Breaking News

समस्त निर्वाचित जन प्रतिनिधियों, संवेधानिक पदाधिकारियों पर चुनाव प्रचार करने पर रोक लगाई जाए- राजेश पाठक 

Hello MDS Android App
मंदसौर| “समस्त निर्वाचित जन प्रतिनिधियों, संवेधानिक पदाधिकारियों को के चुनाव प्रचार पर रोक लगाई जाए”इस आशय की मांग पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता राजेश पाठक द्वारा मुख्य निर्वाचन आयुक्त ओमप्रकाश रावत को पत्र लिखकर की गयी है| राजेश पार्हक ने निर्वाचन आयोग से गुहार लगाई है कि हमारे देश में निकट भविष्य में कई राज्यों और देश में चुनाव होने जा रहे है| आम चुनावों में पूर्व में निर्वाचित जन प्रतिनिधि जैसे सांसद सदस्य, विधायक, निकाय महापोर/अध्यक्षों एवं समस्त संवेधानिक पदों के पदाधिकारी जो किसे भी राजनितिक दल के सदस्य हो ,उन्हें चुनावी प्रचार से वंचित किया जाए|  इस मांग के समर्थन में श्री पाठक ने बताया कि चुनाव खर्च शुद्ध रूप से आम जनता के पैसो से किया जाता है ताकि जनता द्वारा चुने हुए प्रतिनिधि जनता के लिए कार्य करे| लेकिन इतने बड़े देश में सालभर कही ना कही राज्यवार या उपचुनावों की प्रक्रिया चलती रहती है, जिसमे प्रधान मंत्री से लेकर सरपंच तक विकास कार्यो को छोड़कर चुनाव प्रचार में व्यस्त हो जाते है, जिससे आम जनता के आवश्यक कार्य और विकास पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है| वही प्रधान मंत्री, केन्द्रीय मंत्रियो, मुख्यमंत्रियों, सांसदों, विधायको जैसे महत्वपूर्ण नेताओं के कारण चुनाव खर्च बढ़ जाता है| साथ ही सत्ताधारी नेता चुनाव की निष्पक्षता को भी प्रभावित करते है| उनका कहना है कि निर्वाचित जनप्रतिनिधियों के कार्यशील समय जिसपर जनता का अधिकार है उसका दुरुपयोग होता है|
श्री पाठक ने आगे बताया कि  बहुत सी व्यवहारिक कठिनाईया निर्वाचित जनप्रतिनिधियों के द्वारा चुनाव प्रचार करने से उत्पन्न्न्न होती है| अतः जनता से भी अपील है की इस सुझाव पर सभी राजनितिक दलो के साथ सहमति समन्वय बनाकर अमल में लाने का प्रयास करे| ताकि लोकतंत्र की जीवन्तता बनी रहे|

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *