Breaking News

संपादक संघ ने निष्पक्ष जांच तो डोसी ने अपने उपर लगाये जा रहे गलत आरोपो के लिये सौंपा ज्ञापन

मंदसौर। नगर में दो दिन पूूर्व हुई पत्रकारों के हमले को लेकर शुक्रवार को नया मोड़ आ गया। पत्रकार औंकार सिंह और रमेश माली के उपर हुए हमले में नगर के प्रतिष्ठित सीए प्रतिक डोसी का नाम लिया जा रहा था जिन्होने भी शुक्रवार को एसपी को ज्ञापन सौंपकर निष्पक्ष जांच की मांग की वहीं संपादक संघ के पदाधिकारियों ने भी एसपी श्री सिंह से मुलाकात कर मामले में षडयंत्रकारियों पर कार्यवाही की मांग की।

डोसी समर्थकों ने दिया ज्ञापन
दो दिन पूर्व पत्रकारों पर हुए हमले के प्रकरण मे सीए प्रतिक डोसी का नाम बेवजह लेकर उन्हें बदनाम करने की साजिश रची जा रही है। प्रतिक डोसी से औकारसिंह व साथियो द्वारा रूपयों की मांग की जा रही थी ना देने पर बदनाम करने की धमकिया भी दी जा रही थी। जब उनके द्वारा रूपये नहीं दिए तो अपने समाचार पत्र मे प्रतिक डोसी के विरूद्ध तथ्यहीन समाचार औकारसिंह ने प्रकाशित भी कीया था। समाचार प्रकाशन के बाद औकारसिंह को 18 सितम्बर 2018 को मानहानी का नोटिस भी दिया है जिसका अभी तक औकारसिंह की ओर से जवाब प्रेषित नहीं किया गया है।

उक्त बात सीए प्रतिक डोसी का पक्ष रखने तथा ज्ञापन देने जिला पुलिस अधीक्षक के समक्ष पहुचे नगर के प्रबुद्धजनो , पत्रकारगणो व आमजनो ने कही। ज्ञापन के माध्यम से बताया गया कि सोशल मिडिया पर हमले को लेकर औकारसिंह व उसके साथियो द्वारा सीए प्रतीक डोसी का नाम लिया जा रहा है जबकि उनका उक्त प्रकरण से कोई लेना – देना नहीं है। ज्ञापन के माध्यम से निष्पक्ष जांच की मांग की गई।

इस अवसर पर संपादक सौभाग्यमल जैन, वरिष्ठ अभिभाषक अजय सिखवाल , चैम्बर ऑफ कामर्स अभय डोसी, समाजसेवी संजय जैन, किराना संघ के संरक्षक संजय तरवेचा, दिलीप रांका, मनोहर नैनवानी, प्रवीण मुरडिया, अशोक लवाडी, पप्पु राठौड, महेश जैन, जितेंद्र शर्मा, सचिन जैन, रमेश चौहान, रोहित छाबडा, समाजसेवी मनीष मारू, उज्जवल मेहता, राजेंद्र नाहर ,राकेश दुग्गड, सुरेंद्र जैन, जितेश जैन , अप्रेश भण्डारी सहित अनेक उपस्थित थे।

निष्पक्ष जांच की मांग को लेकर एसपी से मिले पत्रकारगण
हमले में पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया लेकिन पुलिस अभी तक वास्तविक सत्यता उजागर नहीं कर पाई है क्योंकि किसी को देखकर घूरना या कमेन्ट्स करने जैसी हरकत पर कोई भी इतनी बड़ी वारदात को अंजाम नही दे सकता है वो भी पत्रकारों के साथ। घटना के सम्बन्ध में आरोपियों ने पुलिस को जो बताया है वो किसी के भी गले नही उतर रहा है। दोनो पत्रकारों पर हुए हमले के मामले में आरोपियों के पीछे साजिशकर्ता कौन है, और औंकार सिंह के बयान के आधार पर सीए प्रतीक डोसी का इस प्रकरण से क्या लेनादेना है। जानकारी देते हुए पत्रकार धर्मेन्द्र सिंह रानेरा ने बताया कि इसी सम्बन्ध में आज पत्रकारों का एक प्रतिनिधी मण्डल जिले के पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह से मिला और एक आवेदन देते हुए षडयंत्रकारियों के विरूद्ध सख्त से सख्त कार्यवाही करने की मांग रखी। पुलिस अधीक्षक को दिए आवेदन में बताया गया कि ष्घटनाक्रम में आरोपियों के विरूद्ध जो सामान्य धाराएं लगाई उनमें जानलेवा हमले जैसी आवश्यक धाराएं भी बढ़ाई जाए।

इस अवसर पर महेश जैन, कोमल सिंह तोमर, आशुतोष नवाल, राजेश पाठक, शैलेन्द्र सिंह राठौर, उमेश नेक्स, मनोहर सौलंकी, रमेश चौहान, सचिन जैन, विपीन चौहान,योगेश पोरवाल, अनिल जोशी, रमेश माली, लक्ष्मीनारायण मांदलिया, विजय गेहलोत सहित बड़ी संख्या में पत्रकारगण उपस्थित थे।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts