Breaking News

श्रद्धा, उत्साह और उमंग से मना प्रकाश पर्व : गुरूनानक जयंती पर शहर में हुआ भव्य लंगर

मंदसौर। शहर के सिक्ख धर्मावलंबियों द्वारा अपने आराध्य गुरूनानकदेवजी की जयंती प्रकाश पर्व के रूप में पूर्ण उत्साह और उमंग के साथ मनाई गई। इस दौरान नई आबादी स्थित गुरूद्वारे के सामने स्थित सिक्ख संप्रदाय के भवना में भव्य लंगर का आयोजन किया गया। गुरूद्वारे में भी भक्तों का आना जाना सुबह से ही प्रारंभ हो गया।

शनिवार को गुरूनानक जयंती के चलते सिक्ख संप्रदाय के बच्चों से लेकर बूढ़ों और महिलाओं तक सभी में व्याप्त उत्साह देखते ही बन रहा था। सभी ने गुरूद्वारे पहुंचकर गुरूग्रंथ साहेब के दर्शनों किए, साथ ही यहां चल रहे धार्मिक आयोजनों में उत्साह के साथ शिरकत की। सिक्ख धर्म से जुड़ा हर बंदा गुरूनानक जयंती पर नई पौशाक में सजा हुआ था। गुरूद्वारे में वाहे गुरू दा खालसा ते वाहे गुरूजी दी फतेह…., जो बोले सो निहाल सत श्री अकाल…. के जयकारों गूंज रहे थे, तो कोई भजन मंडली के साथ गुरूनानकजी का नाम लेने में मग्न था। इसी धार्मिक वातावरण में दोपहर को यहां लंगर प्रारंभ हुआ, जिसमें सिक्ख धर्मावलंबियों ने तो भाग लिया ही, साथ ही अन्य धर्म के लोगों ने भी प्रसादी ग्रहण कर सांप्रदायिक सोहार्द का उदाहरण पेश किया। षाम तक चले लंगर के पश्चात रात को गुरूद्वारे पर भजन-किर्तन का दौर प्रारंभ हुआ। पूर्णतः पंजाबी भाशा में गाए जा रहे इन भजनों पर कई महिला-पुरूश थिरक उठे। इस दौरान नानक दुखियों दे नाथ वे……….., वाहे गुरू वाहे गुरू वाहे गुरू…… जैसे धार्मिक भजनों ने उत्साह को दुगना कर दिया। अपने आराध्य की जयंती को लेकर बच्चों में भी खासा उत्साह नजर आया।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts