Breaking News

सत्ता और संगठन में तालमेल हेतु जल्द बने जिला एवं ब्लाॅक स्तर पर कोर कमेटियां- भाटी

भाटी ने  मुख्यमंत्री को लिखा पत्र, सत्ता में संगठन की भागीदारी से  आयेगे  बेहतर परिणाम

मंदसौर। मध्यप्रदेश में पिछले पंद्रह सालो के अंतराल के बाद प्रदेश में कांग्रेस की वापसी हुई है। वरिष्ठ नेता श्री कमलनाथजी एवं युवा तुर्क ज्योतिरादित्यजी सिंधिया के नेतृत्व मे सरकार  गठन के साथ ही लगातार जनहितेशी कदम उठाये जा रहे है। इस कडी में सरकार लगातार कार्य करते हुये कार्य तो कर रही है लेकिन सत्ता संचालन  हेतु संगठन की अप्रत्यक्ष रूप से प्रभावी भूमिका अब तक नजर नही आ रही है। आमजन की सोच को सत्ता में शामिल करने के उद्देश्य से सत्ता और संगठन में तालमेल बनाते हुये प्रत्येक जिला एवं ब्लाॅक स्तर पर कोर कमेटियो का  गठन किया जाना चाहिये जिसमें संगठन के सुझावो के आधार पर सरकार मे बेठे जनप्रतिनिधिगण निर्णय कर सके।

यह बात इंटक अध्यक्ष एवं जिला कांग्रेस प्रवक्ता सुरेश भाटी ने प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री कमलनाथजी को लिखे सुझावी पत्र के माध्यम से कही। उन्होनें कहा कि प्रदेश में सरकार गठन के  बाद  इससे अपेक्षाये बहुत है, इस दिशा में कार्य करते हुये सरकार ने समाज के सभी वर्गो को लाभ पहुंचाने के लिये कार्य शुरू किया है लेकिन सत्ता के संदेश को संगठन द्वारा बेहतर ढंग से तभी आमजन के बीच पहुंचाया जा सकेगा जब संगठन सत्ता के साथ मिलकर निति निर्धारण का कार्य करे। श्री भाटी ने दुख प्रकट करते हुये कहा कि पिछले कुछ माह से प्रदेश में सरकार बनने के बाद अनेक विभाग जिसमें खाघ विभाग, बिजली विभाग, धर्मस्य विभाग, श्रम विभाग, स्वास्थ्य विभाग एवं नगरिय निकाय मुख्य है उनके कर्मचारियो द्वारा प्रदेश सरकार के विकास कार्यो एवं निर्णय को प्रभावी ढंग से लागु नही किया जा रहा है, सत्ता द्वारा कार्यवाही की दशा में अनेक मामलो में कमर्चारी वर्ग कांग्रेस संगठन को गुमराह कर कार्यवाही  से बचने की कोशिश कर  रहे है जिसके चलते कहीं न कहीं सामंजस्य का अभाव महसुस हो रहा है।

श्री भाटी ने जनहितेशी मामलो से लेकर विभागीय स्तर पर उठाये जाने वाले कदमो के लिये जिला कांग्रेस एवं ब्लाॅक कांग्रेस द्वारा कोर कमेटियो का गठन करवाते हुये उनसे प्राप्त अभिमत के आधार पर सरकार को सुझाव प्रेषित करे जिससे कि संगठन आम नागरिको की भावना के अनुरूप सरकार से निर्णय करवा सके, इसके अतिरिक्त मध्यप्रदेश सरकार में बैठे जनप्रतिधिगणो को भी जिला सरकारो के संचालन में सही निर्णय लेने में आसानी होगी। अगर यह व्यवस्था बनती है तो इससे कांगे्रेस संगठन मैदानी स्तर पर मजबूत तो होगा ही साथ ही जनभावना के अनुरूप शासन संचालन संभव हो सकेगा।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts