Breaking News

राजस्थान से मंदसौर लाए 196 किलो एसिटिक एनहाईड्राईट जांच में जुटी पुलिस

अफीम से हेरोइन बनाने में उपयोग एसिटिक एनहाईड्राईट होता है

मंदसौर। वायडी नगर पुलिस ने अफीम से हेरोइन बनाने के लिए उपयोग में आने वाला 196 किलो एसिटिक एन हाइड्राइड जब्त किया है। इस मामले में चार आरोपित गिरफ्तार किए गए हैं। साथ ही केमिकल को परिवहन करने के उपयोग में लाइ जा रही मारुति वैन भी जब्त की गई है। बताया जा रहा है कि वैन में राजस्थान से केमिकल लेकर मंदसौर में किसी जाहिद को देने आए थे। इसमें मंदसौर शहर के कुछ मेडिकल संचालकों की भूमिका भी संदिग्ध मानी जा रही है

राजस्थान के कपासन क्षेत्र से मंदसौर में बड़ी मात्रा में एसिटिक एनहाईड्राइट सप्लाईकरने वाले आरोपियों से पुलिस यह तलाश करने में लगी है कि मंदसौर में वह यह मादक पदार्थ बनाने का एसिटिक कहा देने वाले थे। मामले में पुलिस ने चौथे आरोपी को भी पकड़ लिया है। चारों आरोपियों को न्यायालय में पेश किया। इनका पांच दिन का रिमांड मिला है। 11फरवरी तक पुलिस इनसे पूछताछ कर मालवा में इस स्मैक बनाने के लिए उपयोग होने वाले केमिकल की सप्लाईकरने वाले गिरोह की जड़े तलाशने का काम करेगी।

एएसपी सुंदरसिंह कनेश ने बताया कि महू-नीमच राजमार्ग पर वायडी नगर थाने के टीआई विनोदसिंह कुशवाह, उपनिरीक्षक कमलसिंह मंडलोई, उपनिरीक्षक अमितसिंह कुशवाह सहित टीम ने पिकअप (आरजे 37 जीबी 8055) व मारुति वैन (आरजे 27 यूए 4026) को रोककर जांच की। इसमें तीन प्लास्टिक की केनो में भरा 196.920 किलो एसिटिक एन हाइड्राइड जब्त किया। मौके से तीन आरोपित मांगीलाल पिता शंकरलाल सालवे निवासी रेवलिया खुर्द जिला चित्तौड़गढ़, जगन्नाथ पिता मालाराम रावत निवासी लसूड़िया जिला उदयपुर तथा लालूराम मेघवाल पिता किशोर मेघवाल निवासी धूडिया उदयपुर को गिरफ्तार किया गया। एक आरोपित पप्पू उर्फ पुखराज जाट (46) निवासी गोदियाना कपासन जिला चित्तौड़गढ़ मौके से फरार हो गया। उसे बाद में गिरफ्तार कर लिया गया। पुुलिस द्वारा आरोपितों के कब्जे से चार मोबाइल भी जब्त किए गए। चारों आरोपितों के विरुद्घ थाना वायडी नगर में एनडीपीएस एक्ट की धारा 9 ए 25 ए के तहत प्रकरण दर्ज कर विवेचना में लिया गया है।

मोबाईल से सुराग की तलाश में पुलिस
चारों आरोपियों का 11 तक का रिमांड मिला है तो चारों के पास से मोबाईल भी जप्त किए है। इनसे पुलिस मादक पदार्थ स्मैक तैयार करने वाले इस एसिटिक एनहाईड्राइट की सप्लाई में शामिल पूरे गिरोह तक पहुंचने की जुगत में है। ऐसे में पुलिस को जप्त किए मोबाईल से अहम सुराग हाथ लगने की उम्मीद है। बताया जाता है कि 2 लीटर एसिटिक एनहाईड्राइट से 1 किलो स्मैक तैयार की जा सकती है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts