Breaking News

व्यापारी के परिजनो ने थाने पहुंच, पुलिस से मांगा न्याय

मंदसौर । रविवार को खानपुरा क्षेत्रमें मंडी व्यापारी द्वारा फांसी लगाकर आत्महत्या करने के मामले में पुलिस की जांच एक कदम आगे बढ़ी है। पुलिस को मिले सुसाईड नोट में मृतक व्यापारी के दो पार्टनरों के नाम सामने आए है। अब पुलिस उनसे पूछताछ करते हुए उनसे हिसाब मंगवाने की बात कह रही है। इधर मृतक के परिजन सोमवार को दोपहर में कोतवाली थाने पहुंचे और उन्होंने न्याय की मांग करते हुए ज्ञापन सौंपा।पुलिस को प्राथमिक रुप से व्यापारी का पार्टनरों से बड़ी राशि का लेन-देन का मामला लग रहा हैऔर इसी के लिए व्यापारी दबाव में था। इसी कारण उसने आत्महत्या की। हालांकि मिले सुसाईड नोट के आधार पर पुलिस आगे की जांच करने की बात कह रही है।

परिजन गए थे बही पाश्र्वनाथ
कृषि उपज मंडी में व्यापारी मनीष (35) पिता नरेंद्र जैन निवासी खानपुरा ने रविवार को साड़ी का फंदा बनाकर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी।म़ृ़तक मनीष मूलत: जावद के बावल ग्राम का निवासी था। करीब चार साल से यहां मृतक मंडी में व्यापार कर रहा था। व्यापार में नरेंद्र अग्रवाल, रोहित अग्रवाल, मनीष गर्ग उसके पार्टनर थे।रविवार सुबह ११ बजे मृतक मनीष मंडी गयाथा। फिर वहां करीब एक घंटा रुक कर बिना बताए चला गया था। घर पर मृतक अकेला था। परिजन उस समय बही पाश्र्वनाथ गए हुए थे। इसी दौरान उसने फांसी लगाईथी।

थाने पहुंचकर परिजनों ने पुलिस से मांगा न्याय
कोतवाली थाने पर पहुंचे मृतक मंडी व्यापारी के परिजन व रिश्तेदारों ने टीआई के नाम सौंपे ज्ञापन में कहा कि मनीष जैन पिछले कईदिनों से उसके साथ व्यापार करने वाले पार्टनर नरेंद्र अग्रवाल, रेाहित अग्रवाल, मनीष गर्ग उस पर दबाव बना रहे थे। इसी कारण मनीष ने यह कदम उठाया।मनीष जैन २० लाख रुपए मांगता थ। इसके कारण पार्टनर द्वारा पैसा नहीं दिया जा रहा था और प्रतिदिन धमकाया जा रहा था। धमकियों के साथ बनाया जा रहे दबाव से परेशान होकर मनीष ने आत्महत्या की।उन्होंने दोषियों पर कार्रवाईकी मांग करते हुए मृतक को न्याय दिलाने की मांग की है। पुलिस ने भी परिजनों को मामले में प्रकरण दर्ज करने का भरोसा दिया है।

जिनके नाम है उनसे करेंगे पूछताछ
पुलिस को एक सुसाईड नोट मिला है। इसमें नरेंद्र अग्रवाल व मनीष गर्ग के नाम लिखे है। जिनसे मृतक ने बड़ी लेनदेन की बात लिखी है और दोनों पर घर आकर मारने और धमकी देने के अलावा प्रताडि़त करने की बात लिखी है। इनके द्वारा लूट लिए जाने की बात कही है। इसी से परेशान होकर आत्महत्या करना सामने आया है। दोनों से पूछताछ करेंगे। इनसे हिसाब मंगवाएंगे।
– राकेश मोहन शुक्ल, सीएसपी, मंदसौर

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts