Breaking News

सनसनीखेज अंध हत्या का पर्दाफाश 4 आरोपी गिरफ्तार

मृतक केे कपड़ो आदि की तलाशी लेते मृतक के पास कोई भी ऐसी वस्तु नही मिली थी जिससे उसकी पहचान हो सके। मौके पर कस्बे के कई लोग उपस्थित थे जिनसे उक्त शव की पहचान कराने का प्रयास करते कोई भी मृतक की शिनाख्त नही कर पा रहा था। पुलिस ने आसपास के मोहल्लो मे विशेष टीम को भिजवाया तब हरिजन मोहल्ला तालाब चैक का अनिल पिता नत्थुलाल मेहतर उम्र 25 साल नि. सीतामऊ का दोपहर से अपने घर से गया था जो वापस नही आने की जानकारी मिली जिस पर से मृतक के भाई अजय तथा काका बबलु कल्याणे को बुलाया गया व पहचान कराई गई तो मृतक अनिल होना ज्ञात हुवा।
श्री ओ.पी. त्रिपाठी, पुलिस अधीक्षक, जिला मन्दसौर द्वारा प्रकरण मे अज्ञात आरोपियो की पतारसी के लिए श्री एस.एस. कनेश, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गरोठ, श्री हरिसिंह परमार, अनु.अ.पु. सीतामऊ तथा श्री गोपाल सूर्यवंशी, निरीक्षक थाना प्रभारी सीतामऊ को निर्देश दिये, जिसके फलस्वरूप गठित टीम के सदस्यो ने लगातार पतारसी कर घटना के आरोपियो को नामजद किया ।
ईंट भट्टा मालिक फकीरचन्द्र की रिपोर्ट पर से अपराध क्रं. 94/17 धारा 302 भादवि अज्ञात आरोपी के विरूद्ध पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया । विवेचना के दौरान जानकारी प्राप्त हुई कि मृतक अनिल को रात्रि मे करीब 10ः30 बजे कस्बा सीतामऊ के युनुस पिता रूस्तम खान नि. पानपुरिया मोहल्ला, नंदलाल उर्फ मोड़ा पिता लालाराम ग्वाला नि. पुराना थाना कयामपुर दरवाजा, ओमप्रकाश उर्फ बग्गी पिता कन्हैयालाल नाई नि. गणपति चैक सीतामऊ तथा भूरिया पिता अकील मोहम्मद नि. बलाई चैक सीतामऊ के साथ फकीरचन्द्र प्रजापत के ईट के भट्टे के पास कयामपुर दरवाजे पर देखा गया था, जिनके संबंध मे अलग-अलग समय पर चारो को बुलाया गया परंतु उपरोक्त चारो एक साथ आये और उनसे पृथक-पृथक पूछताछ की गई तो इनके द्वारा एक कहानी गढ़ी गई थी कि चारो गांजे का नशा करके आ रहे थे, तब अनिल चारो को एक अज्ञात आदमी के साथ ईंट के भट्टे के पास दिखा था जो 25 से 30 साल की उम्र का था। सभी पूछताछ के दौरान गुमराह करते रहे और कभी कुछ कभी कुछ बताते रहे । जब भी किसी एक को बुलाया जाता तो उपरोक्त चारो साथ मे ही आते थे । इसलिए पुलिस को संदेह होने लगा था।
आज दिनांक 22.03.17 को चारो से पृथक-पृथक पूछताछ की तो इन्होने मृतक अनिल की हत्या करना स्वीकार किया । घटना के दिन चारो गांजा पीने के लिये घटनास्थल के पास मौजूद दरगाह के पीछे गये थे तथा धुलेण्डी का दिन होने से चारो ने छक कर अधिक गांजा पिया था तथा वापस आते समय ईंट के भट्टे के पास सामने अनिल आ गया था तथा अनिल ने भूरिया से पूर्व मे 600 रूपये तथा बग्गी से 300 रूपये उधार ले रखे थे जो नही दे रहा था और फिर से 50 रूपये मांगने लगा। भूरिया और बग्गी ने उसे पैसे देने से मना कर दिया तो भूरिया और बग्गी के द्वारा पैसे नही देने पर अनिल उनके साथ गाली गलोज करने लगा तथा नंदलाल उर्फ मोड़ा तथा युनुस के समझाने पर अनिल उनको भी गालिया देने लगा, जिससे गुस्सा होकर उपरोक्त चारो ने अनिल को ईंट बनाने की मिट्टी गलाने के गड्डे के पास ले गये व अनिल को धक्का देकर गड्डे मे गिरा दिया तथा ईंट के भट्टे पर ही पड़ी ईंटो से मार-मार कर तथा चाकु से वार कर अनिल को बेरहमी से मौके पर ही मार दिया तथा चारो आरोपीयो 1-युनुस पिता रूस्तम खान उम्र 45 साल नि. पानपुरिया मोहल्ला, 2-नंदलाल उर्फ मोड़ा पिता लालाराम ग्वाला उम्र 48 साल नि. पुराना थाना कयामपुर दरवाजा, 3-ओमप्रकाश उर्फ बग्गी पिता कन्हैयालाल नाई उम्र 50 साल नि. गणपति चैक सीतामऊ तथा 4-भूरिया पिता अकील मोहम्मद उम्र 30 साल नि. बलाई चैक सीतामऊ ने आपस मे सलाह किया कि हमसे अगर पुलिस पूछताछ करती है तो यह बताना कि कोई अनजान व्यक्ति था जो उसे उठा रहा था जिसको हम नही पहचानते है। आरोपीगणो के द्वारा उक्त सलाह पुलिस को भ्रमित करने के लिये दी गई थी ।
पुलिस सीतामऊ ने उपरोक्त चारो आरोपियो को गिरफ्तार किया व उन्हे न्यायालय मे पेश किया जा रहा है। उपरोक्त प्रकरण मे अज्ञात आरोपियो का पता उठाने एवं उन्हे गिरफ्तार करवाने मे श्री एस0एस0 कनेश, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गरोठ, श्री हरिसिंह परमार अनु0अ0पु0 सीतामउ, श्री गोपाल सूर्यवंशी, निरीक्षक थाना प्रभारी सीतामउ, श्री आर0पी0 मिश्रा उप निरीक्षक, श्री आजाद मोहम्मद खांन उप निरीक्षक, प्र0आर0 अजय चैहान, आर0 शैलेन्द्र सिंह, आर0 ओम प्रकाश, आर0 जगदीश, आर0 शम्भुलाल का सराहनीय सहयोग रहा है ।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts