Breaking News

लूटेरों के हौंसले बुलन्द, फिर लूटा व्यापारी से नोटो से भरा बैग, दिनदहाड़े हुई घटना

मंदसौर निप्र। शुक्रवार को भावगढ़ करजू के बीच हुई साढे पाॅच लाख रूपये की लूट की घटना की चर्चा हो ही रही थी कि शनिवार को मंदसौर बस स्टेण्ड पर दो बदमाशों ने एक व्यापारी से पचास हजार का बैग छीनकर औझल हो गये। इन घटनाओं से ऐसा प्रतित होता है कि लूटेरों के हौंसले बुलन्द है और उन्हें पुलिस का किसी प्रकार का खौफ नहीं है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार को प्रातः लगभग 11 बजे सुवासरा के बीड़ी व्यवसायी श्यामसुन्दर मुनिया उम्र 40 वर्ष अपने व्यवसाय के सीलसीले में मंदसौर आये थे व उनके पास पचास हजार रूपये नगद थे जो बैग में रखे थे बैग को कंधे पर लटाकर श्री मुनिया बस स्टेण्ड के पीछे अतिव्यस्त मार्केट से गुजर रहे थे कि तभी बाईक पर सवार होकर आये दो अज्ञात लूटेरों ने उनसे बैग छिनकर बाईक से फरार हो गये। अचानक हुई घटना से हतप्रद व्यापारी ने लूटेरो के पीछे भी दौड़ लगाई लेकिन तब तक लूटेरे फरार हो चुके थे।
हालांकि शाम 7 बजे तक शहर कोतवाली मंे लूट का कोई प्रकरण दर्ज नहीं होने की बात कही जा रही थी साथ हि यह भी बताया गया कि फरियादी थाने जरूर आया था व 30 से 40 हजार रूपये लूटने की बात बता रहा है। अभी फरियादी साहब के साथ गया हुआ है। साहब व फरियादी के आने के बाद ही प्रकरण दर्ज हो सकेगा।

सीसीटीवी कैमरे में कैद हुए लूटेरे

दिनदहाड़े हुई लूट की यह घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद जरूर हुई और दिनभर सोशल मिडिया पर घटना सचित्र चलती रही। जिसको देखकर ऐसा लगता है लूटेरे बहुत ही शातिर थे जिन्होने दिनदहाड़े लूट की घटना को अंजाम दिया है व लूटेरे कहीं न कही लूट के शिकार हुए व्यापारी की हर गतिविधियों से परिचित थे।

लूटेरों के हमले से घायल बैंक केशियर रैफर, माॅ कि सदमे से मौत
शुक्रवार को भावगढ़ करजू के बीच सेन्ट्रल ग्रामीण बैंक के केशियर मुकेश साखी पर प्राण घातक हमलाकर गंभीर रूप से घायल करने के बाद लूटेरे फरार हो गये थे जिनका अभी तक कोई सुराग नहीं लगा है। वहीं गंभीर रूप से घायल श्री साखी को शुक्रवार की शाम ही उपचार हेतु अहमदाबाद रैफर कर दिया गया। वहीं अपने बेटे के साथ हुई लूट की व प्राणघातक हमले की जानकारी जब श्री साखी की माॅ को लगी तो सदमे के कारण वे चलबसी।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts