Breaking News

संघ ने मनाया विजया दशमी उत्सव, निकला प्रभावी पथ संचलन 

शोर्य और पराक्रम से इतिहास भरा है हमारा -श्री प्रमोद झा

मन्दसौर। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ने कालाखेत विद्यालय प्रांगण में विजया दशमी उत्सव मनाया। कार्यक्रम में नगर संघ चालक श्री सत्यनारायण सोमानी, अतिथि पूर्व जिला न्यायाधीश डॉ. रघुवीरसिंह चुण्डावत, समरसता मंच के प्रांत संयोजक श्री प्रमोद झा मंचासीन थे।
मुख्य वक्ता श्री प्रमोद झा ने अपने उद्बोधन में कहा कि भारत का इतिहास शोर्य और पराक्रम से भरा है। जिसका स्मरण करने की वर्तमान में आवश्यकता है। हजारों वर्षों की परम्परा हम आज भी उत्सव के रूप में उत्साह के साथ मनाते है। तक्षशीला, नालंदा, उज्जैनी ऐसे लगभग 40 शिक्षा केन्द्र भारत में थे। पूरी दुनिया को शिक्षित करने का कार्य भारत ने किया और विश्व गुरू कहलाया। आपने कहा कि परम् पूज्यनीय डॉक्टर सा. ने आज ही के दिन संघ की स्थापना की थी, इसलिये इस दिन का महत्व हमारे लिये और अधिक बड़ जाता है। उनके मन में यह पीड़ा थी कि सोने की चिड़िया और विश्व गुरू कहलाने वाला भारत कैसे अंग्रेजों और मुगलों का गुलाम हो गया। इस प्रकार की परिस्थितियां देश में पुनः निर्मित न हो इसलिये हिन्दू समाज को संगठित कर डॉक्टर सा. ने समाज व राष्ट्र की रक्षा के लिये संघ की नींव रखी।
अतिथियों के द्वारा शस्त्र पूजन के पश्चात् नगर के विभिन्न मार्गों से अनुशासनबद्ध और कदम ताल मिलाते हुए स्वयंसेवकों का पथ संचलन निकला। जिसका अनेक जगह समाजजनों एवं सामाजिक संगठनों व गणमान्य नागरिकों ने पुष्पवर्षा कर स्वागत किया गया। यह जानकारी संघ के प्रचार विभाग द्वारा दी गई।

सीतामऊ में राष्ट्रीय स्वयं संघ द्वारा सीतामऊ निकाला गया प्रभावी पथसँचलन।

राष्ट्र हम्हे देता है सबकुछ हम भी कुछ देना सीखे यह भाव संघ की शाखा में आने वाले स्वयंसेवको के होते है–श्री मनीष जी भावसार।
विजयादशमी के दिन वर्ष1925 में जब राष्ट्र असंख्य चुनोतियो का सामना कर रहा था उस समय की विपरीत परिस्थियों में परम् पूजनीय डॉक्टर केशव बलिराम जी हेडगेवार द्वारा नागपुर में संघ की स्थापना की थी जो आज विश्व का सबसे बड़ा गैरराजनीतिक स्वयंसेवी संघठन है और अपने कड़े अनुशाशन नियमित शाखाओं के दम ओर युवाओ में राष्ट्रभक्ति का भाव का भाव जागृत कर उनके व्यक्तिव को प्रभावी रूप से निखारता है ताकि राष्ट्र पर आने वाली हर विपत्ति में स्वयंसेवक सीना तानकर सबसे पहले खड़ा हो सके, संघ की शाखाओ में राष्ट्र हम्हे देता है सबकुछ हम भी कुछ देना सीखे आदि भाव जागृत करता है उक्त बौद्धिक आज विजयादशमी के अवसर सीतामऊ नगर में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ द्वारा निकाले गए प्रभावी पथसँचलन में संघ के जिला सह कार्यवाह श्री मनीष जी भावसार ने उपस्तित स्वयंसेवको को दिए।। कार्यक्रम की अध्यक्षता सीतामऊ के अधिवक्ता श्री जानकीलाल जी मेहरा ने की साथ ही मंच पर तहसील सरसंघचालक श्री राजेन्द्र जी शर्मा भी विराजित थे।। बौद्धिक पश्चात घोष एवम दण्डवाहिनी के साथ नगर के प्रमुख मार्गों से पथ संचलन निकला जिसका नगर में अनेक स्थानों पर स्वागत किया गया।। पथ संचलन में तहसील एवं जिले के अनेक पदाधिकारी उपस्तित थे जंहा शस्त्रपूजन भी हुवा। पुलिस प्रशाशन रहा चौकन्ना कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के साथ सनवेंदशील स्थानों पर ड्रोन कैमरे की सहायता से की गई निगरानी।।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts