Breaking News

सरकारी जमीन पर चूने की लाइन डाली, किया कब्जा

गांधीनगर क्षेत्र में नाले और मंदिर के समीप की खाली बेशकीमती जमीन पर अतिक्रमण की शिकायत हुई। इसके बाद नपा और राजस्व विभाग की टीम ने अतिक्रमण करने वालों को हटाया। नपाध्यक्ष और तहसीलदार ने जमीन पर कब्जा करने वालों को वैधानिक कार्रवाई की चेतावनी दी। लोगों ने जमीन पर कब्जा करने के लिए चूने की लाइन डालकर भूखंड पर नाम लिख दिए थे।

गांधीनगर क्षेत्र में राममंदिर और सरकारी के नाले के समीप भूमि पर दो दिनों से महिलाओं और शहर के अन्य लोगों की आवाजाही बनी थी। शुक्रवार रात लोगों ने जमीन पर चूने की लाइन डाली और भूखंड बना लिए। शनिवार को दिनभर बेशकीमती जमीन पर काटे भूखंड पर लोगों व महिलाओं ने नाम लिख दिए। जब इसकी जानकारी नपाध्यक्ष को लगी तो वे मौके पर पहुंचे। शाम 4 बजे नपा की टीम के साथ तहसीलदार पारस कुम्हारा भी पहुंच गए। भाजपा जिला महामंत्री अजयसिंह चौहान, विनय दुबेला, विजय शर्मा भी मौके पर पहुंच गए और मंदिर के समीप की जमीन पर कब्जे को लेकर आपत्ति जताई।राजस्व विभाग की टीम ने जमीन को कब्जा जमाने वाली आई महिलाओं को समझाइश देकर अतिक्रमण नहीं करने वाली चेतावनी दी।

राजस्व विभाग और नपा की यह कार्रवाई शाम 6 बजे तक चली। इस दौरान नायब तहसीलदार मुकेश बामनिया, शिवदत्त शर्मा, पटवारी किशोरीलाल चंदेल, दीपक गुप्ता, जगदीश मोड सहित अन्य भी मौके पर थे। राजस्व विभाग की टीम ने जमीन का निरीक्षण कर पंचनामा रिपोर्ट भी तैयार की जिसमें जमीन पर चूने की लाइन डालकर कब्जा करने की टीप लिखी गई है। राजस्व विभाग द्वारा नाले की जमीन का सीमांकन करने के साथ अन्य कार्य सोमवार को किया जाएगा।
लिख दिए नाम

लोगों ने यहां ईंट और पत्थर से भूखंड काट कर, उस पर अपने-अपने नाम भी लिख दिए। भूखंड पर रुकसाना, सलीम, जाकिर जैसे नाम लिखे थे। पार्षद पति पुखराज दशोरा ने बताया कि जानकारी के अनुसार ये लोग गुदरी तोड़ा, भैसा पहाड़ क्षेत्र से थे, जो जगह पर कब्जा करना चाह रहे थे।

पता लगाएंगे

-मामले की जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंचे तो महिलाओं ने विरोध किया। इस पर पुलिस को बुलाया, लेकिन तब तक महिलाएं भाग गईं थी। लोगों का पता लगाने का प्रयास किया जाएगा। शहर में अतिक्रमण नहीं होने दिया जाएगा।

-प्रहलाद बंधवार, नपाध्यक्ष

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts