Breaking News

श्रीमती ताराबाई कीमती की देह -दान साहसिक निर्णय, मानव सेवा की मिसाल प्रस्तुत की

मंदसौर। सुश्राविका श्रीमती ताराबाई कीमती के मरणोपरांत देहदान किया गया । लायंस क्लब के माध्यम से उनकी पार्थिवदेह गीतांजली हास्पिटल उदयपुर को दान की गई है। कीमती परिवार ने उनकी देहदान का साहसिक निर्णय लेकर मानव सेवा की मिसाल प्रस्तुत की है।

मंगलवार की रात्रि को श्रीमती ताराबाई कीमती का निधन हो गया था । रात में ही परिवार ने उनकी अंतिम इच्छानुसार देहदान का निर्णय लिया। लायंस क्लब द्वारा इस संबंध में गीतांजली हास्पिटल उदयपुर से सम्पर्क किया गया । जिसके बाद बुधवार को सवेरे गीताजंली हास्पिटल से एक टीम मंदसौर पहुंची तथा देहदान की प्रक्रिया को अंतिम रुप दिया गया ।

बुधवार को श्रीमती ताराबाई कीमती की अंतिम यात्रा उनके मेघदुत नगर स्थित निवास से निकली । इस दौरान बडी संख्या में लोग उन्हें अंतिम बिदाई देने के लिए मौजूद रहे । बाद में शहर के प्रमुख मार्गो से देहदान यात्रा निकली । इस दौरान उनके पुत्र प्रदीप कीमती, प्रमोद कीमती व विनोद कीमती व परिजनों ने अंतिम बिदाई दी तथा श्रीमती ताराबाई की देह गीताजंली हास्पिटल को दान कर दी । बाद में उनकी पार्थिव देह एम्बुलेंस से उदयपुर के लिए प्रस्थान कर दी गई । शाम 4 बजे उनकी पार्थिव देह गीताजंली हास्पिटल उदयपुर पहुंची । गीताजंली के हेडआफ डिपार्टमेन्ट द्वारा इस संबंध में सर्टिफिकेट भी जारी किया गया । सर्टिफिकेट में यह उल्लेख किया गया कि उनकी देह का मेडिकल शिक्षा के इिए उपयोग किया जाएगा ।

अंतिम विदाई के अवसर पर पूर्व मंत्री व विधायक कैलाश चावला, पूर्व मंत्री नरेन्द्र नाहटा, कारुलाल सोनी,एसएम जैन, विजेन्द्र सेठी,अनिल संचेती, डॉ. व्हीएस मिश्र, डॉ. प्रदीप चेलावत, नरेन्द्र मेहता, पारसमल लोढा आदि उपस्थित थे ।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts