Breaking News

संस्कृति से समाज में व्याप्त बुराईयों संभव

कलेक्टर श्री सिंह ने शिक्षा, स्वास्थ्य, हरियाली, जल सरंक्षण, ऊर्जा सरंक्षण, नशामुक्ति तथा समग्र स्वच्छता एवं साफसफाई, कृषि को लाभकारी बनाना तथा कुपोषण एंव परिवार नियोजन के बारे में विस्तृत चर्चा की। उन्होने जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए कहा, साथ ही जैविक खेती करने वाले किसानों का पंजीयन करने की बात उपस्थित कृषि विभाग के संचालक को कही। बैठक में विशेष रूप से जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती रानी बाटड़, सामाजिक न्याय विभाग के डॉ. जे.के.जैन, म.प्र. जन अभियान परिषद् जिला समन्वयक तृप्ती वैरागी, शिक्षा विभाग से श्री पाटीदार, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मेहता, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग से श्री मिश्रा, कृषि विभाग से श्री जामरे एवं विकासखण्ड समन्वयक आपसिंह चौहान (गरोठ), नारायणसिंह निनामा (सीतामऊ), अर्चना भट्ट (मल्हारगढ़) उपस्थित थे।
म.प्र. जन अभियान परिषद् जिला समन्वयक तृप्ती वैरागी ने बताया की मुख्यमंत्री सामुदायिक नेतृत्व क्षमता विकास पाठ्यक्रम के मेंटर्स एवं सामाजिक नेतृत्वकर्ता द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में किये जा रहे नवाचार के बारे में बताया। साथ ही प्रत्येक रविवार को सी.एम.सी.एल.डी.पी. की कक्षा में विभाग के प्रमुख भी प्रत्येक विकासखण्ड में सहभागीता करे जिससे इंटर्नशीप को प्रभावी बनाया जा सके। बैठक में 14 बिंदुओं पर विस्तृत चर्चा की गई। इस अवसर पर बैठक में मेंटर्स द्वारा भी अपने सुझाव प्रस्तुत किये। बैठक में जिले से बीएसडब्ल्यू मेंटर्स, प्रस्फुटन एवं नवांकुर पदाधिकारी, स्वयंसेवी संस्थाओं के पदाधिकारी, बीएसडब्ल्यू के सामाजिक नेतृत्वकर्ता उपस्थित थे।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts