Breaking News

श्री संचेती पुनः गौशाल के अध्यक्ष बने, न्यायलय आदेश पर सौंपा कार्यभार 

मंदसौर निप्र। मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय इंदौर खण्डपीठ के आदेशानुसार श्री गोपालकृष्ण गौशाला के अध्यक्ष पद पर अनिल संचेती ने पुनः कार्यभार ग्रहण कर लिया। गुरूवार को तहसीलदार बी.एस. श्रीवास्तव ने गौशाला कार्यालय मे श्री संचेती को पुनः विधिवत दायित्व सौंपा। म.प्र. शासन के वाणिज्य, उद्योग और रोजगार विभाग के उप सचिव श्री व्ही.के. बरोनिया ने 2 नवम्बर 2017 को आदेश जारी कर गौशाला की वर्तमान शासी निकाय को धारा 33 (1) के अंतर्गत भंग कर कलेक्टर मंदसौर द्वारा नामांकित तहसीलदार मंदसौर को संस्था का प्रशासक नियुक्त कर निर्देशित किया था कि वो संस्था के निर्वाचन एक वर्ष मे आवश्यक रूप से कराकर नवनिर्वाचित शासी निकाय को कार्यभार सौंपे। शासनादेश के परिपालन मे 28 नवम्बर 2017 को तहसीलदार श्री श्रीवास्तव ने गौशाला का कार्यभार सम्भाल लिया था।

गौशाला अध्यक्ष श्री संचेती के अभिभाषक ए.के. सेठी ने शासनादेश को म.प्र. उच्च न्यायालय मे चुनौती दी। म.प्र. उच्च न्यायालय ने पीटीशन क्र. 18052/2017 मे निर्णय पारित करते हुए उद्योग उपसचिव द्वारा जारी गौशाला की शासी निकाय को भंग करने संबंधी आदेश पर स्थगन आदेश जारी कर दिया। आज 14 दिसंबर को श्री संचेती ने माननीय उच्च न्यायालय के आदेश की प्रतिलिपि कलेक्टर श्री ओ.पी. श्रीवास्तव तथा तहसीलदार श्री बी.एस. श्रीवास्तव को सौंपी। माननीय उच्च न्यायालय के आदेश के परिपालन मे तहसीलदार श्री श्रीवास्तव ने दोपहर गौशाला पहुंचकर श्री अनिल संचेती व संचालक मण्डल को पुनः कार्यभार सौंप दिया।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts