Breaking News

श्री पशुपतिनाथ महादेव मंदिर में महाशिवरात्रि की तैयारियां की शुरू

महाशिवरात्रि की तैयारियां की शुरू : गर्भगृह में दिन भर हो सकेगा जलाभिषेक – महिला-पुरुषों की अलग-अलग कतारें होगी

– मंदिर प्रबंध समिति ने एसडीएम व सीएसपी ने सभी व्यवस्थाएं देखी

मंदसौर। महाशिवरात्रि पर चार मार्च को शहर सहित जिले भर में शिवालयों में श्रृद्घालुओं का तांता लगा रहेगा। अंचल के प्रमुख श्री पशुपतिनाथ महादेव मंदिर में लगभग एक लाख श्रद्घालुओं के पहुंचने की संभावनाओं को लेकर तैयारियां शुरू हो गई है। पिछले साल भी यहां लगभग 80 हजार श्रद्घालु दर्शन करने पहुंचे थे। जिला व पुलिस प्रशासन ने अपने-अपने स्तर पर तैयारियां शुरू कर दी है। महाशिवरात्रि पर पूरे दिन श्री पशुपतिनाथ महादेव मंदिर के आस-पास नो व्हीकल जोन बनाया जाएगा। सुरक्षा के लिए पुलिसकर्मियों के साथ होमगार्ड जवान भी तैनात रहेंगे। मंदिर गर्भगृह में पूरे दिन जलाभिषेक चलेगा। गर्भगृह में महिला-पुरुषों को अलग-अलग कतारों में प्रवेश कराया जाएगा।

पशुपतिनाथ मंदिर प्रबंध समिति सचिव एसडीएम एसएल शाक्य, सीएसपी राकेश मोहन शुक्ला व अन्य अधिकारी कुछ दिन पहले ही निरीक्षण कर शिवरात्रि पर होने वाली तैयारियों पर चर्चा कर चुके हैं। इसमें श्रद्घालुओं के प्रवेश, निर्गम के रास्ते, गर्भगृह की व्यवस्थाओं के साथ ही सुरक्षा पर भी चर्चा की। यह तय हुआ कि स्त्री-पुरुषों की प्रवेश द्वार से ही अलग-अलग लाइन लगाई जाएगी। दोनों को गर्भगृह में भी अलग-अलग प्रवेश ही दिया जाएगा। सुरक्षा के लिए पुलिस अधिकारियों के साथ ही जवानों की ड्यूटी भी लगाएंगे। इसमें होमगार्ड जवानों को भी तैनात किया जाएगा। प्रशासन की ओर से आठ-आठ घंटे के लिए तहसीलदारों, नायब तहसीलदारों की मजिस्ट्रियल ड्यूटी लगाई जाएगी। इसके अलावा कलेक्टर व एसपी भी समय-समय पर व्यवस्थाओं का जायजा भी लेंगे।

मंदिर के आस-पास नहीं आने देंगे वाहन

एसडीएम एसएल शाक्य ने बताया कि मंदिर परिसर के आस-पास दोपहिया व चार पहिया वाहनों को नहीं आने दिया जाएगा। चंद्रपुरा तरफ से आने वाले सभी वाहनों की पार्किंग मेला मैदान में कराई जाए। कलेक्टोरेट तरफ से आने वालों वाहनों को पशुपतिनाथ मंदिर छोटी पुलिया के यहां रोककर पार्किंग कराई जाएगी। शहर, खानपुरा, धानमंडी, सदर बाजार, प्रतापगढ़ मार्ग तरफ से आने वाले वाहनों को नई पुल के यहां ही रोका जाएगा। इससे मंदिर के आस-पास अव्यवस्था नहीं होगी।

शिवालयों के पहुंच मार्ग सहित अन्य व्यवस्थाएं भी करें, कलेक्टर को लिखा पत्र

सामाजिक कार्यकर्ता रवींद्र पांडेय ने शहर सहित जिले भर के सभी शिवालयों के पहुंच मार्ग ठीक करने सहित साफ-सफाई, विद्युत आपूर्ति व मंदिरों की उचित सुरक्षा करने की मांग को लेकर एक पत्र कलेक्टर को लिखा है। पांडेय ने लिखा है कि जिले में भगवान शंकर के अति प्राचीन व भक्तों की श्रद्घा के केंद्र शिवालयों में महाशिवरात्रि पर शिवभक्त पूरी रात्रि अभिषेक, पूजन व भजनों से भगवान की आराधना करते हैं। भगवान पशुपतिनाथ मंदिर शिवना तट पर है। और यहीं पर मंदसौर शहर के सारे गंदे नाले शिवना में मिल रहे हैं। इससे यहां आने वाले श्रद्घालुओं को बहुत बदबू आती है गंदे नाले नदी में मिलने से रोकने की भी कोई व्यवस्था नहीं हो रही है। इसके अलावा मंदसौर सहित जिले में लगभग 24 से अधिक शिवालय हैं जहां काफी संख्या में श्रद्घालु पहुुंचते हैं। इनमें भगवान जागेश्वर महादेव मंदिर शहर किला रोड, मारुखेड़ी महादेव दलोदा तहसील, बादाखेड़ी के पास शिव मंदिर, धुधंरीपार महादेव रेवास देवड़ा, चकाभोमहादेव बूढ़ा, कोटेश्वर महादेव सीतामऊ, शिपावरा चंबल-शिप्रा संगम तट पर मंडलेश्वर महादेव, बड़ा महादेव, छोटा महादेव भानपुरा, धर्मराजेश्वर चंदवासा, ऐलवी मंहादेव चंबल-शिवना संगम, वटकेश्वर मंहादेव घसोई चंबल किनारे, सेजपुरिया तलाई वाले महादेव, अमलावद पंगतिया कुआ महादेव, पहेड़ा मगरा शिवगढ़ मल्हारगढ़ सहित प्रसिद्घ व प्राचीन शिवमंदिर है, जहां वर्ष में एक बार भक्तों का सैलाब उमड़ता है। इन सभी प्रमुख शिवालयों पर व्यवस्था कराई जाए।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts