Breaking News

यातायात विभाग मंदसौर (एक लघु कथा) : पीड़ित ने किया विभाग का स्टिंग आपरेशन

रविवार को हेलमेट ओर गाड़ी के कागज नहीं होने पर जप्त किया वाहन और रसीद सोमवार को देने की बात पर हुआ विवाद

मंदसौर निप्र। इन दिनों नगर का यातयात विभाग गरीब और विशेषरकर ग्रामीण लोगों को परेशान करने के लिये पूरे जिले में प्रसिद्ध हो रहा है। यातायात विभाग की कमान वर्तमान में पुष्पा चौहान के हाथों में है। आये दिन यातायात प्रभारी यातायात नियमों के नाम पर लोगों को परेशान करती है। श्रीमती चौहान विशेषकर ग्रामीण लोगों को ज्यादा यातायात के नियमों को पाठ पढ़ाती नजर आती है।

लेकिन रविवार को जो हुआ वो श्रीमती पुष्पा चौहान को सदैव याद रहेगा। दिल्ली निवासी विरेन्द्र रॉय अपने किसी व्यापारिक काम से मंदसौर आये हुए थे जो अपने मित्र की दो पहिया गाड़ी लेकर कही जा रहे थे तभी यातायात प्रभारी पुष्पा चौहान ने उन्हें गुरारियादेदा के यहॉ से पकड़ा और हेलमेट व गाड़ी के कागज नहीं होने पर 500 रू का चालान काटने को कहा और रसीद सोमवार को ही मिलेगी। तभी श्री रॉय ने कहा कि वे यहॉ के नहीं है और गाड़ी के कागज अपने मित्र को फोन कर मंगवा लेते है ऐसे में श्रीमती चौहान नहीं मानी और उन्हे गाडी सहित शहर यातायात थाने ले आई यहॉ पर भी चालान काटने और रसीद सोमवार को देने की बात को लेकर श्री रॉय और श्रीमती में बहस होती रही। पूरा वाक्या श्री रॉय ने अपने मोबाईल में कैद कर लिया।

श्री रॉय भी नियमों का जानकार था उन्होने भी नियमों का हवाला दिया और कहा कि आप रसीद काट दो लेकिन रसीद आज की डलेगी इस बात को लेकर श्री रॉरू और श्रीमती चौहान में ओर बहस हो गई। अंत में लगभग दो घंटे के ड्रामे के बाद श्रीमती चौहान ने 250 रू की रसीद काटी और गाडी छोड़ दी।

कहानी में आया टिवस्ट
कहानी में टिवस्ट तब आया जब पीडि़त श्री रॉय ने दिनभर में तीन पुलिसवालों को बिना हेलमेट गाड़ी चलाते पकड़ा और उनके पास भी उस समय गाड़ी के कागज नहीं थे इसका श्री रॉय ने पुलिसकर्मियो का स्टिंग ऑपरेशन कर लिया और उसे सोशल मिडिया पर वायरल कर दिया।

नयापुरा रोड़ यातायत प्रभारी की दृष्टि से मंदसौर नगर में नहीं
श्रीमती वौहान की छवि मंदसौरा नगर में अकरू प्रभारी की है। उनसे जब पूछा गया कि आप ग्रामीणो ंको तो खूब परेशान करती हो और नगर के व्यवस्तम् मार्ग नयापुरा रोड़ से दिनभर नो एन्ट्री के समय ट्रक निकलते है इस पर आप कार्यवाही क्यों नहीं करती तो श्रीमती चौहान ने जवाब दिया कि नयापुरा रोड़ उनके कार्यक्षेत्र में नहीें आता।

मंदसौर यातायात विभाग (एक लघु कथा) Sunday Show

Posted by Hello Mandsaur.Com on Sunday, September 17, 2017

 

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts