Breaking News

लॉ कालेज का सात दिवसीय शिविर सम्पन्न

जीवन में छात्र छात्राओं को जब भी अवसर मिले रचनात्मक गतिविधियों में अवश्य भागीदारी करनी चाहिए – श्री बंधवार

मंदसौर। श्री जवाहरलाल नेहरू विधि महाविघालय के द्वारा  30 जनवरी से ग्राम धारियाखेडी में राष्ट्रिय सेवा योजना के सात दिवसीय शिविर का आयोजन किया जारहा था।  सोमवार को इस शिविर का समापन हुआ। समापन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में जनपद पंचायत अध्यक्ष शांतिलाल मालवीय शामिल हुए। कार्यक्रम की अध्यक्षता महाविघालय ट्रस्ट के पदेन अध्यक्ष नपाध्यक्ष प्रहलाद बंधवार ने की। कार्यक्रम में महाविघालय ट्रस्ट के सचिव सुखलाल पाटीदार, प्राचार्य डॉ एन के जैन, सरंपच प्रतिनिधि नेपालसिंह सिसौदिया, किसान मोर्चा नेता दिलीपसिंह मंचासीन थे। अध्यक्षीय उद्बोधन में नपाध्यक्ष व लॉ कालेज के पदेन अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार ने कहा कि छात्र छात्राओं के जीवन में इस प्रकार के शिविर व्यक्तित्व विकास का कार्य करते है। जीवन में छात्र छात्राओं को जब भी अवसर मिले रचनात्मक गतिविधियों में अवश्य भागीदारी करनी चाहिए। शिविराथियों ने सीमित साधन व सीमित समय में गॉव में स्वच्छता काजो कार्य किया है वह सराहनीय है। एसएसएस संस्था में कार्य करने वाले छात्र स्वयं सेवक समाज में समाजसेवा की प्ररेणा बन सकतेे है। लॉकालेज के  विघार्थीयो का यह शिविर सफल रहा है मै महाविघालययय टस्ट काअध्यक्ष होने के नाते विघार्थियो को बधाई देता हॅुॅ। जनपद पंचायत अध्यक्ष शांतिलाल मालवीय ने कहा कि मै इसी गॉव में पला बढा और आज जनपद का नेतृत्व कर रहा हूॅ गॉव का नागरिक होने के नाते मै सभी ग्रामवासियों की ओर से विघार्थीयो को घन्यवाद देता हॅू जिन्होने  यहा शिविर में रहकर गॉव के हित के लिये कार्य किया। मैने भी एनएसएस के शिविरो में भागीदारी की है। महाविघालय टस्ट के सचिव श्री पाटीदार ने भी अपने विचार रखे कार्यक्रम में स्वागत उदबोधन डॉ एन के जैन ने दिया। अतिथियो का स्वागत कार्यक्रम अधिकारीगण डॉ राजेश कोशिक, नीति निपुणा सक्सेना, नेहा दिक्षित, सुनिल बडोदिया, डॉ सीमा श्रीमाल, प्रध्यापक डॉ क्षितिज पुरोहीत, डॉ कुणाल शक्तावत, विघार्थीगण सिल्की फरक्या, दिपक माण्डोकर, ईश्वर चौहान विश्णु पाटीदार, संजय राठौर, सौरभ जैन, पियुष राठौर, पंकज नागदा शमीना खान सैफी, मनीश शर्मा, मनोहर पंवार आदि थै। कार्यक्रम में स्वामी विवेकानंद के चित्र पर माल्यार्पण भी किया। कार्यक्रम में छात्र स्वयं सेवको ने शिविर के अनुभव भीअतिथियो को बताये।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts