्टल पर जारी सूची की संकुल प्राचार्यों ने संबंधित शिक्षक को तामिल नहीं कराया। केवल पब्लिक डोमेन में जानकारी प्रदर्शित कर दी गई। अतः इस पर आवश्यक दावे आपत्ति प्राप्त नहीं हो सके। साथ ही दावे आपत्ति के संबंध में आवश्यक दस्तावेज भी शिक्षकों से मंगाये गये जबकि सारे दस्तावेज सेवा पुस्तिका व एजुकेशन पोर्टल पर उपलब्ध है। अतः दस्तावेजों के अभाव में नियमानुकूल दावे आपत्ति को खारिज करना न्यायोचित नहीं है।
म.प्र. शिक्षक संघ ने कहा कि म.प्र. शासन सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा मान्यता प्राप्त कर्मचारी संघों के पदाधिकारियों को स्थानांतरण में छुट का भी इस प्रक्रिया में पालन नहीं किया गया। जिले में 220 विद्यालयों को न्यून छात्र संख्या के कारण बंद किये जाने के प्रस्ताव लोक शिक्षण आयुक्त भोपाल के पास लम्बित है, के शिक्षकों को सर्वप्रथम समायोजित कर अतिशेष शिक्षकों की प्रक्रिया को जिला स्तर पर मेन्यूअल कर स्वैच्छिक काउंसलिंग की जानी चाहिए।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts