Breaking News

रतलाम से मंदसौर आ रही बस खाई में गिरी

रतलाम से मंदसौर जा रही बस नामली के पास बारा पत्थर इलाके में पानी से भरी एक खदान में डूब गई। दुर्घटना में 14 लोगों की मौत की सूचना है और 17 यात्री घायल हो गए। हादसा शुक्रवार सुबह 10:30 बजे के करीब हुआ।
जानकारी के मुताबिक बस तेज रफ्तार में थी और अचानक पलटते हुए सीधे खाई में जा गिरी। यात्री बचकर बाहर निकल पाते इससे पहले ही बस गहराई में डूबने लगी। सूचना मिलते ही स्थानीय लोग घटनास्थल पर पहुंच गए और उसमें रस्सी बांधकर जेसीबी से बाहर निकालने की कोशिश की। कुछ शवों को बाहर निकाला गया और करीब 10 से ज्यादा घायलों को रतलाम रेफर किया शुक्रवार सुबह जा रही बस का अचानक स्टेयरिंग फेल हो जाने के कारण वह बारा पत्थर खदान में करीब 60 फीट गहरी खाई में गिर गई। हादसा करीब साढे 10 बजे का है, बस में 50 से 60 यात्री सवार थे, जिसमें अधिकांश नौकरी पेशे वाले अप-डाउनर्स है। रतलाम कलेक्टर बी. चंद्रशेखर ने मरने वालों की संख्या 14 बताई है। घायलों में 15 लोग शामिल हैं। जबकि प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक मृतकों का आंकड़ा और भी बढ़ सकता है।

जिला प्रशासन का राहत दल मौके पर बचाव कार्य में जुटा है। मौके पर प्रशासनिक बड़े अधिकारी हादसे के एक घंटे बाद तक नहीं पहुंच पाए। वहीं सूचना के बाद परिजनों का मौके पर पहुंचने का तांता लग गया है। चीख और चीत्कार से नामली वासियों का भी दिल पसीज गया। राहत कार्य में तीन जेसीबी और एक क्रेन लगी है।

थाना प्रभारी वीके विश्वकर्मा ने बताया कि रतलाम से जावरा एक बस जा रही थी, अचानक स्टेयरिंग फेल होने से बारा पत्थर खदान में करीब 50 फीट की ऊंचाई से खाई में गिर गई। सूचना के बाद पुलिस और राहत दल मौके पर पहुंच गया। जेसीबी और तेराक द्वारा खाई के पानी में डूबे यात्रियों को निकालने का प्रयास किया जा रहा है। करीब दस लोगों को बाहर निकाला जा चुका है। जिसमें चार की मौत हो गई है। बस अधिकांश सुबह रोजाना नौकरी पर जाने वाले सरकारी कर्मचारी है। बस में 50 से 60 यात्री सवार होना बताया गया है।

PM मोदी ने रतलाम बस हादसे पर जताया दुख
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रतलाम बस हादसे पर दुख व्यक्त किया है। मोदी ने ट्वीट कर बस दुर्घटना में मारे गए लोगों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की है, वहीं घायलों के जल्द स्वास्थ्य लाभ की कामना की है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को सुबह हुए रतलाम बस हादसे पर गहरा दुख व्यक्त किया है। उन्होंने ट्वीट करके अपनी संवेदना व्यक्त की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह ट्वीट दिल्ली से भोपाल के लिए रवाना होने से पहले किया है। इसके बाद वे भोपाल के लिए रवाना हो गए।

आंसू भरकर बोला परिजनों से कराओ बात
जावरा आबकारी विभाग में पदस्थ बस में सवार हिमांशु दुबे ने बताया कि वह रतलाम में रहते हैं और रोजाना अपडाउन करते है। वह सुबह बस में सवार होकर जावरा जा रहे थे। इसी दौरान नामली हाईवे पर बारा पत्थर खदान के आधा किलोमीटर पहले बस डगमग होकर चलने लगी। सभी चिल्लाने लगे, बचाओ-बचाओ और बस खाई में कूद गई।

यह है घायल
हादसे में बस से बाहर निकाले घायल संदीप 16 पिता विनोद सोलंकी, मुकेश वर्मा 25 पिता भरतलाल निवासी पंचेड़, सज्जनबाई 40 पति हीरालाल निवासी कंचनखेड़ी, शोभा बाई 45 पति हरीराम निवासी रतलाम, रविंद्र 25 पिता भारत सिंह , आशीष पिता अंबाराम सभी घायल होकर जिला अस्पताल में भर्ती हुए है।
शवों को निकालने में हो रही परेशानी
भोपाल और इंदौर से रेस्क्यू टीम रवाना हुई है। तीस फीट गहरी खाई होने से जिला राहत दल को शव निकालने में परेशानी हो रही है। ग्रामीण शव निकाल रहे हैं। पानी में शव के लिए लिए मेडिकल किट में मास्क और जेंडर उपकरण नहीं होन से दिक्कत आ रही है। जिस कारण गहराई में तैराक नहीं जा रहे हैं। हाल में एक शव निकला है और भी शव निकलने की संभावना है। यह है मृतक मेवासा निवासी धर्मेंद्र निनामा, उनखेड़ी निवासी रवि बलाई, भलोद निवासी महिराज सिंह, बरबोदना निवासी देवेंद्र है।
मृतकों में से इनकी हुई शिनाख्त
हादसे में चार मरने वालों में तीन की पहचान जावरा निवासी दीनदयाल गुजारती (45), धौसवास निवासी रौनक पिता सत्यनारायण और डाबरा निवासी दिनेश (30) पिता अंबाराम गुजराती के रूप में हुई है। जबकि घायल नामली निवासी आशीष पिता अंबालाल, विक्की (25) पिता हीरालाल जाट,, हिमांशु (28) पिता रमेश दुबे, उज्जेन निवासी मीनू बाई पति मदनलाल सोनी, रतलाम निवासी आशा बाई पति मोहनलाल चौहान, नामली निवासी गब्बर पिता गोविंद परिहार, रतलाम निवासी रमेश पिता नागवा घायल होकर स्थानीय अस्पताल में भर्ती हुए है। चिकित्सा सेवा में डॉ. राजेश मंडलोई और नरेंद्र जाटव जुटे हैं।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts