Breaking News

शिवना नदी में सात किमी के क्षेत्र का एवं विभिन्न गलि मोहल्लों का गंदा पानी मिल रहा है

विधायक सिसौदिया ने कलेक्टर को पत्र लिखकर चर्चा की, नपा भी करेगी निर्णय

मंदसौर। शहर के मध्य भगवान पशुपतिनाथ मंदिर के घाट क्षेत्र एवं लगभग 5 से 7 किमी के क्षेत्र में शिवना नदी में विभिन्न मोहल्लो एवं गलियों का गंदा पानी अब नही मिलेगा , शीघ्र ही इसे रोकने के लिये विस्तृत कार्ययोजना अमलीजामा पहनाया जायेगा, गंदे पानी को शहर कि सीमा से बाहर ले जाकर छोड़ा जायेगा । इस आशय का पत्र विधायक यशपालसिंह सिसौदिया ने कलेक्टर ओम प्रकाश श्रीवास्तव को 8 मई को लिखा था और आज इस संबंध में उन्होने चर्चा की । पत्र में विधायक श्री सिसौदिया ने कहा कि मुक्तिधाम से आगे स्टॉपडेम होने के कारण पानी की निकासी नही होती है और बेक वाटरिंग के रुप में यह पानी बना रहता है । प्रतिवर्ष शिवना शुध्दिकरण, गहरीकरण एवं चौड़ीकरण को लेकर राज्य शासन, जिला प्रशासन, सामाजिक संगठन, जनप्रतिनिधि तथा नगर पालिका भी इसमें अपनी भूमिका का निर्वहन करती है लेकिन ध्यान में आता है कि मंदिर घाट पर पानी भरा है किन्तु छोटी पुलिया के बाद गंदे पानी की निकासी नही है । यह गंदा पानी सीधा नदी में ही आ रहा है । ऐसे में आवश्यकता इस बात है कि पाईपो के माध्यम से या नाला निर्माण से संपूर्ण क्षेत्र के गंदे पानी निकासी लगभग 5 किमी परिक्षेत्र के बाहर किये जाने की आवश्यकता है ।

श्री सिसौदिया ने कहा कि इस संबंध में उचित कार्ययोजना बनाई जाये क्योंकि गत 20 जनवरी को दलौदा में नर्मदा की तर्ज पर शिवना नदी का भी कायाकल्प, सौंदर्यीकरण एवं प्रदुषण मुक्त किये जाने की घोषणा प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कि है । इस दिशा में भी कार्ययोजना हो सकेगी ।

पत्र के बाद गुरुवार को विधायक यशपालसिंह सिसौदिया ने कलेक्टर ओमप्रकाश श्रीवास्तव से मुलाकात भी की और उन्हें तत्काल इस संबंध में कार्ययोजना बनाये जाने का आग्रह किया जिस पर कलेक्टर श्री श्रीवास्तव ने तत्काल सीएमओ नगर पालिका सविता प्रधान से चर्चा की और कहा कि शिवना नदी में मिलने वाले गंदे पानी को रोकने के लिये विस्तृत कार्ययोजना बनाये जाने की आवश्यकता है । इस कार्ययोजना को परिषद की सहमति आवश्यक है इसीलिये तत्काल नपा परिषद का सम्मेलन आहूत कर इस महत्वपूर्ण मामले पर निर्णय करे । विधायक सिसौदिया ने भी नगर पालिका अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार से चर्चा की और साधारण सम्मेलन में इस महत्वपूर्ण मामले पर निर्णय लेने के लिये कहते हुए बताया की आगामी दिनों में प्रदेश के मुख्यमंत्री चौहान का मंदसौर आगमन तय हो गया है । इससे पहले यदि कार्ययोजना पूरी बन गई और तमाम औपचारिकताएं पूरी हो गई तो इस संबंध में मुख्यमंत्री से भी मांग कर उन्हें इस कार्ययोजना के संबंध में अवगत कराया जायेगा । ताकि शिवना शुध्दिकरण के इस महाअभियान में राज्य शासन की भी मदद मिल सके।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts