Breaking News

यह लिखा प्रहलाद बंधवार के बेटे नरेंद्र बंधवार ने अपनी फेसबुक वॉल पर

मंदसौर। 17 जनवरी को मंदसौर शहर के प्रथम नागरिक नपा अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार की निर्मम हत्या कर दी गई, प्रहलादजी बंधवार (दादा) जिन्होंने मंदसौर को इस मुकाम पर पहुंचाया उनकी इतने निर्मम तरीके से हत्या कर दी। जनप्रतिनिधि होने के बावजूद पुलिस ने सिर्फ आरोपित को गिरफ्तार कर इसे इतनी सरलता से रफा-दफा करने की कोशिश की है, आरोपित की रिमांड पर कड़ी पूछताछ तो छोड़िए उसके माथे का तिलक तक नहीं मिटा है, कोई भी व्यक्ति मात्र 25 हजार रुपए के लिए एक जनप्रतिनिधि की हत्या नहीं कर सकता है। इस हत्या के पीछे कुछ बहुत ही बड़ी बात है जो पुलिस ने छुपाने की कोशिश की है। एक ऐसा व्यक्ति जो नशे का आदी है और जिस पर छह अपराधिक मामले दर्ज हो वह इस तरह मंदसौर में इतने समय तक खुला बेखौफ घूम रहा था। गिरफ्तार होने के बाद भी उसके चेहरे पर मुस्कान थी, एक ऐसा व्यक्ति जो मंदसौर की जनता के दिल में बसा था उनकी हत्या के बाद क्या हम उनके हत्यारे को खुश और संतुष्ट देख सकते हैं? यह सवाल हमारा पुलिस और मध्यप्रदेश शासन से हैं। हमारी प्रदेश के मुख्यमंत्री जी से मांग है कि इस मामले की सीबीआई जांच कराएं और मामले की जड़ तक पहुंचकर हमें और मंदसौर की जनता को न्याय दिलाए। जब तक इस मामले में सीबीआई जांच नहीं होती है तब तक हम अनशन पर बैठेंगे।”

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts