Breaking News

म.प्र. संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी संघ का अनिश्चितकालीन धरना – आठंवा दिवस

‘‘ संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों ने समस्त संविदा कर्मचारी अधिकारी संयुक्त संविदा मोर्चा के साथ धरना प्रदर्शन किया’’

मंदसौर। संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी संघ की अनिश्चितकालीन हड़ताल नियमितीकरण की मांग को लेकर आठवीं दिन में जारी रही आज के दिन धरना स्थल पर विशेष यह रहा कि प्रदेश में 34 विभागों में कार्यरत संविदा कर्मचारी भी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर उतर आए मंदसौर जिले के 18 विभागों में कार्यरत समस्त संविदा कर्मचारी अधिकारी संयुक्त संविदा संघर्ष मोर्चा के बैनर तले एक साथ नियमितीकरण की मांग को लेकर हड़ताल पर चले गए करीब 500 की संख्या में विभिन्न विभागों के संविदा कर्मचारी एक साथ नियमितीकरण की मांग करते हुए धरना दिया एवम बताया गया कि आज से संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों का नियमितीकरण की मांग को लेकर चल रहा आंदोलन संयुक्त संविदा संघर्ष मोर्चा के माध्यम से लड़ा जाएगा और यह प्रदेश के 200000 संविदा कर्मचारी 28 फरवरी को भोपाल में आंदोलन करेंगे और अनिश्चितकालीन हड़ताल पर रहेंगे संविदा संयुक्त मोर्चा के सभी संविदा कर्मचारियों ने धरना स्थल पर बैलगाड़ी में बैलों की तरह जुथकर गांधी चौराहे पर प्रदर्शन किया संविदा स्वास्थ्य जिला अध्यक्ष विपिन सक्सेना द्वारा बताया गया की मध्य प्रदेश शासन संविदा कर्मचारियों को कोल्हू के बैल की तरह उपयोग कर रहा है न्यूनतम वेतन दिया जाता है कभी भी सेवा से निकाल दिया जाता है लेकिन उनके अधिकारों की मांग आज दिनांक तक पूर्ण नहीं की गई हम शासन को यह संदेश देना चाहते हैं कि अब हम कोई भी संविदा कर्मचारी किसी भी विभाग में कोल्हू के बैल बनकर कार्य नहीं करेंगे अब यदि हम काम पर वापस लौटेंगे तो अपने अधिकारों को प्राप्त कर नियमितीकरण की मांग को पूर्ण कर और निष्कासित साथियों की वापसी के साथ ही अपने कर्तव्य पर लौटेंगे साथ ही साथ 28 फरवरी को भोपाल में 34 विभागों के समस्त संविदा कर्मचारियों के द्वारा विशाल धरना देकर और प्रदर्शन कर नियमितीकरण की मांग मध्यप्रदेश शासन तक पहुंचाई जावेगी विभिन्न विभागों के संविदा कर्मचारियों के आंदोलन पर उतर आने से शासकीय व्यवस्थाएं पूर्णता ध्वस्त हो चुकी हैं अब या तो माननीय मुख्यमंत्री संयुक्त संविदा संघर्ष मोर्चा की नियमितीकरण की मांग को पूरा करें या फिर यह कर्मचारी इसी तरह आंदोलनरत रहेंगे धरना स्थल पर विभिन्न विभाग सर्व शिक्षा अभियान, पंचायत एवं ग्रामीण विकास प्राधिकरण, ई-गर्वनेन्स, लोक सेवा ग्यारन्टी, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग व अन्य विभागों के अधिकारी/कर्मचारी आंदोलनरत रहे।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts