Breaking News

यूरिया की किल्लत से किसान परेशान

सीतामऊ। क्षेत्र में एक बार फिर यूरिया की किल्लत हो रही है। किसान सहकारी समितियों, दुकानों के चक्कर काट रहे हैं, लेकिन उनको यूरिया खाद नहीं मिल पा रही है। ऐसे में फसल पर प्रतिकूल असर पड़ना शुरू हो गया है। इस समय क्षेत्र में किसान गेहू सरसो व चने फसल को तैयार करने में जुटे हुये हैं। निदाई-गुड़ाई के साथ ही प्रत्येक सीचाई पर खेतों में यूरिया खाद डाली जा रही है। इस समय किसानों को सबसे अधिक आवश्यकता यूरिया खाद की होती है। किसान हर दिन ट्रैक्टर-ट्राली लेकर समितियों के गोदाम पर पहुंच रहा है, लेकिन यहां से उसको निराशा ही हाथ लग रही है। जब फसलो को तैयार करने में किसान जी जान से मेहनत कर रहा है, लेकिन यूरिया खाद नहीं मिलने से फसल की पैदावार पर प्रतिकूल असर पड़ेगा। अधिकारी समय रहते यूरिया की व्यवस्था नहीं कर पा रहे हैं। किसानों को समय से जरूरत के मुताबिक खाद नहीं मिल पा रही है। किसानों का कहना है कि इस समय यूरिया खाद के लिए दिनभर सोसायटी के चक्कर काटने पड़ रहे है। यूरिया की किल्लत से किसानों में हाहाकार मचा हुआ है।। किसानो ने बताया कि यदि विभाग ने जल्द यूरिया की व्यवस्था नहीं की, किसानो की फसलों पर प्रतिकूल असर पड़ सकता है जिससे कहि न कही उत्पादन प्रभावित हो सकता है। 15 किलोमीटर दूर रठाना से आये किसान गोपल ने बताया कि लगातार पांच दिनों से यूरिया के लिए भटक रहा हूं लेकिन अभी तक यूरिया उपलब्ध नही हो पाया है फसल को पानी देना है अब लगता है कि बिना यूरिया के ही काम चलाना पड़ेगा। ऐसे में चुनावी माहौल में सत्ता पक्ष द्वारा किसानों की लिए किए गए बड़े बडे दावे खोखले साबित होते नजर आ रही है। वही विपक्ष की आवाज भी किसानों के हित मे कहि सुनाई नहीं दे रही है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts