Breaking News

सभी मतदाता आज अपने मताधिकार का प्रयोग अवश्य करें

जिला निर्वाचन अधिकारी श्री श्रीवास्तगव ने की मतदाताओं से अपील

मंदसौर। विधानसभा निर्वाचन 2018 के लिए कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री ओमप्रकाश श्रीवास्तव द्वारा जिले के सभी मतदाताओं से अनुरोध किया है कि मतदाता अपने विवेक का उपयोग करते हुए निष्पक्ष एवं नैतिक मतदान कर लोकतंत्र की मजबूती में सहभागी बने। अपील करते हुए उन्होंने कहा है कि 28 नवंबर को मतदान का दिवस है। सभी नागरिको, भाइयों और बहनों से अपील करता हूं कि आप सभी निर्भीक, निडर होकर अपने मताधिकार का प्रयोग करें। निर्वाचन आयोग द्वारा दिव्यांग मतदाताओं के लिए व्हीलचेयर की व्यवस्था की गई है, साथ ही बुजुर्ग व गर्भवती महिलाओं को पहले मताधिकार का प्रयोग करने का अधिकार प्रदान किया गया है। स्तनपान कराने वाली माताओं, महिलाओं एवं बच्चों के रुकने के लिए टेंट एवं कुर्सी की व्यवस्था की गई है। साथ ही जिले में कुछ आदर्श मतदान केंद्र भी बनाए गए हैं। लोकतंत्र में मतदाता की राय सर्वोपरि है। उनके मत से ही जनप्रतिनिधियो का चयन होता है। मतदान के माध्यम से जितनी अधिक मतदाता की भागीदारी होगी उतना ही लोक तंत्र मजबूत बनेगा।

सभी श्रेणी के कामगारो को दिया जायेगा सवैतनिक अवकाश
कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ओमप्रकाश श्रीवास्तंव ने आदेश जारी किये है कि विधानसभा निर्वाचन-2018 में मतदान के दिन 28 नवम्बर को किसी भी कारोबार, व्यवसाय, औद्योगिक उपक्रय या किसी अन्य स्थापना में काम करने वाले प्रत्येक व्यक्ति को मतदान करने के लिए सवैतनिक अवकाश प्रदान किया जायेगा। मतदान के दिन चाहे वे दैनिक/आकस्मिक कर्मी है, को मतदान दिवस के लिये मतदान हेतु सवैतनिक अवकाश प्रदान किया जायेगा। अवकाश अवधि में उसका वेतन/भत्ता नहीं काटा जायेगा। इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यवसाय स्वामी (नियोक्ता) पर लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 135 ख की उपधारा 3 के अंतर्गत दण्डावत्म क कार्यवाही की जायेगी।
विधानसभा निर्वाचन-2018 में अधिक से अधिक दिव्यांग मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग कर सकेंगे। दिव्यांगों को किसी प्रकार की परेशानी न हो इसके लिये उन्हें विशेष छूट देते हुये तीन पहिया वाहन सीधे मतदान कक्ष तक ले जाने की अनुमति दी जायेगी। निर्वाचन आयोग द्वारा सभी मतदान केंद्रों पर रैम्प होना अनिवार्य किया गया है। इसके साथ ही दिव्यांग मतदाताओं को मतदान के लिए जागरूक भी किया जा रहा है। इसके साथ ही चुनाव ड्यूटी में लगे सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को भी इस बारे में अवगत करा दिया गया है। निर्वाचन आयोग ने बुजुर्ग और गर्भवती मतदाताओं के लिये भी विशेष व्यवस्था की हैं। गर्भवती मतदाता को सीधे मतदान करने के अनुमति रहेगी।

मतदान हेतु पहचान के लिए कोई एक दस्तावेज जरूरी
भारत निर्वाचन आयोग द्वारा यह निर्देश दिए गये हैं कि मतदाताओं को मतदान की सुविधा उपलब्ध कराने तथा शत प्रतिशत मतदान को दृष्टिगत रखते हुए यह व्य वस्था की गई है कि मतदाता को मतदाता फोटो परिचय पत्र (इपिक) के अतिरिक्तए मतदान करने के लिए 12 अन्य दस्तावेजों में से कोई एक मतदान केन्द्र में प्रस्तुत करना होगा। वोटर आईडी कार्ड तथा मतदाता पर्ची के अभाव में जो दस्तावेज मतदान के लिए आवश्यक होंगे उनमें पासपोर्ट, राज्य या केन्द्र सरकार या सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम या स्थानीय निकाय या अन्य निजी औद्योगिक संस्थानों द्वारा उनके कर्मचारियों को जारी किए जाने वाले सेवा पहचान पत्र, बैंक या डाकघर पासबुक, पेन कार्ड,स्मारर्ट कार्ड, मनरेगा जाब कार्ड, स्वाबस्य्पा बीमा स्माउर्ट कार्ड, पेंशन प्रमाण पत्र, निर्वाचन फोटो वोटर स्लिप, ऑफीशियल पहचान पत्र तथा फोटोयुक्त आधार कार्ड के द्वारा मतदान किया जा सकेगा।

 

सभी मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग अवश्य करे

कहार भोई समाज मन्दसौर के मिडिया प्रमुख देवेन्द्र कुमार चौहान ने मध्यप्रदेश राज्य सहित अन्य राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनावांे में नगर, ग्राम, तहसील व जिला मुख्यालयों के सभी धर्म, जाति, वर्ग के नागरिको से अपील कि है कि राष्ट्र व राज्य हीत में आज दिनाक 28 नवम्बर 2018 को राज्य के सभी 18 से अधिक आयु वर्ग के मतदाता बन्धु अधिक से अधिक सख्या में मतदान केन्द्रों पर जाकर बिना किसी लालच, नफरत, घृणा को छोडकर मजबूत अच्छी सरकार के लिये सही प्रत्याक्षी चुनने हेतु कुछ करे न करे मतदान अवश्य करे। श्री चौहान ने कहा कि मतदान आपका अपना अधिकार है। ये वोट है नोट नहीं। सोचकर मशीन का बटन दबाना क्योकि 1 दिन 30 दिन 365 दिन नही 1826 दिनों का सवाल है अभी नहीं तो कभी नहीं। जन-जन की यही पुकार वोट डालो अधिक से अधिक सख्या में जाकर इस बार। सारे काम छोड दो-सबसे पहले वोट दो।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts