Breaking News

वाल्मीकि के जीवन से सीखने को बहुत कुछ मिलता है : सकल वाल्मीकी समाज ने धूमधाम से मनाई महर्षि वाल्मीकि जयंति

मन्दसौर। सकल वाल्मीकी समाज मंदसौर द्वारा महर्षि वाल्मीकि जयंति को धूमधाम से मनाया गया। गांधी चौराहा स्थित श्याम बाबा ओटले पर आयोजित कार्यक्रम में संत वाल्मीकि के चित्र पर अतिथियों एवं समाजजनों ने दीप प्रज्जवलित कर एवं माल्यार्पण कर उनके कार्यों को याद किया गया।
इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में समरसता मंच के विनोद मेहता, मीसाबंदी संगठन के जिलाध्यक्ष हंसराज कबाड़ी, पं. अरूण शर्मा, समरसता मंच जिलाध्यक्ष जितेन्द्र गेहलोद, रामलाल लोदवार, के.सी. सौलंकी, रविन्द्र पाण्डे, पत्रकार ब्रजेश आर्य उपस्थित थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता ईश्वर गोसर एवं संजय रील ने की। अतिथियों ने कहा कि वाल्मीकि के जीवन से बहुत सीखने को मिलता है, उनका व्यक्तित्व साधारण नहीं था उन्होंने अपने जीवन की एक घटना से प्रेरित होकर अपना जीवन पथ बदल लिया जिसके फलस्वरूप वह पूज्यनीय बन कये।
स्वागत उद्बोधन देते हुए पटेल मुकेश चनाल ने कहा कि महर्षि वाल्मीकि ने अपने जीवन से सभी को ज्ञान दिया है उससे प्रेरणा लेकर मनुष्य बुरे कर्म छोड़ कर सत्कर्म में मन लगाये। आपने वाल्मीकी के जीवन पर प्रकाश डाला तथा उनके बताये मार्ग पर चलने की बात कही।
अतिथियों का स्वागत वाल्मीकी समाज के वरिष्ठजनों एवं युवाजनों ने किया। इस अवसर पर प्रकाश मकवाना, राजाराम तंवर, चौधरी नरेश परमार, चेतन गन्छेड़, प्रकाश तंवर, मनोहर तंवर, बाबूलाल हंस, जीवन गोसर, श्याम केसरिया, जीवन तंवर, चौधरी, बसंत परमार, विजय  परमार, भोपेश घारू इंजीनियर, रमेश खेरालिया, घीसालाल केसरिया, रमेश रील, शक्ति डागर, सनी डागर, राकेश नकवाल, ललित कोदवी, संतोष गोसर, मनीष घारू, सुदेश गोसर, नीतेश घारू, गोपाल खोखर, आकाश हंस, अजय खोखर, रोहित तंवर, विजय खोखर, जेकी गोसर, अर्जुन तंवर, संजय तंवर, किशोर सलौद सहित बड़ी संख्या में समाजजन उपस्थित थे। संचालन चौधरी बसंत परमार ने किया एवं आभार मनोहर तंवर ने माना।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts