Breaking News

समस्त सामाजिक संगठनों के साथ प्रतिदिन एक घण्टा श्रमदान में जिला प्रशासन मुखिया कलेक्टर का सहभागी होना प्रेरणादायक उत्कृष्ट उदाहरण

शिवना शुद्धी के पवित्र अभियान में सबको सहभागी बनकर पुण्य लाभ लेना चाहिये-बंशीलाल टांक

प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंहजी चौहान के आव्हान पर प्रदेश की नदियों के शुद्धिकरण अभियान में 1 मई 2018 से मंदसौर की चयनित शिवना के शुद्धिकरण में सुनियोजित सकारात्मक योजना के तहत प्रशासनिक तकनिकी मशीनरी के साथ ही प्रतिदिन प्रातः 7 से 8 बजे तक भगवान श्री पशुपतिनाथ के सानिध्य में मॉ शिवना के घाट आदि को स्वच्छ करने में नगर का समूचा सामाजिक, धार्मिक, राजनैतिक, व्यापारी, कर्मचारी, मजदूर संगठन, नगरपालिका, मीडिया और विभिन्न विभागों के अधिकारी, कर्मचारी इस महत्वपूर्ण कार्य में सहभागी जो बने हुए है यह अपने आप में बहुत ही अनुकरणीय अभियान है।
प्रातःकाल मॉ शिवना की गोद में जब सैकड़ों युवान-भाई-बहन-बुजुर्ग कतारबद्ध होकर उत्साह, उल्लास, उमंग में भरकर भगवान श्री पशुपतिनाथ मॉ शिवना, भारत माता की जयघोष करते हुए शिवना के भीतर की गाद, किनारे की मिट्टी आदि से भरी तगारिया एक दूसरे के हाथों में थमाते जाते है, प्रातःकाल की इस बेला में भगवान भास्कर की उपस्थिति में यह अलौकिक-दर्शनीय दृश्य देखते ही बनता है।
नगर के सामाजिक संगठनों के सहयोग से विगत 15 वर्षों से गायत्री परिवार द्वारा गर्मी में शिवना शुद्धि का कार्य किया जाता रहा है। वर्ष 2011-12 में तत्कालीन कलेक्टर श्री महेन्द्र ज्ञानीजी के कार्यकाल में सामाजिक संगठनों के साथ ही जिला प्रशासन के नेतृत्व में पशुपतिनाथ घाट का क्षेत्र का गहरीकरण किया गया था। गहरीकरण तो हुआ परन्तु मॉ शिवना पूर्ण रूपेण शुद्ध, स्वच्छ, निर्मल होकर उसके पवित्र जल से भगवान श्री पशुपतिनाथ अभिषेक, गंगाजल के समान मानकर दर्शनार्थी जल में स्नान आचमन कर अपने को धन्य कर सके ऐसा संयोग अभी तक तो नहीं बन पाया हैं परन्तु इस बार माननीय मुख्यमंत्रीजी के ‘‘जल संसद’’ अभियान के तहत शुद्धीकरण को मूर्तरूप देने के लिये जिस प्रकार स्वप्रेरणा, स्वेच्छा से नगर का समूचा वर्ग 7 से 8 बजे तक जारी इस अभियान से जुड़ा है साथ ही जिला प्रशासन द्वारा फिलहाल शिवना के तोपवाले बालाजी, काश्तकार रेस्टोंरेंट की सीमा क्षेत्र तक शिवना के शुद्धिकरण की जो योजना बनाकर कार्य प्रारंभ किया गया है उससे निश्चित ही इस बार मॉ शिवना को पवित्र रूप में देखने की नगरवासियों को देखने की अभिलाषा पूरी होने की संभावना है।
इस बार अभियान की एक विशेषता और यह देखी जा रही है कि सभी इससे संज्ञानित है कि जिला कलेक्टर की काफी प्रशासनिक जिम्मेदारियां रहती है। परन्तु जिम्मेदारियों का निर्वाह करते हुए एवं  प्रशासनिक व्यस्तताओं के बावजूद वर्तमान कलेक्टर श्री ओ.पी. श्रीवास्तवजी एक ऐसे प्रथम कलेक्टर है जो प्रतिदिन 7 से 8 बजे तक सबके साथ कतार में खड़े रहकर श्रमदान में सहयोग कर रहे है। प्रसंग वश आकस्मिक किसी विशेष परिस्थिति को छोड़कर  प्रतिदिन श्रमदान में भाग लेने का जो संकल्प आपने लिया है यह वास्तव में सबके लिये प्रेरणादायी, अनुकरणीय एक आदर्श उदाहरण है।
पुलिस कप्तान मनोज कुमार सिंहजी द्वारा भी इस अभियान में सहभागी बनकर श्रमदान करने के साथ ही प्रतिदिन पुलिस विभाग के 50 जवानों को श्रमदान में सहभागी होना निश्चित कर दिया है। जनप्रतिनिधि भी सहभागी बने हुए है। जिस सुनियोजित योजना, दृढ़ संकल्प, इच्छा शक्ति से वर्तमान में शिवना शुद्धी का कार्य प्रारंभ हुआ है, अन्तिम लक्ष्य प्राप्ति कर यह यदी इसी प्रकार जारी रहा तो वह दिन दूर नहीं जब मॉ गंगा, यमुना, नर्मदा, क्षिप्रा की तरह ही मॉ शिवना का भी शुद्धिकरण होकर भगवान श्री पशुपतिनाथ का पावन तट शिवना के पवित्र जल की लहरों से सबके मन को सुकून प्रदान करेगा।
मॉ शिवना के सर्वजन हिताय, सर्वजन सुखाय इस मांगलिक कार्य में सबको सहभागी बनकर पुण्य लाभ लेना चाहिये।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts