Breaking News

रात में कार के काॅंच फोडने वाले सलाखों के पीछे

Story Highlights

  • नगर का अमन चेन लूटने कि नाकाब हरकत करने वालों को पुलिस ने पकड़ा, बाईक भी कि जब्त

मंदसौर निप्र। गत् 28 जून कि रात्रि को नगर के विभिन्न क्षेत्रो में खड़े चार पहिया वाहनों को क्षतिग्रस्त कर नगर की शांत फिजा में जहर घोलने का प्रयास करने वाले दो आरोपियों को पुलिस ने आखिरकार धरदबोच लिया।

जिला पुलिस कंट्रोल रूम पर आयोजित पत्रकारवार्ता में इस बड़ी एवं गंभीर घटना का खुलासा करते हुए जिला पुलिस कप्तान मनोज सिंह ने बताया कि घटना को अंजाम देने वाले स्वप्निल उर्फ हनी सोनी पिता कैलाश सोनी 19 वर्ष एवं योगपाल सिंह उर्फ कुलदीप पिता दलपतसिंह सिसौदिया 19 वर्ष दोनों निवासी अभिनंदन काॅलोनी मंदसौर को पुलिस टीम ने धरदबोचा पुलिस कप्तान के अनुसार अभियुक्तों द्वारा घटना को योजनाबद्ध तरीके से अंजाम दिया गया था। घटना के पूर्व दोनों आरोपियों ने शराब का सेवन कर रात्रि में लगभग 3 बजे नगर के विभिन्न क्षेत्रों में मकानों के बाहर खड़े चार पहिया वाहनों को निशाना बनाकर पत्थरों से गाड़ीयों के काॅच फोड दिये थे। इस घटना के बाद शहर में सद्भाव व एकता की फिजा खराब हो सके। आपने बताया कि घटना में प्रयुक्त की गई मोटर साइकिल को भी जब्त किया गया है। घटना को अंजाम देते समय एक आरोपी को चोट भी लगी थी जिसके कारण उस पर शर्ट में खून के धब्बे लग गये थे जिसे अभियुक्तों ने मिटायें है। इनमें से एक अभियुक्त पूर्व में लूट व हत्या का आरोपी रहा है। इन दोनों आरोपियों को पकड़ने के लिये सीसीटीवी कैमरे के फुटेज प्राप्ति किये अन्य तकनीकी सहयोग लिया गया, मुखबीर तंत्र को लगाया गया, फुटेज को सोशल मिडिया के माध्यम से आमजन तक पहुॅचाया गया। इन प्रयासों के कारण ही संदिग्धों के हुलिये से मिलते जुलते व्यक्तियों की जानकारी पुलिस तक पहुॅचने लगी और दोनों आरोपीयों तक पुलिस ने पहुॅचकर उन्हें धरदबोचा।
चालिस रूपये के पेट्रोल से क्षतिग्रस्त किये चालिस वाहन
तोड़फोड़ के आरोप में पुलिस ने जिन दो आरोपियों को धरदबोचा है उन्होने घटना से पूर्व सागर चौपाल से चालिस रूपये का पेट्रोल भरवाकर नगर के विभिन्न क्षेत्रों में लगभग चालिस चार पहिया वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया। स्मरण रहें कि घटना के बाद नगर के विभिन्न संगठनों ने पुलिस प्रशासन के विरूद्ध आक्रोश व्यक्त करते हुए जन आंदोलन की धमकी भी दी थी।

युवकों से बड़ा कृत्य उनका जिन्होने पूरे दिन नगरवासियों को तनावपूर्ण माहौल दियाएक्या सत्ताधारी पार्टी के लोगो को पुलिस पर भरोसा नहीं था जो बंद करवाकर जनता को परेशान किया गया . सोमिल नाहटा
विगत् दिनों रात्रि में नगर के कई क्षेत्रों में कुछ युवकों द्वारा चार पहिया वाहनों में तोड़ फोड़ की गई थी। जो कि वाकई में बहुत शर्मनाक हरकत थी और उस समय भी कांग्रेस और युवक कांग्रेस ने इसकी कडी निंदा की थी।
उक्त बात कहते हुए युवा कांग्रेस लोकसभा अध्यक्ष सोमिल नाहटा ने कहा कि इस तोड़फोड़ के घटनाक्रम के बाद भाजपा के लोगों और कुछ संगठनों के नेताओं ने नगर में चक्काजामएथाने का घेराव व बंद जैसे निंदनीय कार्य करवाये। इन लोगो ने इस घटना के बाद शहर की शांति फिजा को बिगाढ़ने का पूरा प्रयास किया। यह लोग इस तरह थाने का घेराव कर रहे थे जैसे यह मन बनाकर आये हो यह कृत्य किसी धर्म विशेष के लोगों ने किया हो। यह लोग केवल धर्म के नाम पर राजनीति करते है ऐसा नहीं होना चाहिए अपराधी अपराधी होता है और उसे केवल अपराध की नजर से ही देखना चाहिए।
युवक कांग्रेस इन लोगों से पूछना चाहती है कि जब नगर के लोग किसान आंदोलन की आग और कफ्ूर्य को झेल रहे थे रोजमर्रा की वस्तुओं को तरस रहे थेएआंदोलन में व्यापारियों के साथ जो घटनाएॅ घटित हुई तब ये लोग कहाॅ थे घ् सोमिल ने कहा कि जो युवक पकडाये है वह हमारे बीच के ही है उनका यह कृत्य भटकाव के कारण हुआ है इस घटना के बाद अंदाजा लगाया जा सकता है कि हमारी युवा पीढी में आज कितना भटकाव आ गया है। यह युवक कोई आदतन अपराधी नहीं है आज हमें अपनी युवा पीढी को सही दिशा देने की जरूरत है। इन युवको ंसे बड़ा जुर्म तो उन लोगों का है जिन्होने पूरे दिन नगर की जनता को तनावपूर्ण वातावरण में रखा। क्या सत्ताधारी पार्टी के लोगों को अपने शासन की पुलिस व्यवस्था पर भरोसा नहीं था जो उन्होने बंद जैसा कार्य किया।
ऐसी घटनाएॅ जिससे शहर की फिजा बदल जायें ऐसी घटनाओं पर राजनीति करना बिल्कुल भी सही नहीं है। कांग्रेस और युवक कांग्रेस ऐसी राजनीति की कड़ी निंदा करती है। सोमिल ने कहा कि मंदसौर की जनता को धन्यवाद कि इस घटना के बाद कोई अप्रिय घटना घटित नहीं हुई है। जाति एधर्मएसमुदाय से उपर उठकर राजनीति करना चाहिए लेकिन इस घटना के बाद से भाजपा के लोगों ने बता दिया कि वे केवल धर्म की राजनीति करते है। सोमिल ने कहा कि अब जनता भाजपा के जनप्रतिनिधियों व भाजपा के नेताओं को दोगले चेहरों से वाकिफ हो गई है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts