Breaking News

शिवना सौंदर्यीकरण व अण्डर ग्राउण्ड सिवरेज प्रोजेक्ट के 300 करोड़ की राशि के अभाव में शिवना सौंदर्यीकरण अधूरा

नपा के विशेष सम्मेलन में पार्षद शाकेरा खेड़ीवाला ने कहा

मन्दसौर। शिवना सौंदर्यीकरण एवं शुद्धीकरण के संबंध में आज परिषद् के विशेष सम्मेलन में पूर्व नेता प्रतिपक्ष एवं पार्षद शाकेरा खेड़ीवाला ने परिषद् की बैठक में विचार व्यक्त करते हुए कहा कि शिवना सौंदर्यीकरण एवं शुद्धिकरण का मुद्दा हमारे द्वारा पिछले 10 वर्षों से उठाया जा रहा है। मैंने स्वयं हर बजट बैठक में यह बात उठायी है। देर आये, दुरूस्त आये मान लिया जावे तो भी क्या 12 करोड़ की राशि से सौंदर्यीकरण और शुद्धिकरण का इतना बड़ा कार्य हो पायेगा? पिछले पांच वर्षों से मंदसौर नगर में अण्डरग्राउण्ड सिवरेज व शिवना सौंदर्यीकरण की डीपीआर भोपाल में अटका हुआ है। लगभग 300 करोड़ का मंदसौर नगर का महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट रूका हुआ है। परन्तु नगरपालिका को इसकी कोई परवाह नहीं है। इस महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट पर तत्काल टेण्डर जारी कर कार्यवाही शुरू की जाना चाहिए। ताकि मंदसौर नगर एवं शिवना नदी का कायाकल्प हो सके।
शाकेरा खेड़ीवाला ने कहा कि महाराणा प्रताप बस स्टेण्ड से सीधा भगवान श्री पशुपतिनाथ मार्ग के बीच पुरूषोत्तम राठौर का मकान बाधा बना हुआ है इसको हटाने के लिये आज तक न तो कोई प्रयत्न आपके द्वारा किये गये ना ही अधिग्रहण की कोई कार्यवाही शुरू की गई है। नगरपालिका अध्यक्ष पर आरोप लगाते हुए कहा कि 6 माह पूर्व जब कांग्रेस का धरना इस मुद्दे पर था तब आपने मीडिया को रोड़ चालू करने की झूठी बात बताई व ग्वाला समाज के तीन मकान हटाने की झूठी बात बताई। जबकि वास्तविकता यह थी कि केवल 2 फीट एक चबुतरे का कोना काटा गया था। पुरूषोत्तम राठौर का जो मकान बाधा बना हुआ है उसको हटाये बिना रोड़ चालु हो नहीं सकता। परन्तु 25 करोड़ लागत के पूल बनने के बाद भी धानमण्डी में बन रहे इस मकान की बाधा को आज तक हटाया नहीं जा रहा है। सदर बाजार में रोजाना जाम की स्थिति है एवं भगवान श्री पशुपतिनाथ मंदिर मार्ग चालु नहीं हो पा रहा है।
श्रीमती खेड़ीवाला ने काश्तकार होटल के नीचे नदी पर स्टॉफ डेम बनाने की बात पर भी कहा कि इसके उपर 2 व्हीलर मार्ग बनाया जा रहा है परन्तु नदी किनारे काश्तकार होटल से मुक्तिधाम छोटी पुलिया तक इस मार्ग को क्यों नहीं मिलाया जा रहा है। काश्तकार होटल से नदी किनारे मुक्तिधाम तक रोड़ को मिलाया जाता है तो सीतामऊ फाटक तक जाने वाले लोगों को शार्टकट रोड़ मिलेगा। मंदिर में आने वाले दर्शनार्थियों को भी लाभ मिलेगा व मुक्तिधाम शवयात्रा ले जाने में सहूलियत रहेगी। श्रीमती खेड़ीवाला ने आरोप लगाते हुए कहा कि इस महत्वपूर्ण योजना को केवल इसलिये रोका जा रहा है ताकि राजाराम फेक्ट्री का गंदा पानी नदी में छोड़ने में कोई रोक ना हो व इस फेक्ट्री का अतिक्रमण न हटाना पड़े।
श्रीमती खेड़ीवाला ने कहा कि शिवना नदी के दोनों किनारों पर गार्डन, रिवर फ्रंट, नदी में फंव्वारा लगाना, नौका यान जैसी महत्वपूर्ण व विस्तृत सौंदर्यीकरण की योजना भोपाल में अटकी हुई डीपीआर की कार्यवाही पुरी होने पर ही हो पायेगी। इसके लिये पुरे प्रयास किये जाने चाहिये।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts