Breaking News

शहीद किसान सत्यनारायण धनगर की प्रतिमा का हुआ लोकार्पण

शहीद सत्यनारायण धनगर किसानों की आर्थिक मजबूती के पक्षधर थे

मन्दसौर । जिले के ग्राम लोद के किसान शहीद सत्यनारायण धनगर की कुर्बानी व्यर्थ नहीं जाएगी। वे आम किसानों की आर्थिक आजादी के पक्षधर थे। केन्द्र व मध्यप्रदेश की सरकार किसानों को दूगना लागत मूल्य दिलाने के लिये आगे आए, केवल उनकी उपज की कीमत दिलाने से काम नहीं चलेगा।

ये उद्गार किसान नेता धनगर गायरी समाज के प्रांतीय उपाध्यक्ष कचरूलाल चड़ावत, धनगर समाज के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष विक्रम विद्यार्थी, पाटीदार समाज सरदार पटेल युवा संगठन पूर्व जिलाध्यक्ष कमलेश पटेल, जिला पंचायत के पूर्व सदस्य अशोक खींची पिपलियामंडी, ने ग्राम लोद में शहीद सत्यनारायण धनगर की प्रतिमा के लोकार्पण अवसर पर कही। उन्होने कहा कि केन्द्र एवं राज्य की सरकारें किसानों, मजदूरों, दलित, आदिवासियों, पिछड़े वर्ग  के लोगों की तुलना में पैसे वालों, माफियाओं की पक्षधर अधिक नजर आती है। किसान नेताओं ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने अपनी घोषणा अनुसार शहीद किसानों के परिवार को अभी तक शासकीय नौकरी नहीं दी। इस संबंध में आने वाले समय मे धरना प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री का ध्यानाकर्षण किया जाएगा। जब तक किसानों को अपनी फसलों का लाभप्रद मूल्य नहीं मिलता तब तक किसानों ने संघर्ष जारी रखने का संकल्प लिया।

ज्ञातव्य है कि 6 जून को सत्यनारायण धनगर को बही पार्श्वनाथ चौपाटी पर पुलिस गोली के शिकार हुए थे। इस दौरान कन्हैयालाल पाटीदार (चिल्लोद पिपल्या), अभिषेक पाटीदार (पंथ बरखेड़ा), पूनमचंद पाटीदार (टकरावद), चेनराम पाटीदार (नयाखेड़ा-नीमच) भी पुलिस गोली से  शहीद हो गये थे। इस किसान आंदोलन में घनश्याम धाकड़ ने भी पुलिस पिटाई के कारण अपनी जान गंवा दी।  इस अवसर पर स्व. अभिषेक पाटीदार के पिता श्री दिनेश पाटीदार, स्व. घनश्याम धाकड़ के पिता दुर्गाशंकर पाटीदार एवं स्व. कन्हैयालाल पाटीदार के भाई जगदीश पाटीदार, ग्राम के पूर्व सरपंचद्वय दशरथ कुमावत, रामचन्द्र धनगर के अलावा बड़ी संख्या में महिला, पुरूष व बच्चे भी उपस्थित थे। अंत में 2 मिनिट का मौन रखकर ग्रामवासियों ने शहीद किसानों को श्रद्धांजली दी।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts